• Hindi News
  • National
  • Tamil Nadu Agricultural University banning bachelors from visiting its Botanical Gardens after received reports of immoral activities taking place inside the garden.
--Advertisement--

तमिलनाडु की यूनिवर्सिटी ने बैचलर्स की अपने बॉटेनिकल गार्डन में एंट्री पर रोक लगाई, आधी हो गई विजिटर्स की तादाद

यूनिवर्सिटी एडमिनिस्ट्रेशन ने कहा है कि बैचलर्स पर रोक इसलिए लगाई गई क्योंकि ये लोग यहां माहौल खराब कर रहे थे।

Dainik Bhaskar

Jan 28, 2018, 12:04 PM IST
अब इस मशहूर गार्डन में एंट्री के लिए विजिटर्स को अपने आईडेंटिटी कार्ड दिखाने होंगे। इनकी जांच होगी और इसके बाद ही एंट्री की प्रॉसेस की जाएगी। अब इस मशहूर गार्डन में एंट्री के लिए विजिटर्स को अपने आईडेंटिटी कार्ड दिखाने होंगे। इनकी जांच होगी और इसके बाद ही एंट्री की प्रॉसेस की जाएगी।

कोयंबटूर. तमिलनाडु की मशहूर स्टेट एग्रीकल्चर यूनिवर्सिटी ने अपने बॉटेनिकल गार्डन मेें बैचलर्स (गैर शादीशुदा) की एंट्री पर रोक लगा दी है। खास बात ये है कि जब से यूनिवर्सिटी एडमिनिस्ट्रेशन ने बैचलर्स की एंट्री पर रोक लगाई है तब से यहां आने वाले विजिटर्स की तादाद आधे से भी कम हो गई है। यूनिवर्सिटी एडमिनिस्ट्रेशन ने कहा है कि बैचलर्स पर रोक इसलिए लगाई गई क्योंकि ये लोग यहां माहौल खराब कर रहे थे और पब्लिक प्लेस के लिहाज से इनका बर्ताव सही नहीं कहा जा सकता।

कई शिकायतों के बाद उठाया कदम

- न्यूज एजेंसी ने यूनिवर्सिटी एडमिनिस्ट्रेशन के हवाले से कहा गया कि यहां आने वाले कई विजिटर्स ने शिकायत की थी कि बॉटनेकिल गार्डन का माहौल यहां आने वाले कुछ बैचलर्स खराब कर रहे हैं। इसकी वजह से उन्हें यहां आने में दिक्कत होती है।
- एक अफसर ने कहा कि अब इस मशहूर गार्डन में एंट्री के लिए विजिटर्स को अपने आईडेंटिटी कार्ड दिखाने होंगे। इनकी जांच होगी और इसके बाद ही एंट्री की प्रॉसेस की जाएगी।

अब आधे हो गए विजिटर्स

- इस बॉटेनिकल गार्डन के इंचार्ज प्रोफेसर कन्नन ने कहा- जब से हमने नया रूल (बैचलर्स की एंट्री पर रोक) फॉलो करना शुरू किया है तब से यहां आने वाले विजिटर्स की तादाद आधे से भी कम हो गई है। नया रूल लाने की एक वजह ये भी है कि हम यहां अब खाली जगह पर हर्बल मेडिसिन प्लांट्स लगाना चाहते हैं। लेकिन, ये सही है कि हमें इस तरह की शिकायतें मिली थीं कि यहां आने वाले कुछ कपल्स गलत हरकतें करते हैं।

विरोध भी शुरू

- यूनिवर्सिटी एडमिनिस्ट्रेशन के इस फैसले का विरोध भी शुरू हो गया है। कुछ युवाओं का कहना है कि यूनिवर्सिटी एडमिनिस्ट्रेशन कुछ ज्यादा ही सख्त कदम उठा रहा है। उनका कहना है कि इस रूल को फौरन वापस लिया जाना चाहिए।
- एक स्टूडेंट ने न्यूज एजेंसी से कहा- हम लड़कियों के एक ग्रुप के साथ आए हैं। लेकिन, वो हमको एंट्री इसलिए नहीं दे रहे हैं क्योंकि हमारे पास वैलिड आईडेंटिटी प्रूफ नहीं हैं। इस मामले में कुछ तो राहत दी ही जानी चाहिए।
- लेकिन, ज्यादातर लोग यूनिवर्सिटी एडमिनिस्ट्रेशन के इस कदम से बेहद खुश हैं। फैमिली के साथ इस बॉटेनिकल गार्डन आई एक महिला ने कहा- हम बहुत खुश हैं। अब यहां गलत चीजें देखने नहीं मिलतीं।

यूनिवर्सिटी एडमिनिस्ट्रेशन के हवाले से कहा गया कि यहां आने वाले कई विजिटर्स ने शिकायत की थी कि बॉटनेकिल गार्डन का माहौल यहां आने वाले कुछ बैचलर्स खराब कर रहे हैं।- सिम्बॉलिक यूनिवर्सिटी एडमिनिस्ट्रेशन के हवाले से कहा गया कि यहां आने वाले कई विजिटर्स ने शिकायत की थी कि बॉटनेकिल गार्डन का माहौल यहां आने वाले कुछ बैचलर्स खराब कर रहे हैं।- सिम्बॉलिक
X
अब इस मशहूर गार्डन में एंट्री के लिए विजिटर्स को अपने आईडेंटिटी कार्ड दिखाने होंगे। इनकी जांच होगी और इसके बाद ही एंट्री की प्रॉसेस की जाएगी।अब इस मशहूर गार्डन में एंट्री के लिए विजिटर्स को अपने आईडेंटिटी कार्ड दिखाने होंगे। इनकी जांच होगी और इसके बाद ही एंट्री की प्रॉसेस की जाएगी।
यूनिवर्सिटी एडमिनिस्ट्रेशन के हवाले से कहा गया कि यहां आने वाले कई विजिटर्स ने शिकायत की थी कि बॉटनेकिल गार्डन का माहौल यहां आने वाले कुछ बैचलर्स खराब कर रहे हैं।- सिम्बॉलिकयूनिवर्सिटी एडमिनिस्ट्रेशन के हवाले से कहा गया कि यहां आने वाले कई विजिटर्स ने शिकायत की थी कि बॉटनेकिल गार्डन का माहौल यहां आने वाले कुछ बैचलर्स खराब कर रहे हैं।- सिम्बॉलिक
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..