• Home
  • National
  • trump Modi discuss situation in maldives over phone call
--Advertisement--

मोदी-ट्रम्प ने फोन पर की बात, मालदीव संकट समेत इंडो-पैसिफिक क्षेत्र में सिक्युरिटी पर हुई चर्चा

मालदीव में हाल में ही प्रेसिडेंट अब्दुल्ला यामीन ने इमरजेंसी लगा दी थी। भारत को छोड़कर चीन, सऊदी अरब और चीन में दूत भेजे

Danik Bhaskar | Feb 09, 2018, 08:01 AM IST
अमेरिका दौरे में दोनों देशों क अमेरिका दौरे में दोनों देशों क

वॉशिंगटन. नरेंद्र मोदी और डोनाल्ड ट्रम्प ने फोन पर बात की। व्हाइट हाउस ने इस बात की जानकारी दी है। दोनों नेताओं ने मालदीव के राजनीतिक हालात समेत अफगानिस्तान और इंडो-पैसिफिक रीजन में सिक्युरिटी पर चर्चा हुई।

व्हाइट हाउस ने और क्या कहा?

- "दोनों नेताओं ने मालदीव में चल रहे राजनीतिक संकट के मुद्दे पर बात की। दोनों नेताओं का मानना है कि मालदीव में कानून का शासन और लोकतांत्रिक व्यवस्था लागू होना चाहिए।"
- व्हाइट हाउस ने ये भी कहा कि दोनों नेताओं ने साथ मिलकर इंडो-पैसिफिक रीजन में सिक्युरिटी और सहयोग बढ़ाने पर चर्चा की।
- बता दें 1 फरवरी को मालदीव के सुप्रीम कोर्ट ने विपक्ष के 9 नेताओं को रिहा करने का आदेश दिया था।
- राष्ट्रपति अब्दुल्ला यामीन ने इस आदेश को मानने से इनकार करते हुए 5 फरवरी को देश में इमरजेंसी लगा दी। साथ ही सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस अब्दुल्ला सईद और एक अन्य जज अली हमीद को अरेस्ट करने का आदेश दे दिया।

अफगानिस्तान में हालात बेहतर बनाने के लिए सहयोग देते रहेंगे

- व्हाइट हाउस ने कहा कि ट्रम्प ने मोदी से साउथ एशिया में अपनी रणनीति पर भी बात की। उन्होंने अफगानिस्तान में सिक्युरिटी और स्टेबिलिटी बनाए रखने पर जोर दिया।
- "दोनों नेताओं ने म्यांमार और रोहिंग्या मुसलमानों के मुद्दे पर भी चर्चा हुई।" बता दें कि 6 लाख 80 हजार रोहिंग्या मुसलमान बांग्लादेश में आ गए हैं, इसके चलते वहां की इकोनॉमी पर बुरा असर पड़ रहा है। हाल ही में बांग्लादेश और म्यांमार के बीच रोहिंग्या रिफ्यूजियों को लेकर एक रोडमैप पर चर्चा हुई है।

नॉर्थ कोरिया पर भी हुई चर्चा

- मोदी और ट्रम्प के बीच नॉर्थ कोरिया के मुद्दे पर बातचीत हुई। मोदी ने ट्रम्प को भरोसा दिलाया कि नॉर्थ कोरिया के न्यूक्लियर प्रोग्राम को रोकने के लिए पर्याप्त कोशिशों की जाएंगी।
- व्हाइट हाउस ने बताया, "दोनों नेताओं ने सिक्युरिटी और इकोनॉमिक कोऑपरेशन मजबूत करने के लिए अप्रैल में मंत्रीस्तरीय बातचीत (2+2 डायलॉग) करने पर सहमति जताई है।" बता दें कि पिछले साल मोदी के अमेरिका दौरे में दोनों देशों के बीच 2+2 डायलॉग पर सहमति बनी थी।
- इसमें भारत की विदेश मंत्री सुषमा स्वराज, रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण अपने अमेरिकी काउंटरपार्ट से बातचीत करेंगी।