--Advertisement--

PAK ने हाफिज सईद और उसके संगठनों पर कितनी लगाम कसी, अगले हफ्ते जांच करने जाएगी UN की टीम

मुंबई हमले के मास्टरमाइंड हाफिज सईद पर पाकिस्तान का झूठ जल्द दुनिया के सामने आ सकता है।

Dainik Bhaskar

Jan 21, 2018, 01:10 PM IST
यूएन सिक्युरिटी काउंसिल ने 2008 में हाफिज सईद के खिलाफ रिजोल्यूशन पास किया था।- फाइल यूएन सिक्युरिटी काउंसिल ने 2008 में हाफिज सईद के खिलाफ रिजोल्यूशन पास किया था।- फाइल

इस्लामाबाद/नई दिल्ली. मुंबई हमले के मास्टरमाइंड हाफिज सईद पर पाकिस्तान का झूठ जल्द दुनिया के सामने आ सकता है। भारत और अमेरिका की सख्ती के बाद अब यूएन सिक्युरिटी काउंसिल की एक स्पेशल टीम पाकिस्तान जाने वाली है। यह टीम पाकिस्तान के उन दावों की सच्चाई जानेगी जिनमें उसने कहा था कि सईद के तमाम संगठनों पर सख्त बंदिशें लगाई गई हैं। इस टीम की पाकिस्तान विजिट इसलिए भी खास हो जाती है कि क्योंकि पिछले ही हफ्ते पाकिस्तान के पीएम शाहिद खकान अब्बासी ने कहा था कि पाकिस्तान में हाफिज सईद के खिलाफ कोई केस नहीं है, लिहाजा उसके खिलाफ कोई कार्रवाई भी नहीं की जा सकती।

कौन सी टीम जाएगी?

- पाकिस्तान के अखबार ‘द डॉन’ के मुताबिक, यूएन सिक्युरिटी काउंसिल की sanctions monitoring team पाकिस्तान जाएगी।
- पाकिस्तान सरकार ने दावा किया था कि उसने हाफिज सईद के जमात-उद-दावा और फलाह-ए-इंसानियत फाउंडेशन के चंदा लगाने और पब्लिक प्रोग्राम करने पर रोक लगा दी है। हालांकि, उसके इन दावों की हकीकत पर सवाल उठते रहे।
- पाकिस्तान के ही कुछ सांसदों ने हाफिज सईद को देश के लिए खतरा बताया। मीडिया रिपोर्ट्स में भी दावा किया गया कि सईद पर किसी तरह की कोई बंदिशें नहीं हैं और वो अपने संगठनों के नाम बदलकर काम कर रहा है।
- खतरा तब और बढ़ता नजर आया है जब पता लगा कि पाकिस्तान के स्टॉक मार्केट में फलाह-ए-इंसानियत फाउंडेशन को रजिस्टर कराने की कोशिश खुद पाकिस्तान सरकार कर रही है। इसके बाद भारत और अमेरिका ने पाकिस्तान पर दबाव बढ़ा दिया।

सईद पर 9 साल से नजर

- यूएन सिक्युरिटी काउंसिल ने 2008 में हाफिज सईद के खिलाफ रिजोल्यूशन पास किया था। इसके बाद से उस पर सख्ती की जा रही है।
- पाकिस्तान की फॉरेन मिनिस्ट्री के एक अफसर ने माना कि यूएन की स्पेशल टीम 25 और 26 जनवरी को इस्लामाबाद में रहेगी और वो सईद से जुड़े मामलों की तह तक जाकर जांच करेगी।

अमेरिका की पाकिस्तान को दो टूक

- शुक्रवार को अमेरिका के स्टेट डिपार्टमेंट ने पाकिस्तान से दो टूक कहा कि हाफिज सईद एक आतंकवादी है और उसके खिलाफ पूरी तरह कार्रवाई होनी चाहिए।
- अमेरिका का यह बयान पाकिस्तान के पीएम द्वारा सईद को क्लीन चिट देने के बाद आया। अब्बासी ने कहा था कि सईद के खिलाफ कानूनी तौर पर कोई केस दर्ज नहीं है और इसलिए उसके खिलाफ कार्रवाई नहीं की जा सकती।
- सईद को 9 महीने हाउस अरेस्ट में रखने के बाद पिछले साल नवंबर में ही रिहा किया गया था। जमात-उद-दावा को 2014 में आतंकी संगठन घोषित किया गया था।

पाकिस्तान के पीएम शाहिद खकान अब्बासी ने कहा था कि पाकिस्तान में हाफिज सईद के खिलाफ कोई केस नहीं है।- फाइल पाकिस्तान के पीएम शाहिद खकान अब्बासी ने कहा था कि पाकिस्तान में हाफिज सईद के खिलाफ कोई केस नहीं है।- फाइल
X
यूएन सिक्युरिटी काउंसिल ने 2008 में हाफिज सईद के खिलाफ रिजोल्यूशन पास किया था।- फाइलयूएन सिक्युरिटी काउंसिल ने 2008 में हाफिज सईद के खिलाफ रिजोल्यूशन पास किया था।- फाइल
पाकिस्तान के पीएम शाहिद खकान अब्बासी ने कहा था कि पाकिस्तान में हाफिज सईद के खिलाफ कोई केस नहीं है।- फाइलपाकिस्तान के पीएम शाहिद खकान अब्बासी ने कहा था कि पाकिस्तान में हाफिज सईद के खिलाफ कोई केस नहीं है।- फाइल
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..