Hindi News »National »Latest News »National» Us Says We Are Enjoying Dealing With Pak Ties Have Drifted

पाक के साथ काम करने में मजा नहीं रहा, रिश्तों में दरार आई; इंडो-पैसिफिक क्षेत्र में भारत अहम: US

यूएस विदेश मंत्री ने कहा, ट्रम्प की पॉलिसी का मकसद साफ है कि पाक-अफगानिस्तान को आतंकियों का सेफ हेवंस नहीं बनने देना।

DainikBhaskar.com | Last Modified - Dec 13, 2017, 01:02 PM IST

  • पाक के साथ काम करने में मजा नहीं रहा, रिश्तों में दरार आई; इंडो-पैसिफिक क्षेत्र में भारत अहम: US, national news in hindi, national news
    +1और स्लाइड देखें
    मोदी इसी साल जून में अमेरिका गए थे। ट्रम्प, मोदी की पॉलिसीज को लेकर कई बार तारीफ कर चुके हैं। (फाइल)

    वॉशिंगटन. अमेरिकी विदेश मंत्री रैक्स टिलरसन ने कहा है कि अब पाकिस्तान से डील करने में हमें कोई खुशी नहीं मिलती। बीते सालों में पाक और अमरिका के बीच रिश्तों में दरार आई है। अब रिश्ते तभी सुधर सकते हैं जब पाक दोनों देशोें के साझा हितों पर बेहतर तरीके से काम करे। वहीं, टिलरसन ने इंडो-पैसिफिक रीजन में भारत के साथ मजबूत संबंध रखने की बात कही है।

    पाक हमारा अहम पार्टनर

    - न्यूज एजेंसी के मुताबिक टिलरसन ने विदेश मंत्रालय के अफसरों के साथ टाउनहॉल में कहा, "अब पाकिस्तान के साथ डीलिंग में मैं एन्जॉय नहीं करता।'' एक अफसर ने उनसे पूछा- सच बताइए, आप विदेश मंत्री के रूप में काम को एन्जॉय करते हैं।
    - "पाकिस्तान अब भी अमेरिका का अहम पार्टनर है। बीते 10 सालों में पाक के साथ हमारे रिश्ते में दरार आई है। अब रिश्ते तभी पटरी पर लौट सकते हैं जब वह साझा हितों पर काम करे।''
    - "हम पाकिस्तान के साथ उसकी स्टेबिलिटी और फ्यूचर को लेकर लगातार बात कर रहे हैं। लेकिन पाक अभी भी अपनी जमीन पर आतंकियों को पनाह दे रहा है।''
    - "अब रास्ता अमेरिका और पाक को निकालना है कि कैसे पूरे क्षेत्र में शांति कायम की जा सकती है। ट्रम्प की साउथ एशिया पॉलिसी का मकसद साफ है कि पाकिस्तान और अफगानिस्तान को आतंकियों का सेफ हेवंस नहीं बनने देना।''

    भारत से रिश्ते बढ़ा रहे हैं

    - टिलरसन ने कहा कि इंडो-पैसिफिक रीजन में मजबूती और मुक्त व्यवस्था लाने के लिए अमेरिका, भारत से रिश्ते बेहतर कर रहा है।
    - "इंडो-पैसिफिक क्षेत्र में लंबे वक्त से अमेरिका, जापान और ऑस्ट्रेलिया की ट्राईलेटरल रिलेशनशिप है। अब हम यहां भारत के साथ मिलकर काम करना चाह रहे हैं। भारत की इकोनॉमी तेजी से बढ़ रही है लिहाजा वह क्षेत्र में सिक्युरिटी में अहम भूमिका निभा सकता है।''
    - "साउथ चाइना सी में इन्फ्रास्ट्रक्चर डेवलमेंट, मिलिट्राइजेशन के मुद्दे पर हालांकि अमेरिका की चीन से तनातनी रही है लेकिन इंडो-पैसिफिक क्षेत्र में फ्री ट्रेड लागू करने के लिए उससे बातचीत चल रही है।''
    - "अमेरिका, चीन के वन बेल्ट-वन रोड (OBOR) प्रोजेक्ट पर नजर रखे हुए है लेकिन हमारा ये भी मानना है कि ट्रम्प एडमिनिस्ट्रेशन चीन की इकोनॉमिक ग्रोथ रोकने की कोशिश नहीं करेगा।''

  • पाक के साथ काम करने में मजा नहीं रहा, रिश्तों में दरार आई; इंडो-पैसिफिक क्षेत्र में भारत अहम: US, national news in hindi, national news
    +1और स्लाइड देखें
    ट्रम्प मोदी को अमेरिका का करीबी दोस्त बता चुके हैं। (फाइल)
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From National

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×