Hindi News »National »Latest News »National» Kanhaiya Kumar And Shehla Rashid Answer Why Not End Studies

कन्हैया कुमार और शेहला रशीद की पढ़ाई खत्म क्यों नहीं हो रही? ये है जवाब

कन्हैया कुमार और शेहला ने एक प्रोग्राम में जवाब दिया कि आखिर उनकी पढ़ाई क्यों खत्म नहीं हो रही है।

DainikBhaskar.com | Last Modified - Mar 13, 2018, 05:01 PM IST

  • कन्हैया कुमार और शेहला रशीद की पढ़ाई खत्म क्यों नहीं हो रही? ये है जवाब, national news in hindi, national news
    +1और स्लाइड देखें

    नेशनल डेस्क. जेएनयू के पूर्व अध्यक्ष कन्हैया कुमार और पूर्व उपाध्यक्ष शेहला रशीद को लेकर सवाल उठता रहा है कि आखिर वो जेएनयू में कब तक पढ़ते रहेंगे। उनकी पढ़ाई क्यों खत्म नहीं हो रही है। दोनों से यही सवाल एक टीवी चैनल के प्रोग्राम में पूछा गया। बताते हैं कि आखिर इस सवाल पर कन्हैया कुमार और शेहला रशीद ने क्या जवाब दिया।

    'मोदी जी ने तो 35 की उम्र में MA किया हम 30 की उम्र में पीएचडी भी न करें'

    कन्हैया कुमार ने सवाल के जवाब में कहा कि 'बीजेपी के पास कोई मुद्दा नहीं बचा है इसलिए वो इस तरह के आरोप लगाती है। उन्होंने कहा कि हमसे पूछ रहे हैं कि हम 30 साल तक क्यों पढ़ रहे हैं। अरे भाई हमारे पीएम ने तो 35 साल की उम्र में एमए किया तो हम 30 साल की उम्र में पीएचडी भी न करें।'

    शेहला रशीद का जवाब
    शेहला रशीद ने कहा कि 'हमारे देश का स्कूलिंग सिस्टम ऐसा है कि जब आप तीन से चार साल के होते हैं तब नर्सरी में होते हैं। दसवीं पास करते हैं तो सोलह साल के होते हैं। बारहवीं पास करते हैं तो अठ्ठारह साल के हो जाते हैं। बीए करते हैं तो इक्कीस साल, बीटेक करते हैं तो 22 साल, बीएएलएलबी करते हैं 24 साल, उसके बाद एमए करना चाहे तो 26 साल। एमफिल करना चाहे तो 28 साल ले लीजिए। उसके बाद पीएचडी करना चाहे तो तीन से चार सौ और ले लीजिए।'

    'बीजेपी को पढ़ाई खत्म कराने की जल्दी क्यों है?'
    उन्होंने कहा कि 'आज डिस्कोर्स बदल गया है। पहले कहते थे कि पढ़ने की कोई उम्र नहीं होती है आज इन लोगों (बीजेपी) को पढ़ाई खत्म कराने की जल्दी है। इनके मिनिस्टर (बीजेपी) कहते हैं कि डार्विन की थ्योरी गलत है। ये लोग कहते हैं हम इतिहास बदल देंगे, चलो वो भी ठीक है। तो एक काम करो, आप पढ़ाई के सिस्टम को ही खत्म कर दो। सब लोग शाखा चलते हैं वहीं से नॉलेज लेकर आते हैं।

    'हम भी देते हैं टैक्स'
    कन्हैया कुमार और शेहला रशीद से पढ़ाई खत्म करने का सवाल इसलिए भी पूछा जाता है कि कुछ लोग कहते हैं कि ये लोग जनता के पैसों से पढ़ाई के बदले टाइम पास कर रहे हैं। शेहला रशीद ने इसका भी जवाब दिया। उन्होंने कहा कि हम भी टैक्स देते हैं। जीएसटी, स्टेट जीएसटी जैसे अलग-अलग माध्यमों के जरिए।

  • कन्हैया कुमार और शेहला रशीद की पढ़ाई खत्म क्यों नहीं हो रही? ये है जवाब, national news in hindi, national news
    +1और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए India News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: Kanhaiya Kumar And Shehla Rashid Answer Why Not End Studies
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From National

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×