--Advertisement--

इस कवि ने बयां किया मुस्लिम होने का दर्द, वीडियो हुआ वायरल

कवि सैय्यद जफीर ने मुंबई में हुए कवि सम्मेलन में ये कविता पढ़ी।

Dainik Bhaskar

Feb 06, 2018, 06:59 PM IST
poet Syed Zafeer poignantly captures the ordeal of Muslims in India

नेशनल डेस्क. 'उन्हीं की भीड़ में होंगे कुछ खान, अहमद, अकबर, जमानी, जिनको ना जाने क्यों ये दुनिया बस कह देती है पाकिस्तानी..'। ये दर्द एक हिंदुस्तानी का है। जो पेशे से कवि है और धर्म से मुस्लिम। नाम है सैय्यद जफीर। उन्होंने मुंबई में हुए एक कवि सम्मेलन में एक मुस्लिम होने का दर्द बयां किया। सोशल मीडिया पर जफीर का कविता पढ़ते हुए वीडियो वायरल हो रहा है। वो कह देते हैं मुझे पाकिस्तानी...

मुंबई में रहने वाले सैय्यद जफीर ने कवि सम्मेलनों में कई कविताएं पढ़ी हैं। लेकिन उनके अंदर जो दर्द था उसे इस कविता के जरिए बयां किया। वीडियो पर कई तरह के कमेंट किए जा रहे हैं। कुछ लोग कमेंट करके सैय्यद की बातों पर हामी भर रहे हैं तो कुछ उनकी बातों पर अपना विरोध दर्ज करा रहे हैं।

कविता में क्या है
मुंबई में रहने वाले जफीर ने कहा कि 15 अगस्त की जगह 14 अगस्त को लोग उन्हें आजादी की मुबारकबाद देते हैं। कविता के जरिए जफीर कहते हैं कि इसी सरजमी का हूं परिंदा, इस पर हूं सही, सालिम और जिंदा लेकिन बस पढ़ लेता हूं नमाज और ईद पर मेरे घर में बन जाती हैं सेवईयां और बिरयानी तो वो कह देते हैं मुझे पाकिस्तानी।

X
poet Syed Zafeer poignantly captures the ordeal of Muslims in India
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..