Hindi News »National »Latest News »National» Sachin Tendulkar Donates His Entire Rajya Sabha Salary To PM Relief Fund

सचिन को सलाम: इस काम के लिए अपनी सैलेरी के 90 लाख रुपए किए खर्च

सचिन ने राज्य सभा की सैलेरी से 6 साल में करीब 90 लाख रुपए इकट्ठा किए।

DainikBhaskar.com | Last Modified - Apr 01, 2018, 04:53 PM IST

  • सचिन को सलाम: इस काम के लिए अपनी सैलेरी के 90 लाख रुपए किए खर्च, national news in hindi, national news
    +1और स्लाइड देखें

    नेशनल डेस्क.सचिन तेंदुलकर ने राज्यसभा सांसद के रूप में मिली पूरी सैलेरी और भत्ते को प्रधानमंत्री राहत कोष में दान कर दिया। हाल ही में उनकी राज्यसभा सदस्यता खत्म हुई है। राज्यसभा मेंबर बने रहने के दौरान सचिन की सदन में उपस्थिति को लेकर काफी आलोचना की जाती रही है। लेकिन उन्होंने अपनी पूरी सैलेरी दान कर आलोचकों का मुंह बंद कर दिया। बता दें कि सचिन ने 6 साल में करीब 90 लाख रुपए सैलरी इकट्ठा की थी।

    - सचिन तेंदुलकर के सैलेरी दान करने के बाद पीएम ऑफिस से एक लेटर भी जारी किया गया। जिसमें लिखा गया कि पीएम ने इस काम के लिए आभार व्यक्त किया है। ये फंड संकटग्रस्त लोगों को हेल्प करने में मददगार साबित होगा।

    - सचिन तेंदुलकर के ऑफिस से जारी आंकड़ों के मुताबिक उन्होंने देश भर में 185 परियोजनाओं को मंजूरी दी। इसके अलावा आवंटित 30 करोड़ में से 7.4 करोड़ रुपए एजुकेशन और स्ट्रक्चर डेवलपमेंट में खर्च करने का दावा किया। सचिन ने दो गांवों को गोद लिया। ये गांव आंध्र प्रदेश के पुत्तम राजू कंद्रिगा और महाराष्ट्र का दोंजा गांव है।

    - बता दें कि सचिन तेंदुलकर के अलावा रेखा की भी सदन में उपस्थिति को लेकर आलोचना की जाती रही है। बता दें कि राज्य सभा में सचिन तेंदुलकर की अटेंडेंस 7.3 प्रतिशत और रेखा की 4.5 प्रतिशत रही है। सचिन ने 400 पार्लियामेंट सेशन में से 29 सेशन ही अटेंड किया। उन्होंने 22 सवाल पूछे। वहीं रेखा ने सिर्फ 18 सेशन अटेंड किया।

  • सचिन को सलाम: इस काम के लिए अपनी सैलेरी के 90 लाख रुपए किए खर्च, national news in hindi, national news
    +1और स्लाइड देखें
Topics:
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From National

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×