• Home
  • National
  • TDP Pull Out Of BJP Govt, Made Allegations Of Betrayel
--Advertisement--

एनडीए में बड़ी फूट, मोदी सरकार से इस्तीफा देंगे TDP के मंत्री

गुरुवार को TDP से सरकार में शामिल दो मंत्री इस्तीफा दे सकते हैं।

Danik Bhaskar | Mar 08, 2018, 09:54 AM IST
  • एनडीए में बड़ी फूट। जी हां 2014 लोकसभा चुनाव के बाद ये पहली बार है ऐसा होता दिख रहा है। जिस राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन यानी एनडीए के पोस्टर ब्वॉय पीएम नरेंद्र मोदी हैं उसकी एक सहयोगी पार्टी TDP नाराज है। नौबत अलगाव की आ गई है। गुरुवार को TDP से सरकार में शामिल दो मंत्री इस्तीफा दे सकते हैं। TDP आंद्र प्रदेश को विशेष राज्य का दर्जा देने की मांग कर रही है। लेकिन केंद्र सरकार ने इस मांग को ठुकरा दिया है। अब पार्टी के ज्यादातर नेता NDA से अलग होने के पक्ष में हैं। मंगलवार को इसको लेकर TDP के सदस्यों ने संसद में नारेबाजी भी की। TDP से अशोक गजपति राजू और वाई एस चौधरी मोदी सरकार में मंत्री हैं। आंध्र को विशेष राज्य का दर्जा देने में दिक्कत...
  • केंद्र सरकार आंध्र प्रदेश के विकास के लिए हर तरह की मदद देने की बात तो कर रही है लेकिन विशेष राज्य का दर्जा देने की मांग नहीं मान रही। इसकी वजह ये है कि एक तो इसके लिए नियमों में बड़े बदलाव करने होंगे। दूसरा अगर ऐसा किया तो बिहार जैसे कुछ और राज्य भी यही मांग करने करेंगे। और एक कतार लग सकती है। यही कारण है कि बुधवार को एक बार फिर से वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा कि तेलंगाना से अलग होने के बाद आंध्र प्रदेश को आर्थिक मदद की जरूरत है कि वो सरकार देगी। हालांकि उन्होंने विशेष राज्य का दर्जा देने से मना कर दिया।
  • आंध्र को विशेष राज्य का दर्जा था वादा
    आपको बता दें कि केंद्र ने आंध्र प्रदेश को विशेष राज्य का दर्जा देने का वादा किया था। ये वादा आंध्रप्रदेश और तेलंगाना के बटवारे के समय किया गया था, लेकिन अब सरकार का कहना है कि ये उस समय की बात है जब 14वां वित्त आयोग ने साफ कर दिया है कि अब किसी राज्य को विशेष राज्य का दर्जा नहीं मिल सकता। इसकी जगह जिन राज्यों को राजस्व में घाटा हो रहा है कि उन्हें केंद्र अलग से मदद देगा।
  • गठबंधन टूटा तो क्या होगा?
    आंध्र प्रदेश से लोकसभा में कुल 25 सांसद हैं। इनमें से 15 TDP के और 2 बीजेपी के हैं। राज्य में बीजेपी के महज 4 विधायक हैं। 175 सीटों वाली विधानसभा में TDP के 103 विधायक हैं..गणबंधन टूटा तो केंद्र से राज्य तक में बीजेपी को गठबंधन का नुकसान होगा। आज भी संसद में टीडीपी इस मुद्दे को लेकर जमकर हंगामा कर सकती है।