Hindi News »National »Latest News »National» Do You Know The Real Cost Of Digital Transactions

ऑनलाइन ट्रांजैक्शन में GST के साथ इतने रुपए काटे जाते हैं आपके अकाउंट से, जानें डिटेल

क्या आप जानते हैं कि डिजिटल ट्रांजैक्शन करने पर आप से बैंक कितना चार्ज वसूल कर रहे हैं? जानिए पूरी डिटेल।

dainikbhaskar.com | Last Modified - Jan 09, 2018, 01:49 PM IST

  • ऑनलाइन ट्रांजैक्शन में GST के साथ इतने रुपए काटे जाते हैं आपके अकाउंट से, जानें डिटेल, national news in hindi, national news
    +5और स्लाइड देखें

    यूटिलिटी डेस्क।नोटबंदी के बाद से ही डिजिटल ट्रांजैक्शन काफी बढ़ा है। गवर्नमेंट चाहती है कि आम लोग ज्यादा से ज्यादा डिजिटल ट्रांजेक्शन करें। कई यूजर इलेक्ट्रॉनिक पेमेंट्स पर जा चुके हैं, लेकिन सभी लोग इसके चार्जेस से वाकिफ नहीं। क्या आप जानते हैं कि डिजिटल ट्रांजैक्शन का कितना चार्ज आप से वसूला जा रहा है। आज हम इस बारे में आपको पूरी जानकारी दे रहे हैं।

    NEFT में कितने रुपए देना होते हैं

    नेशनल इलेक्ट्रॉनिक फंड्स ट्रांसफर (NEFT) के जरिए वन टू वन फंड ट्रांसफर होता है। इस सर्विस को इंटरनेट बैंकिंग के साथ ही बैंक ब्रांच पर जाकर भी एक्सेस किया जा सकता है। इसमें ट्रांसफर करते ही कुछ ही घंटों में बेनिफिशियर के अकाउंट में पैसा पहुंच जाता है। वैसे तो NEFT में कोई मिनिमम और मैक्सिमम अमाउंट लिमिट नहीं होती, लेकिन इनडिविजुअल बैंक ट्रांजैक्शन अमाउंट की लिमिट तय कर सकता है। इस सर्विस का बैंक चार्ज भी वसूलते हैं।

    कितना चार्ज लेता है SBI
    एसबीआई 10 हजार रुपए तक के अमाउंट पर 1 रुपए प्लस जीएसटी वसूलता है। वहीं, बैंक से इतना ही अमाउंट ट्रांसफर करने पर 2.50 रुपए प्लस जीएसटी वसूला जाता है। इसी तरह 10 हजार से ज्यादा से लेकर 1 लाख रुपए तक ट्रांसफर करने पर एसबीआई 2 रुपए प्लस जीएसटी वसूलता है। ब्रांच से ट्रांसफर करने पर यह चार्ज 5 रुपए प्लस जीएसटी हो जाता है। 1 लाख रुपए से ज्यादा से लेकर 2 लाख रुपए तक ट्रांसफर करने पर 3 रुपए प्लस जीएसटी लगता है। बैंक ब्रांच से यह ट्रांजैक्शन करने पर 15 रुपए प्लस जीएसटी देना होता है। 2 लाख रुपए से ज्यादा का ट्रांजैक्शन होने पर 5 रुपए प्लस जीएसटी और बैंक ब्रांच से इतनी रकम ट्रांसफर करने पर 25 रुपए प्लस जीएसटी देना होगा।

    किस ट्रांजैक्शन का कितना चार्ज देते हैं आप, देखिए आगे की स्लाइड्स में...

  • ऑनलाइन ट्रांजैक्शन में GST के साथ इतने रुपए काटे जाते हैं आपके अकाउंट से, जानें डिटेल, national news in hindi, national news
    +5और स्लाइड देखें

    > रियल टाइम ग्रॉस सेटलमेंट (RTGS) के जरिए भी आप हाई वैल्यू अमाउंट ट्रांसफर कर सकते हैं। इसमें कम से कम 2 लाख रुपए ट्रांसफर किए जा सकते हैं। एसबीआई 2 लाख से 5 लाख रुपए तक ऑनलाइन फंड ट्रांसफर करने पर 5 रुपए प्लस जीएसटी वसूलता है। वहीं बैंक ब्रांच से यह अमाउंट ट्रांसफर करने पर चार्ज 25 रुपए प्लस जीएसटी लगता है। 5 लाख से ज्यादा का अमाउंट ऑनलाइन ट्रांसफर करने पर 10 रुपए प्लस जीएसटी लगते हैं। वहीं बैंक ब्रांच से यह रकम ट्रांसफर करने पर 50 रुपए प्लस जीएसटी देना होता है।

  • ऑनलाइन ट्रांजैक्शन में GST के साथ इतने रुपए काटे जाते हैं आपके अकाउंट से, जानें डिटेल, national news in hindi, national news
    +5और स्लाइड देखें

    > इसके जरिए कोई भी कस्टमर 24 घंटे और सातों दिन यानी कभी भी फंड ट्रांसफर कर सकता है। इसमें अधिकतम अमाउंट 2 लाख रुपए तक ही ट्रांसफर किया जा सकता है। यह फेसिलिटी सिर्फ ऑनलाइन ही अवेलेबल है। एसबीआई इसमें 1 हजार रुपए तक के ट्रांसफर पर कोई जार्च नहीं लेता। 1 हजार 1 से लेकर 10 हजार रुपए तक पर 1 रुपए प्लस जीएसटी वसूलता है। इसी तरह 10 हजार 1 से लेकर 1 लाख रुपए तक पर 2 रुपए प्लस जीएसटी वसूला जाता है। 1 लाख से 2 लाख रुपए तक के अमाउंट पर 3 रुपए प्लस जीएसटी वसूला जाता है।

  • ऑनलाइन ट्रांजैक्शन में GST के साथ इतने रुपए काटे जाते हैं आपके अकाउंट से, जानें डिटेल, national news in hindi, national news
    +5और स्लाइड देखें

    > मोबाइल वॉलेट के तहत आप किसी भी ऐप के जरिए अपने स्मार्टफोन से ही ट्रांजेक्शन कर सकते हैं। आप मोबाइल से मनी ट्रांसफर कर सकते हैं और पेमेंट भी कर सकते हैं। हालांकि इसके लिए जरूरी है कि सेंडर और रिसीवर दोनों के फोन में एक ही मोबाइल वॉलेट हो। इसके लिए सभी वॉलेट अलग-अलग चार्जेस वसूल करते हैं। पेटीएम वॉलेट से अकाउंट में मनी ट्रांसफर करने पर 3 परसेंट चार्ज वसूल करता है। वहीं मोबिक्विक 4 परसेंट चार्ज वसूल करता है।

  • ऑनलाइन ट्रांजैक्शन में GST के साथ इतने रुपए काटे जाते हैं आपके अकाउंट से, जानें डिटेल, national news in hindi, national news
    +5और स्लाइड देखें

    > पेमेंट्स बैंक लिमिटेड सर्विसेज ऑफर करते हैं। रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया की गाइडलाइंस के अनुसार एयरटेल पेमेंट्स बैंक, पेटीएम पेमेंट्स बैंक कुछ सर्विसेज ऑफर कर रहे हैं। यहां आप 1 लाख रुपए तक का डिपॉजिट कर सकते हैं। एटीएम, डेबिट कार्ड यहां से इश्यू करवा सकते हैं। यह बैंक लोन ऑफर नहीं करते। यह डिपॉजिट पर इंटरेस्ट जरूर देते हैं। एयरटेल पेमेंट बैंक 7.25 परसेंट पर एनम इंटरेस्ट दे रहा है। वहीं पेटीएम पेमेंट्स बैंक 4 परसेंट इयरली इंटरेस्ट ऑफर कर रहा है। इनकी सर्विसेज फ्री नहीं हैं।

  • ऑनलाइन ट्रांजैक्शन में GST के साथ इतने रुपए काटे जाते हैं आपके अकाउंट से, जानें डिटेल, national news in hindi, national news
    +5और स्लाइड देखें

    > UPI इंस्टेंट पेमेंट्स फेसिलिटी है। इसे नेशनल पेमेंट्स कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (NPCI) ने लॉन्च किया है। यह यूजर को वर्चुअल पेमेंट एड्रेस (VPA) के जरिए मनी ट्रांसफर करने की फेसिलिटी देते हैं। सभी बैंकों के अपने-अपने UPI ऐप हैं। गवर्नमेंट का खुद का भी BHIM नाम से UPI ऐप है।

आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए India News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: Do You Know The Real Cost Of Digital Transactions
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From National

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×