--Advertisement--

इन 5 वजहों से गाड़ियों के आगे बम्पर गार्ड लगाना है खतरनाक, गवर्नमेंट ने लगाई रोक

अब गाड़ी पर किसी ने बम्पर गार्ड लगाया तो उसे इसका हर्जाना भुगतना होगा।

Danik Bhaskar | Dec 21, 2017, 12:35 PM IST

यूटिलिटी डेस्क। गवर्नमेंट ने गाड़ियों पर बम्पर गार्ड लगाने पर रोक लगा दी है। अब गाड़ी पर किसी ने बम्पर गार्ड लगाया तो उसे इसका हर्जाना भुगतना होगा। जिस तरह गाड़ियों में टिंटेड ग्लास लगाने पर रोक है, उसी तरह बम्पर गार्ड लगाने पर भी रोक लगा दी गई है। ऐसे मामले में अब पुलिस सीधे चालानी कार्रवाई करेगी। मोटर व्हीकल एक्ट के तहत भी गाड़ी में बम्पर गार्ड लगाने की परमीशन नहीं है। हम ऐसी 3 वजह बता रहे हैं, जो यह बताती हैं कि गाड़ियों के आगे बम्पर लगाना खतरनाक है।

पहली, वजह

गाड़ियों में आगे की ओर क्रम्पल जोन होता है। इनमें बम्पर, ग्रिल, रेडियेटर, बोनट सहित दूसरे पार्ट लगे होते हैं। कार में बम्पर गार्ड लगाने पर ये एक्सीडेंट के दौरान गाड़ी के क्रम्पल जोन को काम करने से रोकते हैं। इस कारण बाहर का फोर्स कार के अंदर बैठे लोगों को नुकसान पहुंचाता है। ऐसे में अंदर बैठे लोगों की मौत तक हो जाती है।

एयरबैग सेंसर को भी काम करने से रोकता है, देखिए आगे की स्लाइड्स में...

एयरबैग सेंसर भी सही तरीके से काम नहीं कर पाते

 

> गाड़ी में बम्पर गार्ड लगा होने से एयरबैग सेंसर भी सही तरीके से काम नहीं कर पाते। ऐसे में एक्सीडेंट के दौरान एयरबैग सेंसर कई बार समय पर खुल नहीं पाते। ऐसी परिस्थिति में भी गाड़ी के अंदर बैठे लोगों की जान बचना मुश्किल हो सकती है। इसी कारण इंश्योरेंस कंपनियां भी बम्पर को एक्सेसरी बनाने की परमीशन नहीं देतीं। 

 

 दूसरे राहगीरों के लिए भी खतरा

 

> गाड़ी में बम्पर गार्ड लगा होने से यह दूसरे राहगीरों के लिए भी खतरा पैदा करता है। बम्पर लगा होने पर एक्सीडेंट होता है तो गाड़ी से टकराने वाला व्यक्ति भी बुरी तरह से चोटिल हो जाता है। साइकिल सवार, राहगीरों के लिए यह ज्यादा खतरनाक होता है। इसलिए अब अधिकतर देशों में रोड-फ्रेंडली व्हीकल बनाए जा रहे हैं।