देश

--Advertisement--

फ्लाइट में सफर करने वालों को मिलने वाली है ये बड़ी सर्विस, सरकार कर रही ये तैयारी

एयर ट्रैवलर्स को जल्द ही नई सुविधा मिलने वाली है।

Danik Bhaskar

Jan 22, 2018, 02:02 PM IST

यूटिलिटी डेस्क। एयर ट्रैवलर्स को जल्द ही नई सुविधा मिलने वाली है। कुछ दिनों बाद एयर ट्रैवलर्स सफर के दौरान न सिर्फ इंटरनेट एक्सेस कर पाएंगे बल्कि फोन कॉल भी कर सकेंगे। ऐसा इंडियन एयरस्पेस में हो सकेगा। ट्राई ने इससे जुड़ी अपनी रिकमंडेशन डीओटी को सौंप दी हैं। डीओटी जल्द ही इसे लागू करने की तैयारी में है। dainikbhaskar.com ने इस बारे में नेटवर्कस स्पेक्ट्रम एंड लाइसेंससिंग के एडवाइजर एस.टी.अब्बास से बात की और समझा कि यह सुविधा कब से और कैसे काम करेगी।

किस तरह से काम करेगी सुविधा
मोबाइल कम्यूनिकेशन ऑन एयरक्राफ्ट (MCA) सर्विस में एयरलाइंस कंपनियां यात्रियों को वाईफाई की सुविधा दे सकेंगी। इंटनेटर कनेक्शन मिलने पर यात्री वॉट्सऐप, फेसबुक से लेकर कॉलिंग तक का यूज कर सकेंगे। इस सुविधा के एवज में कितना चार्ज लिया जाएगा, यह संबंधित एयरलाइन कंपनी पर ही डिपेंड करेगा।

अभी क्या है नियम
अभी कोई भी इंडियन एयरलाइंस ऑन-बोर्ड फ्लाइट में इंटरनेट की सुविधा यात्रियों को नहीं दे पाती थी, क्योंकि सिक्युरिटी रीजन के चलते सरकार ने इसे परमीशन नहीं दी थी। अब डिपार्टमेंट ऑफ टेलीकॉम (DoT) यह सर्विस यात्रियों को देना चाहती है। इसी के चलते टेलीकॉम रेग्युलेटरी अथॉरिटी ऑफ इंडिया (TRAI) से इस सुविधा को लेकर रिकमंडेशन मांगी गई थी। ट्राई ने अपनी रिपोर्ट दे दी है।

कब तक शुरू हो सकती है सुविधा, देखिए अगली स्लाइड में...

कब तक शुरू हो सकती है सुविधा


यह फेसिलिटी अगले डेढ़ से दो महीने में इंडिया में शुरू हो सकती है। इसमें कुछ रेस्ट्रक्शंस भी हैं। जैसे इस सर्विस के इस्तेमाल के लिए कम से कम 3 हजार मीटर की हाइट पर जाना जरूरी होगा। फॉरेन की कंपनियां पहले से यह सुविधा यात्रियों को दे रही हैं, लेकिन इंडियन एयरस्पेस में आते ही इन्हें इसे स्विच ऑफ करना होता था। ऑर्डर जारी होने के बाद इन कंपनियों को भी इस सर्विस को स्विच ऑफ करने की जरूरत नहीं होगी। 

 

अभी फ्लाइट में क्या है बैन


भारत में अभी ऑन-बोर्ड फ्लाइट में कोई इंटरनेट का इस्तेमाल नहीं कर सकता। कॉलिंग भी नहीं की जा सकती। ऐसे में कई बार यात्रियों को मुसीबत हो जाती है। इंटरनेट एक्ससे मिलने से एक बड़ी सुविधा यात्रियों को मिल जाएगी। ट्राई के लेटेस्ट रिकमंडेशन के बाद फ्लायर्स वॉट्सऐप पर मैसेज भेज सकेंगे और रिसीव कर सकेंगे। सोशल साइट्स पर पोस्ट कर सकेंगे। ईमेल चेक कर सकेंगे। 

फॉरेन एयरलाइंस को दे सकेंगे टक्कर


इंडियन एयरलाइन एग्जीक्युटिव्स ने इस कदम का वेलकम किया है। फॉरेन एयरलाइंस यह सर्विस दे रही थीं लेकिन इंडियन कंपनियां नहीं दे पा रही थी। अब इंडियन कंपनियां फॉरेन एयरलाइंस को इस मामले में भी टक्कर दे सकेंगी। ट्राई आईएफसी सर्विस प्रोवाइडर की सेपरेट कैटेगरी बना रहा है। इसके लिए अलग से रजिस्ट्रेशन करवाना होगा। नियम-कायदे इंडियन और फॉरेन दोनों ही एयरलाइंस कंपनियों के लिए एक समान होंगे। 

Click to listen..