--Advertisement--

जिन लोगों के पास है ऐसा आधार कार्ड, वो नहीं रह गया किसी काम का

यूनिक आइडेंटिफिकेशन अथॉरिटी ऑफ इंडिया (UIDAI) स्पष्ट कर चुका है कि...

Danik Bhaskar | Mar 13, 2018, 12:02 AM IST

यूटिलिटी डेस्क। कई लोग अपने आधार कार्ड को पीवीसी में तब्दील कर रहे हैं। जबकि प्लास्टिक या पीवीसी आधार स्मार्ट कार्ड किसी यूज के नहीं हैं। आधार कार्ड को पीवीसी में बदलने पर इस पर मौजूद क्यूआर कोड डिस्फंक्शनल हो जाता है। इसके अलावा जिस शॉप या वेंडर से यह कार्ड बनवाया जाता है, उसके पास संबंधित व्यक्ति की पर्सनल इंफॉर्मेशन भी पहुंच जाती है।

यूनिक आइडेंटिफिकेशन अथॉरिटी ऑफ इंडिया (UIDAI) स्पष्ट कर चुका है कि सादे कागज पर वाला आधार या आधार का डाउनलोडेड वर्जन पूरी तरह से वैध है। mAadhaar को आप अपनी आइडेंटिटी के लिए कहीं भी यूज कर सकते हैं। कई लोग आधार स्मार्ट कार्ड के चक्कर में पड़ रहे हैं। मार्केट में 50 से 300 रुपए में ऐसे कार्ड कई जगह तैयार किए जा रहे हैं। जबकि यह कार्ड अवैध है।

ऐसी गलती आप न करें
यूआईडीएआई के सीईओ डॉ. अजय भूषण पांडेय ने कहा है कि आधार स्मार्ट कार्ड जैसा कुछ नहीं है और यह किसी काम का नहीं। इसमें क्यूआर कोड डिस्फंक्शनल हो जाता है। आधार कार्ड, डाउनलोड किया गया आधार कार्ड का प्रिंट, सादे पेपर वाला आधार और mAadhaar पूरी तरह से वैध हैं। आप इसमें से किसी का भी इस्तेमाल कर सकते हैं।

लेमिनेशन भी न करवाएं,देखिए अगली स्लाइड्स में....