--Advertisement--

सरकार की इस स्कीम में करें इन्वेस्टमेंट, 15 साल में मिलेंगे 50 लाख रुपए

लॉन्ग टर्म इन्वेस्टमेंट वाली इस स्कीम में अट्रेक्टिव इंटरेस्ट खाताधारक को दिया जाता है।

Danik Bhaskar | Dec 12, 2017, 12:02 AM IST

यूटिलिटी डेस्क। इन्वेस्टमेंट की तमाम स्कीम्स मार्केट में आ चुकी हैं लेकिन इसके बाद भी भारत सरकार की पब्लिक प्रॉविडेंट फंड (PPF) स्कीम लोगों के बीच बहुत ज्यादा पॉपुलर है। लॉन्ग टर्म इन्वेस्टमेंट वाली इस स्कीम में अट्रेक्टिव इंटरेस्ट खाताधारक को दिया जाता है। साथ ही रिटर्न पूरी तरह से टैक्स फ्री होता है।

इसमें मिनिमम 500 रुपए से लेकर मैक्सिमम डेढ़ लाख रुपए तक का सालभर में इन्वेस्टमेंट किया जा सकता है। यदि कोई व्यक्ति हर साल डेढ़ लाख रुपए इसमें जमा करता है और ऐसा 15 सालों तक करता है तो उसे 15वें साल के अंत में 50 लाख रुपए मिलेंगे। हम बता रहे हैं इससे जुड़ी काम की बातें। इससे आप जान सकेंगे कि यह स्कीम आपके लिए फायदेमंद है या नहीं।

कौन ओपन कर सकता है अकाउंट
इंडिया में रहने वाला कोई भी व्यक्ति इस स्कीम के तहत अकाउंट ओपन कर सकता है। नाबालिग बच्चों का किसी बालिग व्यक्ति के नाम पर अकाउंट ओपन हो सकता है। बैंक अब ऑनलाइन भी पीपीएफ अकाउंट ओपन करने की फेसिलिटी दे रहे हैं। आप अपने मौजूदा बैंक में जाकर इस बारे में जानकारी जुटा सकते हैं।

अकाउंट खोलने का क्या फायदा, देखिए आगे की स्लाइड्स में...

ये हैं अकाउंट खोलने के फायदे...

 

> इसमें इंटरेस्ट रेट 7.8 % है। दूसरी सेविंग स्कीम्स पर इतना इंटरेस्ट नहीं मिल पाता। रिटर्न इनकम टैक्स से पूरी तरह फ्री है। 

 

> 15 साल के हिसाब से इन्वेस्टमेंट की यह एक अच्छी योजना है। 

इसमें आप महज 500 रुपए से लेकर अधिकतम डेढ़ लाख रुपए तक प्रतिवर्ष जमा कर सकते हैं। ऐसे में आप अपनी आय के हिसाब से अमाउंट का चयन कर सकते हैं। 

 

 

> मैक्सिमम 12 ट्रांजेक्शन में डिपॉजिट किया जा सकता है। 

अकाउंट ओपन होने के तीसरे और छटे फाइनेंशियल ईयर में इसके आधार पर लोन लिया जा सकता है।

अकाउंट ओपन होने के सातवें फाइनेंशियल ईयर पैसा निकालने की फेसिलिटी भी खाता धारक को मिल जाती है। 

 

> कम से कम 5 साल के बाद इस अकाउंट को तोड़ा जा सकता है। इसे सौ प्रतिशत मैच्योर होने में 15 साल का समय देना जरूरी है। 

 

25 परसेंट तक लोन ले सकते, देखें अगली स्लाइड में...

25 परसेंट तक लोन ले सकते

 

> पीपीएफ अकाउंट ओपन होने के तीसरे फाइनेंशियल ईयर से आप लोन ले सकते हैं। अकाउंट में जमा कुल अमाउंट के 25 परसेंट अमाउंट तक का लोन लिया जा सकता है। दूसरा साल पूरा होने के तुरंत बाद आप इसके लिए अप्लाई कर सकते हैं। लोन 36 महीने यानी 3 साल में चुकाना होता है। 

 

5 साल पूरे होने के बाद भी पैसा निकाला जा सकता है, देखिए आगे की स्लाइड में...

5 साल पूरे होने के बाद भी पैसा निकाला जा सकता है

 

> पीपीएफ अकाउंट से विशेष परिस्थितियों में 5 साल पूरे होने के बाद भी पैसा निकाला जा सकता है। इसमें मेडिकल ट्रीटमेंट, हायर एजुकेशन जैसी स्थितियां शामिल होती हैं। पीपीएफ का पूरा फायदा लेना चाहते हैं तो 15 साल की अवधि पूरी करना जरूरी है। अब सरकार पीपीएफ स्‍कीम के इंटरेस्‍ट रेट की हर तीन माह में समीक्षा करती है। 

 

ज्वॉइंट अकाउंट के साथ नहीं खोल सकते


> इस अकाउंट को ज्वाइंट अकाउंट के साथ नहीं खोला जा सकता। वहीं इस अकाउंट को चालू रखने के लिए इसमें सालाना 500 रुपए जमा करना भी जरूरी है।