देश

--Advertisement--

ड्राइविंग लाइसेंस-RC पर्स में ना होने पर भी पुलिस नहीं काट सकेगी चालान, जानें ये Right

आपके पर्स में यदि ड्राइविंग लाइसेंस और गाड़ी के आरसी की कॉपी नहीं है तब भी आपको पुलिस से डरने की जरूरत नहीं।

Danik Bhaskar

Dec 20, 2017, 12:02 AM IST

यूटिलिटी डेस्क। आपके पर्स में यदि ड्राइविंग लाइसेंस और गाड़ी के आरसी की कॉपी नहीं है, तब भी आपको पुलिस से डरने की जरूरत नहीं। गवर्नमेंट की नई सुविधा के बाद आप जरूरी कागजों की हार्ड कॉपी साथ रखने की चिंता छोड़ दीजिए।

दरअसल, अब आप हार्ड कॉपी की जगह ड्राइविंग लाइसेंस और गाड़ी के आरसी की सॉफ्ट कॉपी पुलिस को दिखा सकते हैं। ये काम आप सिर्फ मोबाइल से कर सकते हैं। इसके लिए आपको अपने स्मार्टफोन में DigiLocker App को डाउनलोड करना होगा। डाउनलोड करने के बाद आप इसमें अपने सभी जरूरी डॉक्युमेंट्स स्टोर कर सकते हैं। यहां डॉक्युमेंट अपलोड करने

के बाद इन्हें साथ रखने की झंझट खत्म हो जाएगी। यह गवर्नमेंट ऐप पूरी तरह से सिक्योर है।

क्या-क्या स्टोर कर सकते
DigiLocker में सभी जरूरी डॉक्युमेंट्स जैसे पैन कार्ड, पासपोर्ट, मार्कशीट, डिग्री को स्टोर किया जा सकता है। यदि कहीं आपको अपने डॉक्युमेंट भेजने हैं तो आप डॉक्युमेंट्स की डिजिटल कॉपी सीधे शेयर कर सकते हैं। कुछ दिनों में इसमें 1GB तक का स्टोरेज किया जा सकेगा। DigiLocker को यूजर अपने Google और Facebook अकाउंट से भी लिंक कर सकते हैं। आप डॉक्युमेंट्स की फाइल को pdf, jpg, jpeg, png, bmp और gif फॉर्मेट में अपलोड कर सकते हैं।

क्या है DigiLocker को यूज करने की प्रॉसेस, देखिए आगे की स्लाइड्स में...

Step 1

 

> DigiLocker को गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड करें। इन्सटॉल करने के बाद इसे ओपन करें। वेलकम स्क्रीन पर आपको दो ऑप्शन दिखेंगे। एक Sign In का होगा और दूसरा Sing Up का। यदि पहले से आपका अकाउंट क्रिएटेड है तो 

Sign In पर क्लिक कर लॉगइन करें। वहीं, यदि आप पहली बार इसे यूज कर रहे हैं तो Sing up के ऑप्शन पर जाएं। 

Step 2


> यहां आपको मोबाइल नंबर डालना होगा। फिर आपके रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर OTP आएगा। इसके जरिए वेरिफिकेशन 

किया जाएगा। वेरिफिकेशन की प्रॉसेस होने के बाद आप अपना नाम और पासवर्ड क्रिएट कर सकते हैं। 

Step 3


> DigiLocker को एक्सेस करने के लिए आपको आधार नंबर को इससे लिंक करना होगा। Tap On Link 

Aadhar के ऑप्शन पर क्लिक करें और यहां 12 अंकों का आधार नंबर डालें। फिर OTP के जरिए वेरिफिकेशन किया 

जाएगा। अब आप अपने डॉक्युमेंट्स को स्टोर करने के लिए DigiLocker का इस्तेमाल कर सकते हैं। 

Click to listen..