Hindi News »National »Latest News »National» What Bankruptcy Means

आखिर कब दिवालिया होती है कोई कंपनी? जानें फिर इन्वेस्टर्स के पैसों का क्या होता है

क्या आप जानते हैं कि किसी कंपनी के दिवालिया होने पर क्या होता है?

dainikbhaskar.com | Last Modified - Mar 04, 2018, 12:02 AM IST

  • आखिर कब दिवालिया होती है कोई कंपनी? जानें फिर इन्वेस्टर्स के पैसों का क्या होता है, national news in hindi, national news
    +2और स्लाइड देखें

    यूटिलिटी डेस्क। इन दिनों नीरव मोदी का नाम चर्चा में है। हाल ही में मोदी के स्वामित्व वाली कंपनी फायरस्टार डायमंड ने न्यूयॉर्क की एक अदालत में दिवालिया होने की अर्जी दी है। क्या आप जानते हैं कि किसी कंपनी के दिवालिया होने पर क्या होता है? हमने इस बारे मेंइंदौर सीए एसोसिएशन के चेयरमेन अभय शर्मा से बात की। उन्होंने बताया कि आखिरी कंपनी के दिवालिया होने पर क्या होता है?

    कंपनी दिवालिया कब होती है?
    किसी भी कंपनी की जब असेट (संपत्ति) से ज्यादा देनदारी हो जाती है, और वह उसे चुकाने में फेल हो जाती है तब कंपनी दिवालिया घोषित की जा सकती है। इसके अलावा कुछ मामलों में सरकार भी कंपनी को दिवालिया घोषित कर सकती है। जैसे किसी कंपनी की एक्टिविटी से देश को खतरा हो, इंटीग्रिटी पर खतरा हो तो ऐसी कंपनी को सरकार द्वारा दिवालिया घोषित किया जा सकता है। हालांकि यह बहुत रेयर होता है।

    दिवालिया होने के बाद क्या होता है?, देखिए अगली स्लाइड में....

  • आखिर कब दिवालिया होती है कोई कंपनी? जानें फिर इन्वेस्टर्स के पैसों का क्या होता है, national news in hindi, national news
    +2और स्लाइड देखें

    दिवालिया होने के बाद क्या होता है?


    > कंपनी के दिवालिया होने पर निवेशक क्रेडिटर बन जाते हैं। क्रेडिटर दो तरह के होते हैं एक सिक्योर्ड और दूसरा अनसिक्योर्ड। कंपनी के दिवालिया होने पर मामला नेशनल कंपनी लॉ ट्रिब्यूनल (NCLT) के पास जाता है। ऐसे मामलों में इनसॉल्वेंसी प्रोफेशनल नियुक्त किए जाते हैं। इनसॉल्वेंसी प्रोफेशनल कंपनी को दोबारा रिवाइव करने की कोशिश करते हैं। शुरुआत में इसके लिए 180 दिनों का समय दिया जाता है। अलग-अलग केस के हिसाब से यह अवधि बढ़ भी जाती है। 

     

    >इनसॉल्वेंसी प्रोफेशनल के दखल के बाद भी यदि कंपनी की हालत ठीक नहीं हो पाती तो फिर संबंधित कंपनी को दिवालिया मानकर आगे की कार्रवाई की जाती है।

     

    निवेशकों को क्या होता है?, देखिए अगली स्लाइड में...

  • आखिर कब दिवालिया होती है कोई कंपनी? जानें फिर इन्वेस्टर्स के पैसों का क्या होता है, national news in hindi, national news
    +2और स्लाइड देखें


    निवेशकों को क्या होता है?


    > ऐसा होने पर निवेशक कोर्ट जा सकते हैं। ऐसे में यदि निवेशक कोर्ट डॉक्टराइन ऑफ कॉर्पोरेट वेल यानी यह साबित कर दें कि शुरूआत से ही कंपनी की मंशा निवेशकों का पैसा लेकर भागने की थी, तो इससे कंपनी के प्रमोटर्स को जवाबदेह बनाया जा सकता है और इस सूरत में प्रमोटर्स को पैसा लौटाना होता है। कंपनी लॉ बोर्ड में पिटीशन दाखिल की जा सकती है। 

     

    ऐसे में कंपनी क्या करती है?


    > दिवालिया होने के बाद कंपनी विंडअप पिटीशन दाखिल करती है। इसके बाद कंपनी की कुल एसेट्स की बिक्री कर क्रेडिटर को पैसा चुकाया जाता है। गवर्नमेंट 

    क्रेडिटर को फर्स्ट प्रायोरिटी दी जाती है। सरकार का टैक्स या दूसरे सरकारी विभागों की बकाया राशी इसमें आती है। 

Topics:
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए India News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: What Bankruptcy Means
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From National

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×