--Advertisement--

दिल्ली मेट्रो का किराया बढ़ने के बाद 3 लाख पैसेंजर हर दिन कम हुए: RTI

इस साल 10 अक्टूबर को दिल्ली मेट्रो ने करीब-करीब सभी डिस्टेंस स्लैब के लिए किराए में 10 रुपए की बढ़ोतरी कर दी।

Danik Bhaskar | Nov 24, 2017, 04:52 PM IST
अक्टूबर 2016 में मेट्रो से रोजाना सफर करने वालों की तादाद 27.4 लाख थी, जो इस साल अक्टूबर में 24.2 लाख हो गई। - फाइल अक्टूबर 2016 में मेट्रो से रोजाना सफर करने वालों की तादाद 27.4 लाख थी, जो इस साल अक्टूबर में 24.2 लाख हो गई। - फाइल

नई दिल्ली. 10 अक्टूबर को किराया बढ़ाए जाने के बाद दिल्ली मेट्रो से रोजाना सफर करने वाले 3 लाख पैसेंजर हर दिन कम हुए हैं। दिल्ली मेट्रो रेल कॉरपोरेशन (DMRC) ने एक आरटीआई के जवाब में ये जानकारी दी। DMRC के मुताबिक, अक्टूबर में रोजाना सफर करने वालों की तादाद 24.2 लाख हो गई, जबकि सितंबर में ये 27.7 लाख थी। बता दें कि दिल्ली-NCR में मेट्रो का नेटवर्क 218 किलोमीटर के दायरे में फैला है।

किस लाइन पर कितने पैसेंजर घटे?

ब्लू लाइन: DMRC के आंकड़ों के मुताबिक, द्वारका से नोएडा को जोड़ने वाले इस 50 किलोमीटर लंबे कॉरिडोर पर अक्टूबर में 30 लाख पैसेंजर कम हुए हैं।

यलो लाइन: इस कॉरिडोर पर पैसेंजर्स की संख्या 19 लाख से ज्यादा तक घट गई है। यलो लाइन दिल्ली के समयपुर बादली से गुड़गांव के हुडा सिटी सेंटर तक के करीब 48 किलोमीटर लंबे मेट्रो कॉरिडोर है।
वॉयलेट लाइन: अक्टूबर में इस लाइन पर 11.9 लाख पैसेंजर्स की कमी आई। ये लाइन करीब 40 किलोमीटर लंबी है और दिल्ली के आईटीओ से फरीदाबाद को जोड़ती है।
रेड लाइन: दिलशाद गार्डन से रिठाला तक जाने वाले इस मेट्रो कॉरिडोर में अक्टूबर में 7.5 लाख पैसेंजर्स कम हो गए। ये कॉरीडोर करीब 34 किलोमीटर लंबा है।

कितना किराया बढ़ाया?
- इस साल 10 अक्टूबर को दिल्ली मेट्रो ने करीब-करीब सभी डिस्टेंस स्लैब के लिए किराए में 10 रुपए की बढ़ोतरी कर दी। ये बढ़ोतरी 5 महीने पहले किराए में की गई करीब 100% बढ़ोतरी के बाद हुई। मई में हुई उस बढ़ोतरी के चलते मेट्रो में 1.5 लाख पैसेंजर्स की हर दिन कमी दर्ज की गई थी।

मौजूदा समय में क्या है मेट्रो का किराया?
2 किलोमीटर तक : 10 रु.
2-5 किलोमीटर : 20 रु.
5-12 किलोमीटर : 30 रु.
12-21 किलोमीटर : 40 रु.
21-32 किलोमीटर : 50 रु.
32 किलोमीटर से ज्यादा : 60 रु.

दिल्ली मेट्रो की ब्लू लाइन में इस साल अक्टूबर में रोजाना सफर करने वाले 30 लाख से ज्यादा पैसेंजर्स घटे। - फाइल दिल्ली मेट्रो की ब्लू लाइन में इस साल अक्टूबर में रोजाना सफर करने वाले 30 लाख से ज्यादा पैसेंजर्स घटे। - फाइल