देश

  • Home
  • National
  • film padmavati dispute oppose protest news and updates
--Advertisement--

पद्मावती: UP सरकार ने केंद्र को लिखा लेटर, भंसाली और सेंसर बोर्ड को मिली सिक्युरिटी

संजय लीला भंसाली की विवादित फिल्म पद्मावती 1 दिसंबर को रिलीज होना है।

Danik Bhaskar

Nov 16, 2017, 10:41 AM IST
करणी सेना ने फिल्म की रिलीज के करणी सेना ने फिल्म की रिलीज के

मुंबई/लखनऊ. करणी सेना ने धमकी दी है कि अगर पद्मावती फिल्म रिलीज की गई तो इसकी एक्ट्रेस दीपिका पादुकोण की नाक काट ली जाएगी। उधर, पद्मावती फिल्म के विरोध को देखते हुए उत्तर प्रदेश की होम मिनिस्ट्री ने इंन्फॉर्मेशन एंड ब्रॉडकास्टिंग (आईबी) मिनिस्ट्री को लेटर लिखा है। इसमें कहा गया है कि राज्य में नगरीय निकाय चुनाव हो रहे हैं ऐसे में इस फिल्म के रिलीज करने से कानून-व्यवस्था पर असर पड़ सकता है। उधर, मुंबई पुलिस ने डायरेक्टर संजय लीला भंसाली के ऑफिस और घर की सिक्युरिटी में पुलिस तैनात कर दी है। भंसाली के साथ भी आर्म्ड गार्ड तैनात किए गए हैं।

वही हाल करेंगे, जो लक्ष्मण ने सूर्पणखा का किया था

- न्यूज एजेंसी के मुताबिक, करणी सेना के महिपाल मकराना ने कहा, "राजपूत कभी महिलाओं पर हाथ नहीं उठाते, लेकिन जरूरत पड़ी तो हम दीपिका पादुकोण का वही हाल करेंगे, जो लक्ष्मण ने सूर्पणखा का किया था।"

- बता दें रामायण के मुताबिक, लक्ष्मण ने रावण की बहन सूर्पणखा की नाक काट ली थी।

- बाद में इस बयान पर करणी सेना के संरक्षक लोकेंद्र सिंह कालवी से सवाल किया गया तो उन्होंने भी इसका सपोर्ट किया। उन्होंने कहा, "अगर बच्चे ऐसा कहने पर मजबूर हुए हैं तो इसकी कोई वजह होगी।"

1 दिसंबर को भारत बंद का एलान

- इस बीच करणी सेना ने फिल्म के विरोध में 1 दिसंबर को भारत बंद का एलान किया है।
- कालवी ने कहा, "हम लाखों की तादाद में जुटेंगे। हमारे पूर्वजों ने खून से इतिहास लिखा, हम किसी को इस पर कालिख पोतने की इजाजत नहीं देंगे। हम 1 दिसंबर को भारत बंद रखेंगे।

'दाऊद ने भेजा फिल्म को बनाने के लिए पैसा'

- कालवी ने गुरुवार को लखनऊ में कहा, "कहां से आता है इस तरह का पैसा? वो कह रहे हैं 200 करोड़ की फिल्म है। कब शुरू हुई थी फिल्म? नोटबंदी के 14 दिन पहले। और कब खत्म हुई यह फिल्म? 99% फिल्म पूरी हुई नोटबंदी के दौरान। कहां से आया यह पैसा? यह तयशुदा उस धरती से आ रही है, जहां से मुसलमान हीरो होगा और राजपूत स्त्री हीरोइन होगी। यह पैसा दुबई से आ रहा है। सीधा-सीधा दाऊद के यहां से आ रहा है।"

'मुस्लिम लड़की, हिंदू लड़का हो तो नहीं बनती है फिल्म'

- कालवी ने कहा, "क्या यह इतिहास नहीं है कि अलाउद्दीन की बेटी फिरोजा, जालौर के महाराज बीरमदेव के प्यार में पड़ गई। कहानियों से किस्से सुनकर। तब अलाउद्दीन की तरफ से बीरमदेव को कहा गया कि शादी कर, लेकिन उन्होंने मना कर दिया। कहा- सिर कटवा लूंगा लेकिन तुर्कानी से शादी नहीं करूंगा। सिर काट दिया गया और फिरोजा यमुना में सती हो गई। क्या यह स्टोरी नहीं है? पर इस स्टोरी में तो मुसलमान प्रेमिका है, हिंदू प्रेमी।"

100 गुना नुकसान करने की धमकी

- कालवी ने कहा, "कहा जा रहा है कि कालवी जी आपने फिल्म की पीआर मजबूत कर दी। आपने 5-10 करोड़ जो एडवर्टाइजमेंट का खर्च बचा दिया। अगर हमारे कारण से 2-5 करोड़ बच गया है तो उसका 100 गुना नुकसान नहीं कर दिया तो राजपूत होने का अर्थ खत्म हो जाएगा।"

फिल्म की रिलीज से शांति भंग होने का डर

- उत्तर प्रदेश के होम डिपार्टमेंट ने आईबी मिनिस्ट्री को लेटर लिखा है। इसमें बताया गया है कि पद्मावती फिल्म की स्क्रिप्ट और इसमें ऐतिहासिक सबूतों को तोड़-मरोड़ कर पेश करने को लेकर लोगों में गुस्सा है। इसकी रिलीज से शांति-व्यवस्था पर गलत असर पड़ सकता है।

योगी ने कहा- अपने फायदे के लिए तथ्यों से छेड़छाड़ ठीक नहीं

- उत्तर प्रदेश सरकार की ओर से आईबी मिनिस्ट्री को लिखे गए लेटर के सवाल पर योगी आदित्यनाथ ने कहा, "हमारे यहां नगरीय निकाय के चुनाव चल रहे हैं। फोर्स उसकी सुरक्षा में होगी। चुनाव पर इसका कोई असर न हो ऐसे में जरूरी है कि फोर्स उस पर ध्यान दे। कोई भी ऐतिहासिक तथ्यों से छेड़छाड़ कर अपना हित साधे यह नहीं होना चाहिए। हम फिल्म के खिलाफ नहीं हैं, लेकिन राज्य की कानून-व्यवस्था पर असर डालने वाले काम को हमारी सरकार रोकने का काम करेगी।"

कालवी ने UP सरकार के लेटर पर उठाए सवाल

- उत्तर प्रदेश सरकार की ओर से आईबी मिनिस्ट्री को लिखे लेटर पर लोकेंद्र सिंह कालवी ने सवाल उठाया है। उनका कहना है कि यूपी सरकार कह रही है कि राज्य में चुनाव हैं और 1 दिसंबर को पद्मावती रिलीज की गई तो कानून-व्यवथा बिगड़ जाएगी। हमारा कहना है कि क्या इसे तीन महीने बाद रिलीज किया गया तो इतिहास बदल जाएगा।

सेंसर बोर्ड के ऑफिस पर पुलिस तैनात
- इस फिल्म के जोरदार विरोध की वजह से सेंसर बोर्ड भी काफी दबाव में है। इस बीच मुंबई के पेडर रोड स्थित सेंसर बोर्ड के ऑफिस पर पुलिस तैनात कर दी गई है।
- फिल्म से जुड़े सूत्रों के मुताबिक, इस फिल्म के सर्टिफिकेट के लिए एप्लाई कर दिया गया है। हलांकि, बोर्ड ऑफिशियल्स अभी इस पर कुछ बोलने को तैयार नहीं हैं।

प्रोडक्शन हाउस बरत रहा एहतियात
- इस फिल्म के लिए सेंसर बोर्ड का सर्टिफिकेट लेने के लिए किसी एजेंट की बजाय खुद प्रोडक्शन बोर्ड ने एप्लाई किया है।
- एप्लीकेशन के साथ बोर्ड को स्क्रिप्ट और डायलॉग की कॉपी भी देनी होती है। ऐसे में बताया जा रहा है कि प्रोडक्शन हाउस ने स्क्रिप्ट और डायलॉग की टायपिंग में बहुत एहतियात बरती है। उसे बाहर की बजाय प्रोडक्शन हाउस में ही टाइप किया गया है।

फिल्म पद्मावती को लेकर क्या आपत्ति है?
- राजस्थान में करणी सेना, बीजेपी लीडर्स और हिंदूवादी संगठनों ने इतिहास से छेड़छाड़ का आरोप लगाया है। राजपूत करणी सेना का मानना है कि ​इस फिल्म में पद्मिनी और खिलजी के बीच इंटीमेट सीन फिल्माए जाने से उनकी भावनाओं को ठेस पहुंची है। लिहाजा, फिल्म को रिलीज से पहले पार्टी के राजपूत प्रतिनिधियों को दिखाया जाना चाहिए। ऐसा करने से रिलीज के वक्त फिल्म के लिए सहूलियत रहेगी और तनाव के हालात से बचा जा सकेगा। अब राजस्थान के राजघराने भी विरोध में उतर आए हैं।

आगे की स्लाइड में पढ़ें, कहां से शुरू हुआ विवाद, डायरेक्टर का स्टैंड क्या है और कई राजघराने भी विरोध में...

Click to listen..