Hindi News »India News »Latest News »National» Paradise Papers: Data Leak Reveals Names Of Corporates Amitabh Bachchan, Panama Papers

पनामा हो या पैराडाइज पेपर: हर बार क्यों आता है अमिताभ बच्चन का नाम

dainikbhaskar.com | Last Modified - Nov 06, 2017, 10:56 AM IST

पनामा पेपर्स के बाद अब पैराडाइज पेपर्स ने अमिताभ बच्चन को विदेशों में काला धन छिपाने वालो की लिस्ट में शामिल किया है।
पनामा हो या पैराडाइज पेपर: हर बार क्यों आता है अमिताभ बच्चन का नाम, national news in hindi, national news
पनामा पेपर्स के बाद अब पैराडाइज पेपर्स ने बॉलीवुड के शहंशाह अमिताभ बच्चन को विदेशों में काला धन छिपाने वालो की लिस्ट में शामिल किया है।
इन पेपर्स में खुलासा किया गया है कि अमिताभ बच्चन भारत के उन 714 लोगों में शामिल हां जिन्होंने टैक्स हैवेन (वो देश जहां टेक्स कम लगता है) में फर्जी कंपनियों में पैसा लगाया।
हालांकि इस लिस्ट में कई रसूखदारों के नाम है लेकिन सवाल उठ रहा है कि खुद को हर बार पाक साफ कहने वाले अमिताभ बच्चन का नाम ही बार बार ऐसी लिस्ट में क्यों आता है।

क्या है अमिताभ और बरमूडा का कनेक्शन


पैराडाइज पेपर में कहा गया है कि अमिताभ बच्चन 2000 - 2002 के बीच काला धन सैट कराने वाली फर्मों की मदद से बरमूडा नामक देश में एक फर्जी मीडिया कंपनी में शेयरधारक बने थे। ये वो ही समय था जब अमिताभ ने केबीसी का पहला शो होस्ट किया था और वो आर्थिक तंगी से उबर चुके थे। अमिताभ ने जलवा नामक इस मीडिया कंपनी में पैसा लगाया औऱ उसमें उनके साथ साझीदार थे सिलिकॉन वैली के वैंचर इन्वेस्टर नवीन चड्ढा। 2000 में खुली ये कंपनी 2005 में बंद हो गई।

क्या काला धन छिपाने के लिए ली मदद?


अमिताभ का नाम आने से स्पष्ट हो रहा है कि अमिताभ ने अपनी कमाई पर टैक्स देने से बचने के लिए अपना पैसा बरमूडा की उस जाली कंपनी में लगाया जो शायद कभी आस्तित्तव में नहीं रही। ये वो दौर था जब अमिताभ अपनी आर्थिक तंगी से उबर चुके थे और उनके पास केबीसीएल की तरफ से अच्छा खासा पैसा आ गया था और वो फिर लाइमलाइट में आ गए थे।

क्या कहना है शहंशाह का

हालांकि अमिताभ बच्चन ने हमेशा ही ऐसे आरोपों का खंडन किया है। पेपर्स खुलासे से एक दिन पहले ही ब्लॉग लिखकर अमिताभ ने कहा कि पनामा पेपर्स में भी मेरा नाम आया था और मुझसे स्पष्टीकरण मांगा गया था। बदले में हमने आरोपों का खंडन करते हुए मेरा नाम इस्तेमाल करने का जवाब मांगा था जो कभी नहीं मिला।
अमिताभ ने लिखा कि वो सदैव ही एक जिम्मेदार नागरिक रहे हैं औऱ इस नाते उन्होंने हमेशा हर जांच में सहयोग दिया है और अगर आगे भी जांच होती है तो वो सहयोग करते रहेंगे।
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए India News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: pnaamaa ho yaa pairaadaaij pepar: har baar kyon aataa hai amitaabh bchchn ka naam
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

Stories You May be Interested in

      रिजल्ट शेयर करें:

      More From National

        Trending

        Live Hindi News

        0
        ×