• Home
  • National
  • Narendra Modi have no place for Dalits in their hearts says Rahul
--Advertisement--

राहुल ने दलितों से लिया 125 फीट लंबा तिरंगा, बोले- मोदी-रूपाणी को इसकी कद्र नहीं

राहुल को भेंट किए गए तिरंगे की लंबाई 125 फीट और चौड़ाई 83 फीट है। जबकि इसका वजन 240 किलो है।

Danik Bhaskar | Nov 24, 2017, 09:57 PM IST
राहुल ने दलितों से तिरंगा स्वीकार नहीं करने पर सीएम रूपाणी और नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा। राहुल ने दलितों से तिरंगा स्वीकार नहीं करने पर सीएम रूपाणी और नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा।

अहमदाबाद. गुजरात विधानसभा चुनाव में प्रचार के लिए कांग्रेस वाइस प्रेसिडेंट राहुल गांधी शुक्रवार सांणद में दलित कम्युनिटी के बीच पहुंचे। यहां उन्हें 125 फीट लंबा और 83.3 फीट चौड़ा तिरंगा भेंट किया गया। इस मौके पर राहुल ने कहा कि गुजरात के सीएम विजय रूपाणी और पीएम नरेंद्र मोदी के दिल में दलितों के लिए जगह नहीं है। उनके ऑफिस में सिर्फ 5-10 कारोबारियों के लिए ही जगह है। सीएम रूपाणी को दिया जाना था तिरंगा...

- न्यूज एजेंसी के मुताबिक, पहले यह तिरंगा 'छुआछूत मुक्त भारत' कैम्पेन के तहत मुख्यमंत्री रूपाणी को स्वतंत्रता दिवस से पहले भेंट किया जाना था। लेकिन कथित तौर पर सीएम ने इसे रखने के लिए जगह की कमी का हवाला दिया। उन्होंने इसे सिर्फ सांकेतिक तौर से स्वीकार किया था। इसके बाद से दलित समुदाय के लोग नाखुश थे।

- इस तिरंगे की लंबाई 125 फीट और चौड़ाई 83 फीट है। जबकि इसका वजन 240 किलो है।

राहुल ने क्या कहा?

- राहुल ने कहा, ''यह ध्वज सिर्फ आपका नहीं है, पूरा देश इससे जुड़ा है। मुख्यमंत्री ने भले ही कहा हो कि उनके पास झंडा रहने के लिए जगह नहीं। लेकिन मुझे कोई 50 हजार किलोमीटर का झंडा भी दे और जगह सिर्फ एक इंच हो तो मैं इंकार नहीं करूंगा। राष्ट्रध्वज के लिए मेरे दिल में बहुत जगह है।''
- ''रूपाणी और पीएम मोदी के दिल में और उनके ऑफिस के कोने में सिर्फ 5-10 कारोबारियों के लिए जगह है। जिसे वे गुजरात में जितनी चाहे जगह दे सकते हैं। उनके पास छोटे लोगों और राष्ट्रध्वज के लिए जगह नहीं।''

- राहुल ने कहा कि इस तिरंगे को वह दिल्ली के इंदिरा गांधी मेमोरियल म्यूजियम में रखेंगे।

राहुल गांधी शुक्रवार को सांणद में दलित कम्युनिटी के लोगों से मिले। राहुल गांधी शुक्रवार को सांणद में दलित कम्युनिटी के लोगों से मिले।