--Advertisement--

वक्त आ गया है कि GST-बेनामी कानून जैसे और नियम बनाए जाएं: नीति आयोग

नीति आयोग के वीसी राजीव कुमार ने रविवार को कहा कि रोजगार में पर्याप्त बढ़ोतरी हुई और इसके सबूत हैं।

Dainik Bhaskar

Nov 26, 2017, 02:44 PM IST
नीति आयोग ने कहा कि सरकार ने जी नीति आयोग ने कहा कि सरकार ने जी

नई दिल्ली. नीति आयोग के वाइस चेयरमैन राजीव कुमार ने कहा कि वक्त आ गया है कि जीएसटी-बेनामी कानून जैसे रिफॉर्म्स को सोशल सेक्टर में कामयाबी से लागू कराने पर फोकस किया जाए। इसके लिए सभी जरूरी कदम उठाएंगे, ताकि इनके मनमाफिक नतीजे मिल सकें। सरकार के बाकी 18 महीने के दौरान हेल्थ और एजुकेशन सिस्टम में सुधार को लेकर काम करेंगे। इम्प्लॉइमेंट में काफी बढ़ोतरी हुई और इसके सबूत हैं। रोजगार देने में कमी आई और इस पर चिंता जाहिर करना अतिश्योक्तिपूर्ण है। सरकार सिर्फ वही कर रही है, जो देशहित में है।

GST-बेनामी कानून जैसे कई बड़े सुधार हुए

- न्यूज एजेंसी को दिए इंटरव्यू में कुमार ने कहा, ''आप जानते हैं कि मोदी सरकार ने 42 महीने में कितना काम किया। सरकार ने कई कड़े और बड़े फैसले लिए। मेरा मानना है कि अब वक्त आ गया है कि जीएसटी और बेनामी कानून जैसे कई सुधारों को एकजुट किया जाए, ताकि इसके मनमाफिक नतीजे मिल सकें।''

- ''गुड्स एंड सर्विस टैक्स (जीएसटी), बेनामी प्रॉपर्टी ट्रांजैक्शन एक्ट और डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर स्कीम सरकार के बड़े रिफॉर्म्स हैं। हमें अब सोशल सेक्टर में इन्हें कामयाबी से लागू कराने पर फोकस करना है। इसके लिए जरूरी कदम उठाए जाएंगे। सरकार के बाकी 18 महीनों में हेल्थ और एजुकेशन सेक्टर पर फोकस करेंगे।''

इम्प्लॉइमेंट पर राजीव कुमार ने क्या कहा?

- मोदी सरकार अपने वादे के मुताबिक, लोगों को रोजगार नहीं दे पाई, सरकार की आलोचना हो रही है।

- इस पर राजीव कुमार ने कहा, ''बड़े पैमाने पर रोजगार के मौके बढ़े हैं। ईपीएफओ और नेशनल पेंशन स्कीम (NPS) अकाउंट्स बढ़े हैं। सर्विस सेक्टर खास तौर से टूरिज्म, सिविल एविएशन और ट्रांसपोर्ट सेक्टर में में उछाल आया है। कहना चाहता हूं कि रोजगार के मौकों में कमी आने की कहानी पूरी तरह से अतिश्योक्तिपूर्ण है।''

फरवरी में बजट पेश करने पर क्या कहा?


- यह पूछे जाने पर कि क्या पिछले साल फरवरी में बजट पेश करना मोदी सरकार का लुभावना फैसला था।
- कुमार ने कहा, ''सरकार वही करती है, जो देश के लिए सही है। ऐसे फैसले चुनाव को देखते हुए नहीं लिए जाते। केंद्र सरकार ने किसी भी तरीके से जनता को लुभाने में भरोसा नहीं किया। ऐसा आगे देखने भी नहीं मिलेगा। पीएम ने साफ कहा है कि सिर्फ वहीं करो, जो देश हित में है।''

इकोनॉमी पर राजीव कुमार ने क्या कहा?


- इकोनॉमी के मौजूदा हालात पर नीति आयोग के वीसी ने कहा, ''मूडीज ने रेटिंग बढ़ाई है। ये साफ संकेत है कि देश की इकोनॉमी में बदलाव हो रहा है। इन्वेस्टमेंट के साथ इकोनॉमी भी बढ़ रही है। हालांकि, एक्सपोर्ट सेक्टर में थोड़ी कमजोरी बनी हुई है, यह थोड़ा चिंताजनक है।''
- ''साल के पहले क्वार्टर में चालू वित्तीय घाटा 2.4% बढ़ा है। इससे भी चिंता करने की कोई जरूरत नहीं है, क्योंकि हमारे पास मजबूत फॉरेन करंसी रिजर्व है।''

X
नीति आयोग ने कहा कि सरकार ने जीनीति आयोग ने कहा कि सरकार ने जी
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..