Hindi News »National »Latest News »National» Union Minister Uma Bharti Writes Open Letter On Movie Padmavati Controversy

लड़कियों के चेहरे पर तेजाब डालने वाले खिलजी के वंशज: पद्मावती विवाद पर उमा

मूवी पद्मावती पर जारी विवाद के बीच शनिवार को उमा भारती ने ट्विटर पर एक खुला खत पोस्ट किया।

DainikBhaskar.com | Last Modified - Nov 04, 2017, 07:16 PM IST

    • VIDEO: उमा ने लिखा- पद्मावती को लेकर लोगों की आशंकाओं को वोट बैंक नहीं बनाना चाहिए
      नई दिल्ली. डायरेक्टर संजय लीला भंसाली की फिल्म पद्मावती पर जारी विवाद के बीच केंद्रीय मंत्री उमा भारती ने एक खुला खत लिखा है। उमा भारती ने लिखा, "आज भी मनचाहा रेस्पॉन्स नहीं मिलने पर कुछ लड़के, लड़कियों के चेहरे पर तेजाब डाल देते हैं। वो किसी भी धर्म या जाति के हों, मुझे अलाउद्दीन खिलजी के वंशज लगते हैं।" केंद्रीय मंत्री ने लिखा कि पद्मावती को लेकर लोगों की आशंकाओं को वोट बैंक नहीं बनाना चाहिए, इसका रास्ता निकालना चाहिए। उन्होंने शनिवार को ये खुला खत अपने ट्विटर हैंडल पर पोस्ट किया। बता दें कि राजपूत संगठन इस फिल्म का विरोध कर रहे हैं। इसके अलावा बीजेपी ने भी चुनाव आयोग, केंद्र सरकार और सेंसर बोर्ड को चिट्ठी लिखकर कहा कि ये फिल्म राजपूत समुदाय की भावनाओं को ठेस पहुंचा सकती है।

      पद्मावती विवाद पर उमा भारती ने खुले खत में क्या लिखा?

      1) आप फैक्ट का वॉयलेशन नहीं कर सकते
      - उमा भारती ने खुले खत में लिखा, "तथ्य को बदला नहीं जा सकता है। उसे अच्छा या बुरा कहा जा सकता है। सोचने की आजादी किसी की निंदा या स्तुति का अधिकार हमें देती है। जब आप किसी ऐतिहासिक तथ्य पर फिल्म बनाते हैं तो उसके फैक्ट को वॉयलेट नहीं किया जा सकता है।'
      2) पद्मावती पर खिलजी की बुरी नजर थी
      - "रानी पद्मावती की गाथा एक ऐतिहासिक तथ्य है। अलाउद्दीन खिलजी एक व्यभिचारी हमलावर था। उसकी बुरी नजर रानी पद्मावती पर थी और इसीलिए उसने चित्तौड़ को नष्ट कर दिया था।"
      3) पद्मावती के दुखद अंत के लिए वेदना होती है
      - "पद्मावती के पति राणा रतन सिंह अपने साथियों के साथ वीरगति को प्राप्त हुए थे। खुद पद्मावती ने उन हजारों औरतों के साथ जीवित ही खुद को आग के हवाले कर जौहर कर लिया था, जिनके पति वीरगति को प्राप्त हुए थे। हमने यही इतिहास पढ़ा है। आज भी खिलजी के लिए नफरत और पद्मावती के लिए सम्मान और उनके इस दुखद अंत के लिए वेदना होती है।'
      4) आज भी लड़कियों के चेहरे पर तेजाब डालते हैं लड़के
      - "आज भी मनचाहा रेस्पॉन्स नहीं मिलने पर कुछ लड़के, लड़कियों के चेहरे पर तेजाब डाल देते हैं। वो किसी भी धर्म या जाति के हों, मुझे अलाउद्दीन खिलजी के वंशज लगते हैं।'
      5) अभिव्यक्ति की भी सीमा होती है
      - उमा ने लिखा, "मैंने इस फिल्म के डायरेक्टर की फिल्में पहले भी देखी हैं। मैं सोचने की आजादी का सम्मान करती हूं। मानती हूं कि सोचे हुए को व्यक्त करने का मानव समाज को अधिकार है। लेकिन अभिव्यक्ति में कहीं तो एक सीमा होती है। जैसे कि आप बहन को पत्नी और पत्नी को बहन नहीं अभिव्यक्त कर सकते हैं। इसकी संभावना जानवरों में होती है, लेकिन स्वतंत्र चेतना के विश्व के किसी भी देश के किसी भी समाज के लोग इस मर्यादा के उल्लंघन की निंदा ही करेंगे।"
      6) रास्ता निकालकर बात खत्म कर दीजिए
      - "मैंने फिल्म नहीं देखी, लेकिन लोगों के मन में आशंकाएं क्यों उठ रही हैं? इन आशंकाओं का लुत्फ मत उठाइए, ना ही इससे कोई वोट बैंक बनाइए। कोई रास्ता यदि हो सकता है, जरूरी नहीं कि जो मैंने सुझाया है, वही हो। रास्ता निकालकर बात समाप्त कर दीजिए। लेकिन ये ध्यान रहे कि मैं आज की महिला हूं। जिस स्थिति में रहूंगी.. भूत, वर्तमान और भविष्य की भारतीय महिलाओं के लिए अपना कर्तव्य जरूर पूरा करूंगी।"
      क्यों है पद्मावती फिल्म पर विवाद?
      - राजपूत करणी सेना का मानना है कि ​इस फिल्म में पद्मिनी और खिलजी के बीच इंटीमेट सीन फिल्माए जाने से उनकी भावनाओं को ठेस पहुंचेगी। जिसके चलते पिछले काफी समय से विरोध हो रहा है। राजपूत करणी सेना ने कई जगह प्रदर्शन, और पुतले भी जलाए।
      - बीजेपी ने कहा कि फिल्म क्षत्रिय समुदाय की भावनाओं को ठेस पहुंचा सकती है। लिहाजा, फिल्म को रिलीज से पहले पार्टी के राजपूत प्रतिनिधियों को दिखाया जाना चाहिए। ऐसा करने से रिलीज के वक्त फिल्म के लिए सहूलियत रहेगी और तनाव के हालात से बचा जा सकेगा।
      फिल्म डायरेक्टर का स्टैंड क्या है?
      - पद्मावती का विरोध होने के बाद डायरेक्टर संजय लीला भंसाली ने कहा था कि इस फिल्म में ऐसा कुछ नहीं है, जिसे लेकर विरोध किया जा रहा है।
      - हाल ही में एक कलाकार ने पद्मावती की रंगोली बनाई,लेकिन कुछ लोगों ने ये रंगोली बिगाड़ दी। जिसके बाद फिल्म में पद्मावती का किरदार निभा रही दीपिका पादुकोण ने इन्फॉर्मेशन एंड ब्रॉडकास्टिंग मिनिस्टर स्मृति ईरानी को टैग करते हुए ट्वीट किया था कि इस तरह की घटनाओं पर एक्शन लिया जाना चाहिए।
      आगे की स्लाइड्स में देखें- उमा भारती का खुला खत...
    • लड़कियों के चेहरे पर तेजाब डालने वाले खिलजी के वंशज: पद्मावती विवाद पर उमा, national news in hindi, national news
      +4और स्लाइड देखें
      पद्मावती विवाद पर खुले खत में उमा ने लिखा कि अभिव्यक्ति की भी एक सीमा होती है। (फाइल)
    • लड़कियों के चेहरे पर तेजाब डालने वाले खिलजी के वंशज: पद्मावती विवाद पर उमा, national news in hindi, national news
      +4और स्लाइड देखें
      संजय लीला भंसाली की फिल्म पद्मावती में दीपिका पादुकोण लीड रोल में हैं।
    • लड़कियों के चेहरे पर तेजाब डालने वाले खिलजी के वंशज: पद्मावती विवाद पर उमा, national news in hindi, national news
      +4और स्लाइड देखें
      उमा ने अपने ट्विटर हैंडल पर शनिवार को खुला खत पोस्ट किया।
    • लड़कियों के चेहरे पर तेजाब डालने वाले खिलजी के वंशज: पद्मावती विवाद पर उमा, national news in hindi, national news
      +4और स्लाइड देखें
      उमा भारती ने खत में लिखा कि फिल्म पर उठ रही आशंकाओं को वोट बैंक नहीं बनाना चाहिए।
    आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
    दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

    More From National

      Trending

      Live Hindi News

      0

      कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
      Allow पर क्लिक करें।

      ×