--Advertisement--

हो सकता है राहुल नए साल की पार्टी में शामिल ना हो पाएं: विंटर सेशन पर जेटली

राहुल गांधी ने गुजरात में रैली के में कहा था- मोदी जी को मेरे सवालों का जवाब ना देना पड़े इसलिए पार्लियामेंट बंद कर दी।

Dainik Bhaskar

Nov 25, 2017, 09:55 PM IST
एक प्रोग्राम के दौरान राहुल गांधी और अरुण जेटली। - फाइल एक प्रोग्राम के दौरान राहुल गांधी और अरुण जेटली। - फाइल

अहमदाबाद. फाइनेंस मिनिस्टर अरुण जेटली ने शनिवार को कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी पर तंज कसा। उन्होंने मीडिया से कहा, "मुझे खेद है कि इस बार संसद का सत्र 15 दिसंबर से 5 जनवरी तक बुलाना पड़ा। शायद इस बार राहुल जी नए साल पर नहीं जा पाएंगे (नए साल पर विदेशों में पार्टी मनाने)।" बता दें कि शनिवार को ही राहुल गांधी ने गुजरात में एक रैली के दौरान कहा- मोदी जी को मेरे सवालों का जवाब ना देना पड़े इसलिए पार्लियामेंट ही बंद कर दी है।

और क्या कहा फाइनेंस मिनिस्टर जेटली ने?


कांग्रेस के वक्त भी ऐसा किया गया
- जेटली ने एक सवाल के जवाब में कहा, "ऐसा पहली बार नहीं हो रहा है। ये कांग्रेस के शासन में भी कई बार हुआ। पार्लियामेंट सेशन और इलेक्शन एक साथ नहीं हो सकते। कांग्रेस के शासन में भी जब इलेक्शन होती थीं तो पार्लियामेंट की डेट्स एडजस्ट की जाती थीं।"

जनता सबसे अहम, उसे प्राथमिकता मिलेगी
- उन्होंने कहा, "ऐसा करने के पीछे लोकतंत्र में एकदम साफ कारण बताया गया है। जनता सबसे अहम है और उसे प्राथमिकता मिलेगी। इसलिए जब आप जनता के सामने मुद्दों पर बहस कर रहे होते हैं तो पार्लियामेंट सेशन उस वक्त नहीं चल सकता।"

राहुल ने पार्लियामेंट सेशन पर क्या कहा?
- राहुल ने अरवाली में रैली के दौरान राफेल डील और अमित शाह के बेटे जय शाह पर नरेंद्र मोदी से तीन सवाल पूछे।
- राहुल ने कहा, "मोदी जी को मेरे सवालों का जवाब नहीं देना है इसलिए पार्लियामेंट बंद कर दी। मोदीजी अब कहते हैं कि ना बोलूंगा और ना बोलने दूंगा। वे चाहते हैं कि गुजरात की जनता सच्चाई को ना सुने।" (पूरी खबर पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें...)

इस बार विंटर सेशन कब से, पिछली बार क्या हुआ?
- पार्लियामेंट्री अफेयर्स मिनिस्टर अनंत कुमार ने बताया कि 25 दिसंबर से 26 दिसंबर को क्रिसमस का अवकाश रहेगा। सेशन 14 दिन का होगा। विंटर सेशन 15 दिसंबर से 5 जनवरी तक 14 दिन चलेगा। यह फैसला पार्लियामेंट्री अफेयर्स की कैबिनेट मीटिंग में लिया गया।
- पिछले साल विंटर सेशन 16 नवंबर से 9 दिसंबर तक रहा। नोटबंदी का विपक्ष ने विरोध किया और हंगामे की वजह से कामकाज नहीं हो सका। पीआरएस लेजिस्लेटिव रिसर्च के मुताबिक, इस सेशन में लोकसभा में 16% तो राज्यसभा में 18% ही प्रोडक्टिविटी रही है। यानी एवरेज 17% कामकाज हुआ। यह मोदी सरकार के ढाई साल के कार्यकाल में लोकसभा की सबसे कम प्रोडक्टिविटी थी।

राहुल ने गुजरात में रैली में कहा- पीएम ने पार्लियामेंट बंद कर दी ताकि सवालों के जवाब ना देने पड़ें। - फाइल राहुल ने गुजरात में रैली में कहा- पीएम ने पार्लियामेंट बंद कर दी ताकि सवालों के जवाब ना देने पड़ें। - फाइल
X
एक प्रोग्राम के दौरान राहुल गांधी और अरुण जेटली। - फाइलएक प्रोग्राम के दौरान राहुल गांधी और अरुण जेटली। - फाइल
राहुल ने गुजरात में रैली में कहा- पीएम ने पार्लियामेंट बंद कर दी ताकि सवालों के जवाब ना देने पड़ें। - फाइलराहुल ने गुजरात में रैली में कहा- पीएम ने पार्लियामेंट बंद कर दी ताकि सवालों के जवाब ना देने पड़ें। - फाइल
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..