Hindi News »National »Latest News »National» Saudi Arabia Intercepted And Destroyed A Ballistic Missile Over Riyadh

सऊदी अरब ने नाकाम किया हमला, यमन विद्रोहियों ने रियाद को बनाया था निशाना

सऊदी के स्पोक्सपर्सन ने बताया- मिसाइल रिहायशी इलाकों को निशाना बनाने के लिए दागी गई थी। पैट्रियट मिसाइल से खत्म कर दिया।

DainikBhaskar.com | Last Modified - Nov 05, 2017, 09:12 AM IST

  • सऊदी अरब ने नाकाम किया हमला, यमन विद्रोहियों ने रियाद को बनाया था निशाना, national news in hindi, national news
    +2और स्लाइड देखें
    जुलाई में भी यमन की तरफ से सऊदी पर मिसाइल हमला किया गया था, जिसे मक्का के पास खत्म कर दिया गया था। (फाइल)
    रियाद.   सऊदी अरब ने एक मिसाइल हमले को नाकाम कर दिया। ये बैलिस्टिक मिसाइल यमन से दागी गई थी। यमन के विद्रोहियों ने राजधानी रियाद को निशाना बनाया था। यमन के शिया समर्थित हूती विद्रोहियों ने इस हमले की जिम्मेदारी ली है। मिसाइल का मलबा रियाद के इंटरनेशनल एयरपोर्ट के अंदर गिरा।
     
     

    लोगों ने एक जोरदार धमाके की आवाज सुनी

     
    - न्यूज एजेंसी के मुताबिक, शनिवार को रियाद के लोगों ने किंग खालिद इंटरनेशनल एयरपोर्ट के पास एक जोरदार धमाके की आवाज सुनी। हालांकि अफसरों की मानें तो न तो कोई बड़ा नुकसान हुआ और न ही किसी की जान गई।
    - सऊदी के स्पोक्सपर्सन तुर्की अल-मालिकी के हवाले से प्रेस एजेंसी ने बताया कि शनिवार शाम यमन से राजधानी रियाद को निशाना बनाकर मिसाइल दागी गई थी।
    - "मिसाइल रिहायशी इलाकों को निशाना बनाने के लिए दागी गई थी। इसे सऊदी ने पैट्रियट मिसाइल से उसे खत्म कर दिया। मिसाइल का मलबा एयरपोर्ट के उस इलाके में गिरा जहां लोग नहीं थे। लिहाजा कोई नुकसान नहीं हुआ।"
    - हूती के अल-मसीरा चैनल के मुताबिक, मिसाइल रियाद से 1200 किमी दूर यमन के इलाके से दागी गई थी।
    - सऊदी की सिविल एविएशन अथॉरिटी का कहना है कि एयरपोर्ट सामान्य रूप से काम कर रह रहा है और फ्लाइट ऑपरेशन में किसी तरह की तब्दीली नहीं की गई है।
     

    जुलाई में भी हुआ था हमला

    - जुलाई में भी यमन की तरफ से सऊदी पर मिसाइल हमला किया गया था, जिसे मक्का के पास खत्म कर दिया गया था।
    - यमन में जंग चल रही है। 2015 में सऊदी अरब ने यमन में स्थिति सुधारने के लिए मिलिट्री भेजी थी। इसके बाद से यमन से हमले हो रहे हैं। 
    - हूती विद्रोही यमन प्रेसिडेंट अबेद्राबो मंसूर को बर्खास्त करना चाहते हैं लेकिन सऊदी अरब मंसूर की मदद कर रहा है।
    - मौजूदा वक्त में सऊदी अरब की हालात कुछ ठीक नहीं है। सऊदी को उम्मीद थी कि वह ईरान के प्रसार पर कुछ लगाम लगा लेगा। लेकिन वह यमन की राजधानी सना से ईरान समर्थित हूती विद्रोहियों को बाहर करने में नाकाम रहा।
    - यमन की तरफ से सऊदी पर मिसाइल हमले तो किए ही जाते हैं, साथ ही विद्रोही सीमा पार घुसपैठ की कोशिश भी करते रहते हैं। सऊदी में सीमा पर स्थित जिजान और नजरान प्रॉविंस में मोर्टार से स्कूल, घरों और मस्जिदों को निशाना बनाया जाता है। सीमा पर मौजूद शहरों से हजारों लोगों को सुरक्षित जगहों पर भेजा जा चुका है।
     
    जूझ रहा है यमन
    - यमन में लगातार जंग जारी है। यूनाइटेड नेशंस की अगुआई में पॉलिटिकल सेटलमेंट की कोशिशें नाकाम हो चुकी हैं। 
    - यमन में कोएलिशन फोर्स के दखल देने के बाद से 8 हजार 600 लोग मारे जा चुके हैं। अप्रैल से अब तक कॉलरा के चलते 2100 लोगों की मौत हो चुकी है।
  • सऊदी अरब ने नाकाम किया हमला, यमन विद्रोहियों ने रियाद को बनाया था निशाना, national news in hindi, national news
    +2और स्लाइड देखें
    यमन में जंग चल रही है। 2015 में सऊदी अरब ने यमन में स्थिति सुधारने के लिए मिलिट्री भेजी थी। इसके बाद से यमन से हमले हो रहे हैं।
  • सऊदी अरब ने नाकाम किया हमला, यमन विद्रोहियों ने रियाद को बनाया था निशाना, national news in hindi, national news
    +2और स्लाइड देखें
    सऊदी के स्पोक्सपर्सन तुर्की अल-मालिकी के हवाले से प्रेस एजेंसी ने बताया कि शनिवार शाम यमन से राजधानी रियाद को निशाना बनाकर मिसाइल दागी गई थी। (फाइल)
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From National

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×