• Home
  • National
  • trump daughter says ges 2017 summit a testament to strong india us friendship
--Advertisement--

भारत-US की मजबूत दोस्ती का गवाह बनेगा ग्लोबल एंटरप्रेन्योर समिट: इवांका

इवांका बोलीं, थीम वुमन फर्स्ट एंड प्रॉस्पेरिटी फॉर ऑल रखी गई है। ये महिलाओं के प्रति आयोजकों का नजरिया दिखाता है।

Danik Bhaskar | Nov 22, 2017, 01:31 PM IST
इवांका ने कहा कि भारत अमेरिका का खास दोस्त और पार्टनर है। दोनों देशों के बीच इकोनॉमिक और सिक्युरिटी पार्टनरशिप से ही रिश्ते और मजबूत होंगे। इवांका ने कहा कि भारत अमेरिका का खास दोस्त और पार्टनर है। दोनों देशों के बीच इकोनॉमिक और सिक्युरिटी पार्टनरशिप से ही रिश्ते और मजबूत होंगे।

वॉशिंगटन. इवांका ट्रम्प ने कहा कि ग्लोबल एंटरप्रेन्योर समिट (GES-2017) भारत और अमेरिका की मजबूत दोस्ती का गवाह बनेगा। हैदराबाद में 28-30 नवंबर तक 3 दिन की समिट हो रही है। डोनाल्ड ट्रम्प के बेटी इवांका की अगुआई में ही समिट में अमेरिकी डेलिगेशन भारत आ रहा है। समिट का इनॉरेशन नरेंद्र मोदी करेंगे। इवांका भी इसमें स्पीच देंगी।


समिट की थीम- वुमन फर्स्ट एंड प्रॉस्पेरिटी फॉर ऑल

- न्यूज एजेंसी के मुताबिक भारत दौरे से पहले इवांका ने कहा, "ये समिट आठवीं बार हो रही है। पहली बार थीम 'वुमन फर्स्ट एंड प्रॉस्पेरिटी फॉर ऑल' रखी गई है। ये आर्थिक रूप से ताकतवर महिलाओं के प्रति आयोजकों का नजरिया दिखाता है।"
- समिट में 170 देशों के 1500 एंटरप्रेन्योर हिस्सा लेंगे। अमेरिका के करीब 350 पार्टिसिपेंट्स शामिल हो रहे हैं, जिसमें ज्यादातर भारतीय मूल के अमेरिकी होंगे।
- समिट में अमेरिका से ट्रेजरर जोविता कैरांजा, ऑफिस ऑफ इन्फॉर्मेशन एंड रेग्युलेटरी अफेयर्स की नाओमी राव, USAID एडमिनिस्ट्रेटर मार्क ग्रीन और ओवरसीज प्राइवेट इन्वेस्टमेंट कॉरपोरेशन के प्रेसिडेंट-सीईओ रे वाशबर्न शामिल होंगे।

समिट में खास?

- GES-2017 में शामिल होने वालों में एंटरप्रेन्योर और इन्वेस्टर्स में 52.5% महिलाएं होंगी।
- अमेरिकी विदेश विभाग के मुताबिक अफगानिस्तान, सऊदी अरब और इजरायल समेत 10 देशों के डेलिगेशन में सब महिलाएं ही होंगी।
- वहीं, समिट में शामिल होने जा रहे 31.5% पार्टिसिपेंट्स की उम्र 30 साल या उससे कम है। इसमें सबसे यंग 13 साल और सबसे उम्रदराज एंटरप्रेन्योर 84 साल के हैं।

क्या बोलीं इवांका?

- "भारत अमेरिका का खास दोस्त और पार्टनर है। दोनों देशों के बीच इकोनॉमिक और सिक्युरिटी पार्टनरशिप से ही रिश्ते और मजबूत होंगे।"
- अफसरों की मानें तो भारत दौरे में इवांका कई जगह घूमने जाएंगी, जिसमें हैदराबाद की चारमीनार भी शामिल है।

US नहीं चाहता इवांका के दौरे की डिटेल दुनिया को पता चले

- अमेरिकी अफसरों ने बताया, ''इवांका ट्रम्प अपने पहले दौरे पर एशिया आ रही हैं। सरकार को लगता है कि यहां उनके लिए खतरा ज्यादा हो सकता है।''
- वहीं, तेलंगाना सरकार के सेक्रेटरी (आईटी एंड कॉमर्स) जयेश रंजन ने बताया- यूएस अफसरों को लगता है कि इवांका की विजिट से जुड़ी काफी जानकारियां बाहर आ चुकी हैं। यहां उनकी सिक्युरिटी को लेकर खतरे की आशंका है। वे हैदराबाद विजिट कैंसल भी कर सकते हैं।
- रंजन ने कहा, ''हमें खुद अब तक इस विजिट की पूरी जानकारी नहीं है। हमने यूएस अफसरों से पूछा कि क्या इवांका को एयरपोर्ट पर रिसीव करने के लिए तेलंगाना सरकार के अफसरों को मौजूद रहना होगा? इस पर उनकी ओर से कहा गया कि किसी को वहां आने की जरूरत नहीं है और वे नहीं चाहते कि इवांका के एयरपोर्ट पहुंचने की टाइमिंग और अन्य जानकारियां दुनिया को पता चलें।''
- बता दें कि सरकार ये सफाई लोकल मीडिया में इवांका के दौरे के शेड्यूल की कथित जानकारी लीक होने के बात सामने आई है। इसमें बताया गया था कि इवांका इन जगहों का दौरा कर सकती हैं।

इवांका ट्रम्प की एडवाइजर भी हैं। मोदी ने अमेरिका दौरे में इवांका को भारत आने का न्योता दिया था। इवांका ट्रम्प की एडवाइजर भी हैं। मोदी ने अमेरिका दौरे में इवांका को भारत आने का न्योता दिया था।