• Hindi News
  • National
  • Uma Bharti on Padmavati: Uma Bharti Tweet on Padmavati Film Censor Board Ek Swatantra Sanstha Hai
--Advertisement--

पद्मावती फिल्म में काम करने वालों को गलती नहीं, स्क्रिप्ट राइटर इसके जिम्मेदार: उमा

विवाद सात राज्यों तक पहुंच गया है। राजपूत करणी सेना ने कहा- फिल्म रिलीज हुई तो दीपिका की नाक काट लेंगे।

Dainik Bhaskar

Nov 16, 2017, 04:05 PM IST
उमा ने लिखा- पद्मावती  के डायरे उमा ने लिखा- पद्मावती के डायरे

नई दिल्ली. फिल्म पद्मावती पर चल रहे विवाद पर केंद्रीय मंत्री उमा भारती ने इस बार फिल्म में काम कर रहे एक्टर और एक्ट्रेस का बचाव किया है। उन्होंने गुरुवार को कहा कि विरोध करते वक्त हमें महिलाओं के सम्मान का ध्यान रखना होगा। साथ ही कहा कि विवाद के लिए स्क्रिप्ट राइटर और डायरेक्टर जिम्मेदार हैं। उन्होंने कुछ दिन पहले फिल्म को लेकर ओपन लेटर भी लिखा था। बता दें कि संजय लीला भंसाली की इस फिल्म का विरोध मध्यप्रदेश, राजस्थान, महाराष्ट्र, उत्तरप्रदेश और कर्नाटक जैसे राज्यों तक पहुंच गया है। राजपूत करनी सेना ने दीपिका पादुकोण की नाक काटने तक की धमकी दे दी।

- उमा भारती ने पद्मावती को लेकर ट्वीट किए। उन्होंने लिखा- "जब हम पद्मावती के सम्मान की बात करते हैं, तो हमें सभी महिलाओं के सम्मान का ध्यान रखना होगा। फिल्म पद्मावती को लेकर उसमें काम करने वाली अभिनेत्री या अभिनेताओं के बारे में कोई भी टिप्पणी उचित नहीं है। उनकी आलोचना अनैतिक होगी।"

स्क्रिप्ट राइटर जिम्मेदार
- उमा ने लिखा- "पद्मावती फिल्म के डायरेक्टर और सहयोगी के रूप में उनके स्क्रिप्ट राइटर ही कथानक के लिए जिम्मेदार हैं। उन्हें ही लोगों की भावनाओं और ऐतिहासिक तथ्यों का ध्यान रखना था।"

- "मुझे भरोसा दिलाया गया है कि सेंसर बोर्ड उन सब बातों का ध्यान रखेगा, जिन पर आपत्ति की जा रही है। मुझे विश्वास है कि उनके जानकारी में भी चारों तरफ से आ रही आशंकाएं और आपत्तियां होंगी।"
- "फिल्म सेंसर बोर्ड एक स्वतंत्र संस्था है। वह सबकी भावनाओं का ध्यान रखकर ही फिल्म को रिलीज करे। ऐसी हम सब की अपेक्षा है।"

उमा भारती ने लिखा था ओपन लेटर
- उमा भारती ने ओपन लेटर में लिखा था- "आज भी मनचाहा रेस्पॉन्स नहीं मिलने पर कुछ लड़के, लड़कियों के चेहरे पर तेजाब डाल देते हैं। वो किसी भी धर्म या जाति के हों, मुझे अलाउद्दीन खिलजी के वंशज लगते हैं। पद्मावती को लेकर लोगों की आशंकाओं को वोट बैंक नहीं बनाना चाहिए, इसका रास्ता निकालना चाहिए।

- उन्होंने ये खुला खत अपने ट्विटर हैंडल पर पोस्ट किया।

फिल्म पद्मावती को लेकर क्या आपत्ति है?

- राजस्थान में करणी सेना, बीजेपी लीडर्स और हिंदूवादी संगठनों ने इतिहास से छेड़छाड़ का आरोप लगाया है। राजपूत करणी सेना का मानना है कि ​इस फिल्म में पद्मिनी और खिलजी के बीच इंटीमेट सीन फिल्माए जाने से उनकी भावनाओं को ठेस पहुंची है। लिहाजा, फिल्म को रिलीज से पहले पार्टी के राजपूत प्रतिनिधियों को दिखाया जाना चाहिए।

- अब ये विरोध मध्यप्रदेश, राजस्थान, महाराष्ट्र, उत्तरप्रदेश और कर्नाटक तक पहुंच गया है। करणी सेना ने 1 दिसंबर को भारत बंद का एलान किया है।

कहां से शुरू हुआ विवाद?
- राजस्थान में फिल्म शूटिंग के दौरान इसके विरोध की शुरुआत हुई थी। शूटिंग के वक्त राजपूत करणी सेना ने कई जगह प्रदर्शन किया था और पुतले फूंके थे। जयपुर में शूटिंग के दौरान कुछ लोगों ने संजय लीला भंसाली से बदसलूकी की थी, जिसके बाद कोल्हापुर में फिल्म का सेट लगाया तो यहां भी इसे जला दिया गया।
- इसके बाद मूवी का विरोध देशभर में बढ़ता गया।

X
उमा ने लिखा- पद्मावती  के डायरेउमा ने लिखा- पद्मावती के डायरे
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..