Hindi News »National »Latest News »National» Union Minister Giriraj Singh Said Does Sanjay Bhansali Have Guts To Make Films On Other Religions

क्या भंसाली में किसी और मजहब पर फिल्म बनाने का दम है: 'पद्मावती' पर केंद्रीय मंत्री

संजय लीला भंसाली की फिल्म 'पद्मावती' पर विवाद बढ़ता जा रहा है।

DainikBhaskar.com | Last Modified - Nov 05, 2017, 04:56 PM IST

नई दिल्ली.डायरेक्टर संजय लीला भंसाली की फिल्म 'पद्मावती' पर विवाद बढ़ता जा रहा है। रविवार को इस मामले में मोदी सरकार के एक और मंत्री कूद पड़े। केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने कहा, "क्या भंसाली में दम है कि किसी और मजहब पर फिल्म बनाएं, या उन पर कमेंट करें?" यह फिल्म 1 दिसंबर को रिलीज होने वाली है। बता दें कि शनिवार को यूनियन ड्रिंकिंग वाटर एंड सैनिटेशन मिनिस्टर उमा भारती ने फिल्म पर सवाल उठाते हुए ट्विटर पर एक खुला खत जारी किया था। हालांकि इन्फॉर्मेशन एंड ब्रॉडकास्टिंग मिनिस्टर स्मृति ईरानी यह कह चुकी हैं कि फिल्म रिलीज को लेकर कोई दिक्कत ना हो, इसके लिए सरकार ध्यान रखेगी।


हम ये सब और बर्दाश्त नहीं करेंगे: गिरिराज


- न्यूज एजेंसी एएनआई के मुताबिक मोदी सरकार में माइक्रो, स्मॉल एंड मीडियम एंटरप्राइजेज के राज्य मंत्री गिरिराज सिंह ने कहा, "वे (भंसाली) हिंदू गुरुओं, देवताओं और योद्धाओं पर फिल्म बनाते हैं। हम ये सब अब और बर्दाश्त नहीं करेंगे।"

ऐतिहासिक तथ्यों से छेड़छाड़ नहीं होनी चाहिए: उमा


- उमा भारती ने अपने खत में कहा है, "फिल्मों में ऐतिहासिक तथ्यों से छेड़छाड़ नहीं होनी चाहिए। अलाउद्दीन खिलजी की रानी पद्मावती पर बुरी नजर थी और इसके लिए उसने चित्तौड़ को नष्ट कर दिया था। उमा ने सलाह दी थी कि विवाद को सुलझाने के लिए रिलीज से पहले इतिहासकार, फिल्मकार, आपत्ति करने वाले समुदाय के प्रतिनिधि एवं सेंसर बोर्ड मिलकर कमेटी बनाएं और इस पर फैसला करें।"

हमें आज भी खिलजी से नफरत है


- केंद्रीय मंत्री उमा भारती ने लिखा, "तथ्य को बदला नहीं जा सकता, उसे अच्छा या बुरा कहा जा सकता है। सोचने की आजादी किसी भी तथ्य की निंदा या स्तुति का अधिकार हमें देती है। रानी पद्मावती की गाथा ऐतिहासिक तथ्य है। रानी पद्मावती के पति राणा रतन सिंह अपने साथियों के साथ वीर गति को प्राप्त हुए थे। हजारों स्त्रियां, जिनके पति वीर गति को प्राप्त हो गए थे, उनके साथ रानी पद्मावती ने खुद को आग के हवाले कर जौहर कर लिया था। हमने इतिहास में यही पढ़ा है और आज भी खिलजी से नफरत और पद्मावती के लिए सम्मान एवं उनके दुखद अंत के लिए बहुत वेदना होती है।"

लड़कियों पर तेजाब डालने वाले खिलजी के वंशज


- उमा ने खत में यह भी लिखा, "आज भी मनचाहा रिस्पॉन्स नहीं मिलने पर कुछ लड़के, लड़कियों के चेहरे पर तेजाब डाल देते हैं। वो सब किसी भी धर्म या जाति के हों, मुझे अलाउद्दीन खिलजी के ही वंशज लगते हैं। मैं सोचने की आजादी का सम्मान करती हूं, लेकिन अभिव्यक्ति में कहीं तो एक सीमा होती है।"

राजपूत करणी सेना को भी है एतराज


- राजस्थान की राजपूत करणी सेना का मानना है कि ​इस फिल्म में पद्मावती और खिलजी के बीच इंटीमेट सीन फिल्माए गए हैं जिससे लोगों की भावनाओं को ठेस पहुंचेगी। करणी सेना काफी दिनों से फिल्म का विरोध कर रही है। इसने कई जगह प्रदर्शन और पुतले भी जलाए हैं।

भंसाली का क्या कहना है?


- 'पद्मावती' का विरोध होने के बाद डायरेक्टर संजय लीला भंसाली ने कहा था कि इस फिल्म में ऐसा कुछ नहीं है, जिसे लेकर विरोध किया जा रहा है।
- हाल ही में एक आर्टिस्ट ने पद्मावती की रंगोली बनाई थी, लेकिन कुछ लोगों ने ये रंगोली बिगाड़ दी, जिसके बाद फिल्म में पद्मावती का किरदार निभा रही दीपिका पादुकोण ने स्मृति ईरानी को टैग करते हुए ट्वीट किया था कि इस तरह की घटनाओं पर एक्शन लिया जाना चाहिए।
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From National

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×