Hindi News »India News »Latest News »National» What Is Paradise Papers, For Which 1.34 Million Records Related To Tax Evasion Of 180 Countries Were Discovered

क्या है पैराडाइज पेपर्स, जिनके लिए टैक्स चोरी से जुड़े 1.34 करोड़ रिकॉर्ड खंगाले गए

DainikBhaskar.com | Last Modified - Nov 06, 2017, 10:15 PM IST

पैराडाइज पेपर्स के जरिए 180 देशों के टैक्स चोरी से जुड़े डॉक्यूमेंट्स उजागर किए गए हैं।
    • VIDEO: 96 मीडिया ऑर्गनाइजेशंस के साथ मिलकर इंटरनेशनल कॉन्सोर्टियम ऑफ इंवेस्टिगेटिव जर्नलिस्ट्स ने यह छानबीन की है। -सिम्बॉलिक इमेज
      नई दिल्ली. पैराडाइज पेपर्स के जरिए 180 देशों के टैक्स चोरी से जुड़े 1 करोड़ 34 लाख दस्तावेजों का खुलासा किया गया है। 96 मीडिया ऑर्गनाइजेशंस के साथ मिलकर इंटरनेशनल कॉन्सोर्टियम ऑफ इंवेस्टिगेटिव जर्नलिस्ट्स (ICIJ) ने पैराडाइज पेपर्स नाम से डॉक्यूमेंट्स की छानबीन की है। इसमें उन फर्म और फर्जी कंपनियों के बारे में बताया गया है जो दुनिया भर में अमीरों और ताकवर लोगों का पैसा दूसरे देशों में भेजने में उनकी मदद करते हैं। पैराडाइज पेपर्स लीक में केंद्रीय मंत्री जयंत सिन्हा, फिल्म स्टार अमिताभ बच्चन के अलावा कुछ नेताओं और कारोबारियों के नाम हैं।

      क्या है पैराडाइज पेपर्स?

      - जर्मन अखबार Süddeutsche Zeitung को बरमूडा की कंपनी Appleby, सिंगापुर के Asiaciti ट्रस्ट और टैक्स चोरी करने वालों का स्वर्ग समझे जाने वाले 19 देशों में कराई गई कार्पोरेट रजिस्ट्रियों से जुड़े करीब 1 करोड़ 34 लाख डॉक्युमेंट्स मिले।
      - Süddeutsche Zeitung वही अखबार है, जिसने 18 महीने पहले पनामा पेपर्स का खुलासा किया था।
      - जर्मन अखबार ने ये डॉक्युमेंट्स ICIJ के साथ साझा किए।
      - ICIJ ने अपनी वेबसाइट पर भी दस्तावेजों की जांच के बाद सामने आए तमाम नामों कि लिस्ट जारी की। इसे www.icij.org पर देखा जा सकता है।
      - इस लीक का केंद्र Appleby नाम की एक लॉ फर्म है जो बरमूडा, ब्रिटेन के वर्जिन आईलैंड, केमैन आईलैंड, आइल ऑफ मैन और जर्सी से ऑपरेट करती है।
      - अंग्रेजी अखबार इंडियन एक्सप्रेस ने भारत से जुड़े सभी दस्तावेजों की पड़ताल की। यह अखबार भी ICIJ का मेंबर है।

      पनामा पेपर्स में भी आया था भारतीयों का नाम

      - इससे पहले 2016 में ब्रिटेन में पनामा की लॉ फर्म के 1 करोड़ 15 लाख टैक्स डॉक्युमेंट्स लीक हुए थे।
      - उन दस्तावेजों के मुताबिक- व्लादिमीर पुतिन, नवाज शरीफ, शी जिनपिंग और फुटबॉलर लियोनल मैसी ने बहुत बड़ी रकम टैक्स हैवन कंट्रीज में जमा की थी।
      - इन पेपर्स में अमिताभ बच्चन और ऐश्वर्या राय बच्चन समेत कई भारतीयों के भी नाम सामने आए थे।
    • क्या है पैराडाइज पेपर्स, जिनके लिए टैक्स चोरी से जुड़े 1.34 करोड़ रिकॉर्ड खंगाले गए, national news in hindi, national news
      +6और स्लाइड देखें
    • क्या है पैराडाइज पेपर्स, जिनके लिए टैक्स चोरी से जुड़े 1.34 करोड़ रिकॉर्ड खंगाले गए, national news in hindi, national news
      +6और स्लाइड देखें
    • क्या है पैराडाइज पेपर्स, जिनके लिए टैक्स चोरी से जुड़े 1.34 करोड़ रिकॉर्ड खंगाले गए, national news in hindi, national news
      +6और स्लाइड देखें
    • क्या है पैराडाइज पेपर्स, जिनके लिए टैक्स चोरी से जुड़े 1.34 करोड़ रिकॉर्ड खंगाले गए, national news in hindi, national news
      +6और स्लाइड देखें
    • क्या है पैराडाइज पेपर्स, जिनके लिए टैक्स चोरी से जुड़े 1.34 करोड़ रिकॉर्ड खंगाले गए, national news in hindi, national news
      +6और स्लाइड देखें
    • क्या है पैराडाइज पेपर्स, जिनके लिए टैक्स चोरी से जुड़े 1.34 करोड़ रिकॉर्ड खंगाले गए, national news in hindi, national news
      +6और स्लाइड देखें
    आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
    दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए India News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
    Web Title: What Is Paradise Papers, For Which 1.34 Million Records Related To Tax Evasion Of 180 Countries Were Discovered
    (News in Hindi from Dainik Bhaskar)

    Stories You May be Interested in

        रिजल्ट शेयर करें:

        More From National

          Trending

          Live Hindi News

          0
          ×