--Advertisement--

INX मीडिया केस: कार्ति चिदंबरम को मुंबई लाई सीबीआई, पीटर-इंद्राणी के सामने बैठाकर होगी पूछताछ

कोर्ट ने कार्ति चिदंबरम को सीबीआई कस्टडी के दौरान सुबह और शाम 1-1 घंटे वकील से मिलने की इजाजत दी है।

Danik Bhaskar | Mar 04, 2018, 10:46 AM IST
28 फरवरी को कार्ति चिदंबरम को चेन्नई एयरपोर्ट पर गिरफ्तार कर लिया गया था। बाद में दिल्ली लाया गया। (फाइल) 28 फरवरी को कार्ति चिदंबरम को चेन्नई एयरपोर्ट पर गिरफ्तार कर लिया गया था। बाद में दिल्ली लाया गया। (फाइल)

नई दिल्ली. सीबीआई रविवार को आईएनएक्स मीडिया प्राइवेट लिमिटेड करप्शन केस के आरोपी कार्ति चिदंबरम को लेकर मुंबई पहुंची। यहां आईएनएक्स के पूर्व डायरेक्टर इंद्राणी मुखर्जी और पीटर मुखर्जी के साथ आमने-सामने बैठाकर पूछताछ की। करीब 4 घंटे तक जांच एजेंसी ने कई सवाल किए। इसके बाद, कार्ति को वापस दिल्ली ले जाया गया। इस दौरान कार्ति ने कहा कि उनके खिलाफ लगाए गए सारे आरोप झूठे और राजनीति से प्रेरित हैं। बता दें कि इंद्राणी और पीटर शीना बोरा मर्डर केस में जेल में हैं। ऐसा आरोप है कि कार्ति ने आईएनएक्स मीडिया के एफआईपीबी क्लीयरेंस के लिए करीब 6.5 करोड़ रुपए ($1 मिलियन) रिश्वत देन की मांग की थी।

कार्ति से लगातार तीसरे दिन पूछताछ

- सीबीआई ने कार्ति चिंदबरम से लगातार तीसरे दिन पूछताछ की। जांच एजेंसी के 6 सदस्यों की एक टीम ने सबसे पहले भायखला जेल में इंद्राणी से कार्ति का आमना-सामना कराया। इसके बाद, कार्ति को ऑर्थर जेल ले जाया गया है, जहां पीटर मुखर्जी बंद हैं।

- हालांकि, इस बात का खुलासा नहीं हो सका कि जांच एजेंसी ने इन तीनों को बारी-बारी से साथ बैठाकर किस तरह के सवाल किए।

- कार्ति को 28 फरवरी को चेन्नई एयरपोर्ट से उस वक्त गिरफ्तार कर लिया गया था, जब वह लंदन से लौटे थे। बाद में उन्हें दिल्ली की पटियाला कोर्ट ने उन्हें छह मार्च तक के लिए हिरासत में भेज दिया था। कोर्ट ने कार्ति चिदंबरम को सीबीआई कस्टडी के दौरान सुबह और शाम 1-1 घंटे वकील से मिलने की इजाजत दी है। कस्टडी के दौरान वे डॉक्टर की सलाह पर दवाएं भी ले सकते हैं, लेकिन घर का खाना उन्हें नहीं दिया जा सकेगा।

- बता दें कि कार्ति चिंदबरम पूर्व केंद्रीय मंत्री पी चिदंबरम के बेटे हैं।

क्या है INX मामला, कार्ति पर क्या हैं आरोप?
- कार्ति पर आरोप है कि उन्होंने आईएनएक्स मीडिया के लिए गलत तरीके से फॉरन इन्वेस्टमेंट प्रमोशन बोर्ड (FIPB) की मंजूरी ली। इसके बाद आईएनएक्स को 305 करोड़ का फंड मिला। इसके बदले में कार्ति को 10 लाख डॉलर की रिश्वत मिली। इसके बाद आईएनएक्स मीडिया और कार्ति से जुड़ी कंपनियों के बीच डील के तहत 3.5 करोड़ का लेनदेन हुआ।
- कार्ति पर यह भी आरोप है कि उन्होंने इंद्राणी की कंपनी के खिलाफ टैक्स का एक मामला खत्म कराने के लिए अपने पिता के रुतबे का इस्तेमाल किया।

पी चिदंबरम की क्या भूमिका थी?
- आईएनएक्स मामले में दर्ज एफआईआर में पी चिदंबरम का नाम नहीं है। हालांकि, आरोप है कि उन्होंने 18 मई 2007 की फॉरेन इन्वेस्टमेंट प्रमोशन बोर्ड (एफआईपीबी) की एक मीटिंग में आईएनएक्स मीडिया में 4.62 करोड़ रुपए के फॉरेन इन्वेस्टमेंट को मंजूरी दी थी।

कौन हैं इंद्राणी और पीटर मुखर्जी?
- 2002 में पीटर मुखर्जी और इंद्राणी की शादी हुई थी। पीटर स्टार इंडिया के सीईओ रहे हैं। उनकी पत्नी इंद्राणी आईएनएक्स मीडिया की सीईओ रही हैं।
- शीना इंद्राणी की पहली शादी से हुई बेटी थी। जबकि संजीव खन्ना इंद्राणी का दूसरा पति है। पीटर से शादी से पहले इंद्राणी और संजीव का तलाक हुआ था। इंद्राणी शीना को अपनी छोटी बहन बताती थी। मुंबई पुलिस ने इंद्राणी मुखर्जी और उसके पति पीटर मुखर्जी को शीना बोरा हत्याकांड में अगस्त 2015 में गिरफ्तार किया। शीना बोरा की हत्या के आरोप में इंद्राणी फिलहाल भायखला महिला जेल में बंद है। जबकि पीटर मुखर्जी आर्थर रोड जेल में है।

शीना बोरा की हत्या के आरोप में इंद्राणी फिलहाल भायखला महिला जेल में बंद है। जबकि पीटर मुखर्जी आर्थर रोड जेल में है। (फाइल) शीना बोरा की हत्या के आरोप में इंद्राणी फिलहाल भायखला महिला जेल में बंद है। जबकि पीटर मुखर्जी आर्थर रोड जेल में है। (फाइल)