--Advertisement--

तेंडुलकर की घटिया हेलमेट बनाने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई मांग

केंद्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी को लिखा पत्र।

Danik Bhaskar | Mar 20, 2018, 04:40 PM IST
सचिन सुरक्षित रूप से टू-व्हीलर्स ड्राइविंग को लेकर चला रहे अभियान। सचिन सुरक्षित रूप से टू-व्हीलर्स ड्राइविंग को लेकर चला रहे अभियान।

नई दिल्ली. क्रिकेट आइकॉन और राज्य सभा सदस्य सचिन तेंडुलकर ने घटिया किस्म के हेलमेट बनाने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने की मांग की है। इस संबंध में उन्होंने केंद्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी को एक पत्र भी लिखा है। सुरक्षित रूप से टू-व्हीलर्स ड्राइविंग को लेकर चलाए जा रहे अपने अभियान के तहत तेंडुलकर ने यह मांग की है।

तेंडुलकर ने पत्र में क्या लिखा

जब हम मैदान पर खेलने जाते हैं, तो एक खिलाड़ी के रूप में हम असली हाई क्वालिटी के सेफ्टी उपकरणों की महत्ता को समझता हूं। ऐसे ही असली हाई क्वालिटी के स्टैंडर्ड टू व्हीलर सवारों के मामले में भी इस्तेमाल किए जाने की जरूरत है।

70 फीसदी बाइकर लगाते हैं घटिया हेलमेट

- मीडिया रिपोर्टों का हवाला देते हुए तेंडुलकर ने कहा है कि भारत में 70 फीसदी बाइक राइडर घटिया किस्म के हेलमेटों का इस्तेमाल करते हैं।

- यह अलार्मिंग सिचुएशन है, क्योंकि कुल सड़क दुर्घटनाओं में 30 फीसदी टू-व्हीलर्स शिकार बनते हैं।

- टू-व्हीलर्स चलाने वाले सभी लोग यदि असली हेलमेट पहनें तो दुर्घटना का शिकार हुए 42 फीसदी लोगों की जान बचाई जा सकती है।

मंत्रालय के काम को सराहा

पत्र में तेंडुलकर ने लिखा, 'मैं समझता हूं कि मंत्रालय लोगों के सेफ्टी उपायों को लेकर काफी सक्रिय है। मेरा आपके मंत्रालय से अनुरोध है कि जनता की जान को खतरे में डालकर घटिया क्वालिटी के हेलमेट बनाने और उस पर आईएसआई की फर्जी मुहर लगाने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करें। दुर्घटना के समय ऐसे हेलमेटों से हेड इंजरी को नहीं रोका जा सकता है।'

हर साल सड़क दुर्घटनाओं में मारे जाते हैं 1.5 लाख

साल कुल दुर्घटनाएं मृतकों की संख्या
2015 5,01,423 1,46,133
2016 4,80,652 1,50,785
70 फीसदी बाइक राइडर घटिया किस्म के हेलमेटों का इस्तेमाल करते हैं। 70 फीसदी बाइक राइडर घटिया किस्म के हेलमेटों का इस्तेमाल करते हैं।