--Advertisement--

जानिए राजीव गांधी की हत्या की खबर सुनकर राहुल क्या बोले थे

सिंगापुर-मलेशिया के दौरे पर हैं कांग्रेस प्रेसिडेंट राहुल गांधी

Danik Bhaskar | Mar 11, 2018, 02:25 PM IST
देखिए वीडियो देखिए वीडियो

स्पेशल डेस्क: कांग्रेस प्रेसिडेंट राहुल गांधी सिंगापुर-मलेशिया दौरे पर हैं, उनके दौरे को लेकर कंट्रोवर्सी भी हुई है, लेकिन कुआलालंपुर में IIM एल्युमिनाई के साथ बातचीत में राहुल का अलग ही अंदाज देखने को मिला, वो बहुत मैच्योर और मजबूत नजर आए, उन्होंने खुलकर अपनी दादी (इंदिरा गांधी) और पिता (राजीव गांधी) की हत्या को लेकर बात की । जब राहुल के पास पहुंची पिता की मौत की खबर...

मुझे पिता की हत्या का पता था
- राहुल ने कहा, "मैं जानता था कि मेरे पिता की मौत हो सकती थी। मैंने पापा से कहा था कि आप मारे जाओगे। जब पापा कि हत्या हुई तब मैं बॉस्टन की हावर्ड यूनिर्सिटी में था और इंडिया में इलेक्शन का दौर चल रहा था, मैं जानता था की ये बहुत मुश्किलों भरा इलेक्शन था। मेरे पिता के दोस्त के भाई का मेरे पास फोन आया, उन्होंने कहा- मेरे पास आपके लिए बहुत बुरी खबर है, मैंने कहा- क्या पापा नहीं रहे। उन्होंने कहा-हां मैने कहा- थैंक्यू''
-राहुल ने कहा- "पिता की हत्या के बाद कई साल तक मैं और मेरी बहन गुस्से में रहे। लेकिन अब हमने उन्हें माफ कर दिया है।"
- एक सवाल के जवाब में राहुल ने कहा, "जब ये घटनाएं हुईं, वो इतिहास का हिस्सा हैं। तब विचारों, बाहरी बलों और कंफ्यूजन को लेकर टकराहट थी। मुझे याद है जब मैंने प्रभाकरण (लिट्टे का पूर्व प्रमुख) को टीवी पर मृत देखा। तब मुझे दो अहसास हुए। एक- इस शख्स को इस तरह क्यों किया गया? दूसरा- मुझे प्रभाकरण और उसके बच्चों को लेकर दुख हुआ। इसकी वजह ये थी कि मैं उस दुख को समझ सकता था।"
- "मैंने हिंसा देखी थी। लेकिन ये भी जाना कि वह भी एक इंसान था। उसका भी एक परिवार था। उसके जाने के बाद बच्चे रो रहे थे। मुझे ये सब सोचकर बहुत दुख हुआ। मैंने पाया कि लोगों से नफरत करना काफी कठिन है। मेरी बहन ने भी ऐसा ही किया।"

- बता दें कि 21 मई, 1991 में तमिलनाडु के श्रीपेरम्बुदूर में राजीव गांधी की हत्या कर दी गई थी। हत्या लिट्टे की एक सुसाइड बॉम्बर ने की थी।

आईआईएम एल्युमिनाई के साथ बातचीत में राहुल ने बताया आईआईएम एल्युमिनाई के साथ बातचीत में राहुल ने बताया