Hindi News »National »Ayodhya Vivad »Latest News» Congress President Rahul Gandhi To Address The Partys Plenary Session In Delhi.

कांग्रेस के अधिवेशन में मोदी सरकार पर राहुल गांधी ने ऐसे निकाली भड़ास

आज से शुरू हुआ है कांग्रेस का 84वां अधिवेशन

dainikbhaskar.com | Last Modified - Mar 17, 2018, 01:10 PM IST

स्पेशल डेस्क:कांग्रेस प्रेसिडेंट बनने के बाद राहुल गांधी ने पहली बार कांग्रेस के महाधिवेशन को संबोधित किया। राहुल ने मोदी सरकार पर वार करते हुए कहा कि एक व्यक्ति को दूसरे से लड़ाकर देश को बांटा जा रहा है, गुस्सा फैलाया जा रहा है। पर कांग्रेस का हाथ लोगों को जोड़ेगा। आज देश के युवा और किसान थक चुके हैं, मोदी सरकार में उन्हें रास्ता नहीं मिल रहा। कांग्रेस कमेटी के 84वें अधिवेशन में सोनिया गांधी, मनमोहन सिंह समेत पार्टी के कई बड़े नेता मौजूद हैं। यहां कांग्रेस अगले 5 साल के रोडमैप के लिए रणनीति और दिशा तय करेगी। राहुल का युवा कार्यकर्ताओं पर फोकस....

कांग्रेस को युवा ही आगे ले जा सकते हैं: राहुल
- अधिवेशन के उद्घाटन सत्र में राहुल गांधी ने कहा, ''यहां मुझे दो भाषण देने हैं। आज थोड़ा कम बोलूंगा। समापन सत्र में ज्यादा बोलूंगा। तब आपको बताऊंगा कि हमें क्या करना है। कैसे हम पार्टी को दूसरों के अलग कर सकते हैं।''

- ''कांग्रेस का ये अधिवेशन बदलाव के लिए हो रहा है। मैं सोचता हूं कि युवा पार्टी को आगे ले जा सकते हैं। कांग्रेस पुराने को नहीं भूलती है, इसीलिए मेरा काम सीनियर नेताओं और युवाओं को जोड़ना है। इसके बिना पार्टी नहीं बढ़ेगी।''

राहुल ने मोदी सरकार पर साधा निशाना
- कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा, ''आज हिंदुस्तान को बांटा जा रहा है। एक व्यक्ति को दूसरे से लड़ाया जा रहा है। हमारा निशान हाथ है, जो लोगों को जोड़ता है। हमें मिलकर देश को एक करना है। सोनिया जी और मनमोहन जी को समेत सभी नेताओं को धन्यवाद देता हूं कि उन्होंने देश को एक करने की कोशिश की।''

- ''आज देश में जो युवा और किसान हैं, वो मोदी जी की नीतियों से थक चुके हैं। उन्हें आगे बढ़ने का कोई रास्ता नहीं मिल रहा है। हम उनके साथ खड़े हैं। कांग्रेस और दूसरी पार्टी में अंतर ये हैं कि वो क्रोध और हम प्यार का इस्तेमाल करते हैं।''

कांग्रेस में नई ऊर्जा भरने की कवायद
- कांग्रेस सूत्रों के मुताबिक, अधिवेशन में पार्टी के सभी मुख्यमंत्री, प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष समेत देशभर के नेता जुटे हैं। इस दौरान कांग्रेस के भीतर नई ऊर्जा भरने का कार्य किया जाएगा, ताकि आने वाले कर्नाटक, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ और राजस्थान चुनाव में पार्टी मजबूती से अपना संदेश जनता तक पहुंचा सके।

- अधिवेशन में इस बार नेताओं के बजाय पार्टी का ध्यान कार्यकर्ताओं पर केंद्रित है। लोकसभा और विधानसभा चुनाव के लिए कांग्रेस की रणनीति पर चर्चा होगी। दूसरे दिन राजनीति, बेरोजगारी और गरीबी दूर करने से जुड़े कुछ प्रस्ताव पास हो सकते हैं। रविवार को महाधिवेशन का समापन भी राहुल गांधी के भाषण से होगा।

विपक्षी पार्टियों से संपर्क साध रही कांग्रेस
- पिछले दिनों पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने दिल्ली में यूपीए नेताओं को डिनर दिया था। इसमें करीब 20 पार्टियों के नेता शामिल हुए। सूत्रों के मुताबिक, 2019 के लोकसभा चुनाव से पहले कांग्रेस विपक्षी पार्टियों का एक यूनाइटेड फ्रंट बनाना चाहती है ताकि बीजेपी को टक्कर दी जा सके।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Latest News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×