Hindi News »National »Ayodhya Vivad »Latest News» Disabled Delhi Man Crowdfunds To Pay Alimony

टीबी-लकवे ने खराब की जिन्दगी, अब बीवी को हर्जाना देने के लिए मांग रहा चंदा

दिल्ली में 43 साल का ये शख्स पत्नी के अत्याचारों से मुक्ति चाहता है।

dainikbhaskar.com | Last Modified - Mar 19, 2018, 08:47 PM IST

टीबी-लकवे ने खराब की जिन्दगी, अब बीवी को हर्जाना देने के लिए मांग रहा चंदा

स्पेशल डेस्क.दिल्ली में 43 साल का ये शख्स पत्नी के अत्याचारों से मुक्ति चाहता है। इसके लिए वो उसके भरण पोषण के लिए 5 लाख रुपए चंदा मांगकर पर इकट्ठा कर रहा है। शिव कुमार नाम का ये शख्स एक न्यूजपेपर डिस्ट्रीब्यूटर था। लेकिन एक हादसे में दिव्यांग हो गया। हादसे में उसे सिर में गंभीर चोट आई और करीब एक साल तक बिस्तर पकड़ लिया था। शिव कुमार ने आरोप लगाया है कि हादसे के तुरंत बाद पत्नी उसे छोड़कर चली गई थी।क्या है पूरा मामला...

- शिव कुमार को तलाक का केस खत्म करने के लिए पत्नी को अब 5 लाख एक मुश्त गुजारा भत्ता देना है।
- लेकिन हादसे के बाद से उसके पास कोई जॉब नहीं है और उसकी सारी बचत भी इलाज पर खर्च हो गई।
- ऐसे में शिव कुमार ने लोगों से चंंदा मांगकर पत्नी से मुक्ति चाहता है।

पत्नी को नहीं आया हालत पर तरस
- शिव कुमार ने आरोप लगाया कि शादी के तुरंत बाद ही उसकी पत्नी से संबंध बेहद खराब थे।
- इसके अलावा पत्नी ने उसके और फैमिली के खिलाफ घरेलू हिंसा का केस भी लगा दिया।
- शख्स ने बताया कि उसकी बीवी उसे हादसे वाले दिन ही छोड़कर चली गई थी। जबकि डॉक्टर्स ने मेरी हालत गंभीर बताई थी।
- शख्स का आरोप है कि उसकी पत्नी उसके और परिवार के साथ नहीं रहना चाहती थी। उसे लगा कि वह जिंदा नहीं बचेगा तो उसे छोड़

दिया।
- घरेलू हिंसा का केस लगने के बाद जांच के लिए आए पुलिस टीम को शख्स की हालत पर तरस आ गया। उन्होंने पत्नी को उसकी केयर

करने और झगड़े सुलझाने की नसीहत दी।


जिंदगी ने दिया और झटका
- शिव के मुताबिक, जब वह हादसे से ठीक हो गया और जिम्मेदारी उठाने के लिए तैयार हुआ तो 2013 में डॉक्टर्स ने उसे पैन्क्रियाज में कैंसर

बताया।
- शिव कुमार ने इसका इलाज शुरू किया और पांच बार कीमोथैरेपी और बायोप्सी करवाई। लेकिन वो टीबी निकला, जो पूरे शरीर में फैल गया था।
- इससे उसके बदन का दायां हिस्सा पैरालाइज्ड हो गया। ट्रीटमेंट के दौरान उसे कई बार पैरालिटिक अटैक भी आए।
- उसकी बॉडी का दायां हिस्सा काफी कमजोर हो चुका था। ज्यादातर टाइम वह व्हीलचेयर पर रहता था।

पत्नी बार-बार करती रही परेशान
- शख्स ने आरोप लगाया कि उसकी पत्नी उसे परेशान करती रही। उस पर एक बार फिर घरेलू हिंसा का केस दर्ज कर दिया।
- कोर्ट ने हर महीने शिव कुमार को पत्नी को 4000 रुपए देने का आदेश दिया। लेकिन बाद में उसे एकमुश्त 5 लाख रुपए देने का आदेश दिया।
- ये तब की बात थी, जब उसके पास कोई आय का स्राेत नहीं था। कोर्ट की नाफरमानी करने के जुर्म में तीन बार तिहाड़ जेल जा चुका है।
- शिव कुमार की कहानी सुनकर पुरुष के हक की लड़ाई लड़ने वाली और फिल्ममेकर दीपिका भारद्वाज सामने आई हैं।
- उन्होंने शख्स के लिए क्राउड फंडिंग के जरिए 5 लाख रुपए इकट्ठा करने का बीड़ा उठाया है। वो इसे मिलाप नामक क्राउड फंडिंग प्लेटफॉर्म के जरिए करने की कोशिश कर रही है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Latest News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×