--Advertisement--

आबू धाबी के क्राउन प्रिंस ने नहीं कहा था 'जय शिया राम', मीडिया पर फेक वीडियो चलाने का आरोप

भारतीय मीडिया द्वारा चलाए गए एक वीडियो को फेक बताते हुए गल्फ न्यूज ने काफी आलोचना की।

Dainik Bhaskar

Feb 13, 2018, 08:29 PM IST
फेक बताए जा रहे वीडियो से लिया फेक बताए जा रहे वीडियो से लिया

नेशनल डेस्क. सोशल मीडिया पर एक वीडियो के वायरल होने के बाद खाड़ी देशों के प्रमुख अखबार गल्फ न्यूज ने भारतीय मीडिया की आलोचना की है। दरअसल वायरल वीडियो में दिखाया गया है कि आबू धाबी के क्राउन प्रिंस शेख मोहम्मद बिन जायद अल नाहयान 'जय शिया राम' कह रहे हैं। आरोप है कि इस वीडियो की बिना जांच किए इंडिया के कुछ मीडिया संस्थानों ने प्रमुखता से चलाया। गल्फ न्यूज का कहना है कि वीडियो पुराना है।

- गल्फ न्यूज ने कहा कि शेख मोहम्मद बिन जायद कभी भी ऐसे कार्यक्रम में शामिल नहीं हुए। कार्यक्रम में शामिल जिस व्यक्ति को दिखाया गया है वे यूएई के अखबारों के कॉलमिस्ट और अरब मामलों के जानकार सुल्तान सऊद अल कासमी हैं।

- गल्फ न्यूज ने कहा कि भारत की मीडिया के एक हिस्से और कुछ समूहों ने राजनीतिक फायदा उठाने के लिहाज से इस तरह का झूठा प्रचार किया। बता दें कि वीडियो में पीएम मोदी के प्रभाव से जोड़ते हुए दिखाया गया कि अबू धाबी के क्राउन प्रिंस अपना संबोधन 'जय सियाराम' के साथ शुरू किया।

'शेख मोहम्मद बिन जायेद को नहीं पहचानती भारतीय मीडिया'
गल्फ न्यूज ने कहा कि 2017 में गणतंत्र दिवस के चीफ गेस्ट शेख मोहम्मद बिन जायेद थे। साल 2016 में राजकीय अतिथि के रूप में भारत का दौरा किया। इसके बावजूद भारतीय मीडिया शेख मोहम्मद बिना जायेद को नहीं पहचानती है।

X
फेक बताए जा रहे वीडियो से लिया फेक बताए जा रहे वीडियो से लिया
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..