Hindi News »National »Ayodhya Vivad »Latest News» Aap-Mla-Naresh-Balyan-Ias-Beaten-Arvind-Kejriwal

Aap विधायक बोले- काम ना करने वाले अधिकारी की पिटाई होनी चाहिए

उत्तम नगर से विधायक नरेश बालियान ने अरविंद केजरीवाल की रैली में कहा कि जो भी अधिकारी काम नहीं करते हैं, उनकी पिटाई ही हो

DainikBhaskar.com | Last Modified - Feb 23, 2018, 04:36 PM IST

Aap विधायक बोले- काम ना करने वाले अधिकारी की पिटाई होनी चाहिए

स्पेशल डेस्क: चीफ सेक्रेटरी अंशु प्रकाश के साथ मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की मीटिंग में मारपीट के बाद आप के एक विधायक ने विवादित बयान दिया। उत्तम नगर के विधायक नरेश बाल्यान ने केजरीवाल की मौजूदगी में कहा कि अफसर आम आदमी के काम को रोकते हैं, चीफ सेक्रेटरी झूठे आरोप लगा रहे हैं। ऐसे अफसरों को ठोकना चाहिए। बता दें कि 19 फरवरी को मुख्यमंत्री आवास पर आप के विधायकों पर चीफ सेक्रेटरी के साथ मारपीट का आरोप है। इस मामले में विधायक अमानतुल्लाह खान और प्रकाश जारवाल तिहाड़ जेल में बंद हैं।


आप विधायक ने क्या कहा?
उत्तम नगर की एक रैली में आप विधायक नरेश बाल्यान ने कहा, ''कोई भी काम जो तीन दिन का हो उसके लिए अफसर 6-6 महीने का समय लगा रहे हैं। क्योंकि केजरीवाल ने इसके लिए इनको मिलने वाली सेटिंग बंद कर दी। अब उन्होंने फाइलों को रोकना शुरू कर दिया है। जो कुछ भी चीफ सेक्रेटरी के साथ हुआ, जो इन्होंने झूठा आरोप लगाया। मैं तो कह रहा हूं कि ऐसे अफसरों को मारना चाहिए, ठोंकना चाहिए। अगर कोई आम आदमी के काम को रोककर बैठा है, ऐसे लोगों के साथ यही सलूक होना चाहिए।''

दो विधायक गिरफ्तार, केजरी के घर पहुंची पुलिस
सीएस के साथ मारपीट के बाद दिल्ली पुलिस ने 20 तारीख को अंशु प्रकाश का मेडिकल चेकअप कराया। इसमें उनके शरीर पर चोट के निशान मिले। इसके बाद पुलिस ने केस दर्ज कर लिया। पुलिस ने आप के दो विधायक अमानतुल्लाह खान और प्रकाश जारवाल को अरेस्ट किया है। कोर्ट ने उन्हें 14 दिन के लिए जेल भेज दिया है। शुक्रवार को पुलिस की एक टीम केजरीवाल के आवास पर पहुंची और 21 सीसीटीवी की फुटेज और हार्ड डिस्क कब्जे में ली।

चीफ सेक्रेटरी के साथ मारपीट का मामला क्या है?
सीएम अरविंद केजरीवाल ने सोमवार (19 फरवरी) रात को अपने आवास पर कुछ योजनाओं पर चर्चा के लिए मीटिंग बुलाई थी। इसमें अंशु प्रकाश भी शामिल हुए। अंशु प्रकाश का आरोप है कि यहां उन पर आप के एक विज्ञापन को पास कराने का दबाव डाला गया। जब वह मना करके जाने लगे तो दो विधायकों ने उन्हें कंधे पर हाथ रखकर वहीं बैठा दिया। दोबारा उठे तो गाल पर जोर से मारा। पीठ पर भी घूंसे पड़े और गालियां दी गईं। वहीं, आप विधायकों का कहना है कि कोई हाथापाई नहीं की गई है। उन्हें राशन वितरण प्रणाली को लेकर चर्चा करने के लिए बुलाया गया था। सवाल पूछने पर वह भड़क गए। उन्होंने जातिसूचक शब्द भी कहे। सीएस झूठे आरोप लगा रहे हैं। यह सब भाजपा के इशारे पर किया जा रहा है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Latest News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×