Hindi News »National »Ayodhya Vivad »Latest News» Purabi Mahato ADFO Of Midnapore West Bangal Photos Viral But Why

हाथ जोड़े बैठी महिला और आस-पास लाठी-डंडे लिए लोग, लेकिन जैसा लग रहा है यहां उसका उल्टा है

यूपी के सुपरकॉप कहे जाने वाले पुलिस अधिकारी नवनीत सिकेरा ने ये तस्वीर अपनी फेसबुक वाल पर शेयर की है।

DainikBhaskar.com | Last Modified - Mar 30, 2018, 08:46 AM IST

  • हाथ जोड़े बैठी महिला और आस-पास लाठी-डंडे लिए लोग, लेकिन जैसा लग रहा है यहां उसका उल्टा है
    +1और स्लाइड देखें

    नेशनल डेस्क. सोशल मीडिया पर एक तस्वीर वायरल हो रही है जिसमें एक महिला हाथ जोड़े बैठी है बगल में पुलिसवाला खड़ा है और आस-पास हाथ में डंडे लिए लोग दिख रहे हैं। पहली नजर में यही लगता है कि महिला के साथ कुछ बुरा हुआ है लेकिन यहां मामला एकदम उल्टा है। ये महिला कोई और नहीं बल्कि पश्चिम बंगाल के मिदनापुर की एडिशनल डिविजनल फोरेस्ट ऑफिसर पुरबी महतो हैं। उन्होंने आदिवासियों को जानवरों का शिकार करने से रोकने के लिए कुछ ऐसा किया कि ये तस्वीर वायरल हो गई। यूपी पुलिस के सुपरकॉप कहे जाने वाले अधिकारी नवनीत सिकेरा ने भी इस तस्वीर को शेयर किया है। अब बताते हैं कि आखिर तस्वीर में ऐसा क्या है?

    आदिवासियों में है शिकार की परंपरा
    पश्चिम बंगाल के मिदनापुर में एक जगह लालगंज है। ये आदिवासियों का इलाका है। यहां आदिवासियों में सदियों से शिकार करने की परंपरा चलती आ रही है। लेकिन शिकार करने से यहां आस-पास के जानवर कम होते जा रहे हैं। इसलिए एडीएफओ पुरबी महतो ने उन्हें रोकने की ठान ली।

    खूब चलाया जागरूकता अभियान
    पुरबी महतो ने आदिवासियों को रोकने के लिए खूब जागरूकता अभियान चलाया। उन्हें बताया कि कैसे जानवर हमारे ईकोसिस्टम को बनाए रखने में मदद करते हैं। लेकिन आदिवासियों पर कोई फर्क नहीं पड़ा। उन्होंने शिकार करना बंद नहीं किया।

    फिर पुरबी महतो ने क्या किया?
    काफी कोशिश के बाद भी जब आदिवासियों ने शिकार करना नहीं छोड़ा तब उन्होंने एक तरीका अपनाया। जिस दिन शिकारी हाथ में लाठी-डंडे और धारदार हथियार लेकर शिकार करने जा रहे थे उसी दिन उन्होंने बीच में ही उन्हें रोक लिया। पहले तो सबको समझाया फिर जब वो नहीं माने तो हाथ जोड़कर उनसे रिक्वेस्ट की। उन्हें बड़े ही भावुक अंदाज में समझाया। वो हाथ जोड़कर आदिवासियों के सामने बैठ गईं। जिसे देख आदिवासी भावुक हो गए और बिना शिकार किए वापस लौट गए। ये तस्वीर उसी वक्त की है। अपनी इस कोशिश के बारे में पुरबी महतो ने कहा कि 17 साल के करियर में ऐसी कोशिश मैंने पहली बार की, जो सफल हुई। पहले डेटिंग एप से की दोस्ती, फिर किडनैप कर के उतार दिया मौत के घाट

  • हाथ जोड़े बैठी महिला और आस-पास लाठी-डंडे लिए लोग, लेकिन जैसा लग रहा है यहां उसका उल्टा है
    +1और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Latest News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×