--Advertisement--

राहुल गांधी ने बोले- मैं पीएम होता तो नोटबंदी की फाइल को डस्टबिन में फेंक देता

राहुल गांधी ने एक बार फिर मोदी सरकार के नोटबंदी के फैसले को गलत बताया है।

Danik Bhaskar | Mar 10, 2018, 09:00 PM IST

कुआलालंपुर​. राहुल गांधी ने एक बार फिर मोदी सरकार के नोटबंदी के फैसले को गलत बताया है। उन्होंने शनिवार को कहा कि अगर वे पीएम होते तो नोटबंदी की फाइल को कूड़ेदान में फेंक देते। इससे पहले भी राहुल हर मंच पर सरकार के इस फैसले को आम जनता के खिलाफ बता चुके हैं। बता दें कि कांग्रेस ने नोटबंदी के विरोध में पिछले साल 9 नवंबर को ब्लैक डे मनाया था।

राहुल से क्या पूछा गया था?

- राहुल गांधी शनिवार को कुआलालंपुर में भारतीय कम्युनिटी के लोगों के सवालों का जवाब दे रहे थे। एक शख्स ने उनसे पूछा कि आप नोटबंदी कैसे लागू करते?

- जवाब में उन्होंने कहा- "अगर मैं पीएम होता और नोटबंदी की फाइल को लेकर कोई आता, तो मैं उसे दरवाजे के बाहर कर देता और फाइल को डस्टबिन में फेंक देता। मुझे ऐसा लगता है नोटबंदी के साथ ऐसा ही होना चाहिए था।"

कांग्रेस करती रही है नोटबंदी का विरोध
- मोदी सरकार के नोटबंदी का कांग्रेस और विपक्ष शुरुआत से ही विरोध करती रही है। कांग्रेस का कहना है कि सरकार के इस फैसले से जनता को मुसीबतों का सामना करना पड़ा, बेरोजगारी बढ़ी, लोगों को अपने पैसे के लिए दिक्कतें हुईं।

- बता दें कि नोटबंदी के एक साल होने पर 9 नवंबर को कांग्रेस ने इसके विरोध में ब्लैक डे मनाया था।

कब हुई थी नोटबंदी?
- मोदी सरकार ने 8 नवंबर 2016 को रात 8 बजे नोटबंदी की घोषणा की थी। देश में 500 और 1000 के नोट बैन कर दिए थे। सरकार के मुताबिक उनका यह कदम देश से भ्रष्टाचार और कालाधन खत्म करने के लिए उठाया गया था।