Latest News

--Advertisement--

RBI गर्वनर क्यों बोले- नहीं रुक सकता बैंक फ्रॉड, हम तो अब विष पी रहे हैं

आरबीआई गर्वनर उर्जित पटेल ने कहा है कि जब तक हमें ताकतवर नहीं बनाया जाएगा, बैंक फ्रॉड होते रहेंगे।

Dainik Bhaskar

Mar 15, 2018, 01:59 PM IST
RBI governor says reserve bank has limited power

स्पेशल डेस्क. आरबीआई गर्वनर उर्जित पटेल ने कहा है कि जब तक हमें ताकतवर नहीं बनाया जाएगा, बैंक फ्रॉड होते रहेंगे। उन्होंने कहा कि बैंकिंग सेक्टर में घोटालों और अनियमिताताओं से हमें भी गुस्सा आता है, तकलीफ होती है। पीएनबी घोटाले पर पहली पर पब्लिकली बोलते हुए पटेल ने कहा कि बिजनेस समुदाय के कुछ लोग चंद बैंकरों की मदद से देश के भविष्य को लूट रहे हैं। हम इस गठजोड़ को तोड़ने हर मुमकिन कोशिश कर रहे हैं। आरबीआई को चाहिए और ज्यादा पावर...

- उर्जित ने कहा कि हमारे रेगुलेटरी पावर पर लोग सवाल उठा रहे हैं। घोटाले पकड़ने में नाकाम रहने पर वित्तमंत्री जेटली ने आलोचना की।
- पटेल ने कहा कि रिजर्व बैंक कार्रवाई जरूर करेगा, लेकिन उसके अधिकार बेहद सीमित हैं। सरकारी बैंकों में फ्रॉड रोकने के लिए हमें और पावर चाहिए।

'नीलकंठ' की तरह विष पीने को तैयार रिजर्व बैंक
- पटेल ने समुद्र मंथन से इसकी तुलना करते हुए कहा, 'यह भारतीय अर्थव्यवस्था का आधुनिक काल का समुद्र मंथन है।
- जब तक मंथन पूरा नहीं होता, स्थिरता का अमृत बाहर नहीं निकलता, तब तक किसी न किसी को विष पीना ही पड़ेगा।
- अगर हमें विष पीकर नीलकंठ बनने की जरूरत पड़ी तो हम यह काम करेंगे, क्योंकि यही हमारा कर्तव्य है।
- उम्मीद करूंगा कि इस मंथन में ज्यादातर बैंकर और कंपनी प्रमोटर देवों का साथ देंगे, असुरों का नहीं।'

रिजर्व बैंक को पीएनबी का पहले से अंदेशा था
- पीएनबी घोटाले के संदर्भ में उन्होंने कहा कि रिजर्व बैंक को इसका अंदेशा था।
- इसलिए 2016 में ही बैंकों को कदम उठाने के लिए तीन सर्कुलर भेजे थे। पर बैंकों ने कुछ किया नहीं।
- बैंक का आंतरिक सिस्टम पूरी तरह फेल हो गया। 5 साल में फ्रॉड के बहुत कम मामले सुलझाए जा सके हैं। एन्फोर्समेंट की व्यवस्था फ्रॉड रोकने में कारगर नहीं है।
- 8.5 लाख करोड़ रुपए के एनपीए पर तत्काल ध्यान देने की जरूरत है।

RBI governor says reserve bank has limited power
X
RBI governor says reserve bank has limited power
RBI governor says reserve bank has limited power
Click to listen..