Hindi News »National »Ayodhya Vivad »Latest News» Wanted Indians Who Are Living Abroad In Luxury

नीरव मोदी ही नहीं, बल्कि देश को चूना लगाकर विदेश भाग गए ये पांच इंडियन

ललित मोदी से नीरव मोदी तक। देश के पांच 'वॉन्टेड भगौड़े'।

DainikBhaskar.com | Last Modified - Feb 16, 2018, 05:07 PM IST

नेशनल डेस्क. पंजाब नेशनल बैंक में 280 करोड़ रुपए की धोखाधड़ी के आरोप में ईडी ने मशहूर ज्वेलर नीरव मोदी के खिलाफ मनी लॉन्ड्रिंग का केस दर्द किया है। हालांकि धोखाधड़ी के खुलासे से पहले से ही नीरव मोदी देश से बाहर हैं। सूत्रों की मानें तो वो अपने भाई निशाल के साथ एक जनवरी को विदेश चले गए थे। वो बेल्जियम में अपने भाई के घर पर हैं। ये पहला मामला नहीं है जब देश का कोई वॉन्टेड या धोखाधड़ी का केस दर्ज होने के बाद देश छोड़कर भागा हो। आज आपको ऐसे ही पांच नाम बताते हैं जो हैं तो भारत के गुनाहगार, लेकिन विदेश में आराम से लाइफ एन्जॉय कर रहे हैं।

विजय माल्या: विजय माल्या पर देश के कई बैंकों का लगभग 9 हजार करोड़ रुपए से ज्यादा बकाया है। वो इसी मामले में वॉन्टेड है। कहा जाता है कि देश छोड़कर भागा माल्या लंदन में है। माल्या के मामले में बैंकों की ओर से दायर याचिका पर सुनवाई करते हुए ऋण वसूली अधिकरण ने अपना फैसला सुरक्षित रख लिया है।

ललित मोदी: आईपीएल के पूर्व आयुक्त और कारोबारी ललित मोदी भी मनी लॉंड्रिंग के मामले में देश से फरार चल रहे हैं। मोदी पर 2010 में आईपीएल में भ्रष्टाचार का आरोप लगा। उनपर ठेका देने के बदले 125 करोड़ रुपए का कमीशन लेने का आरोप है। वो देश छोड़कर ब्रिटेन भाग गए।

दाऊद इब्राहिम: डी-कंपनी का मुखिया दाऊद 1993 के मुंबई धमाकों का मास्टरमाइंड माना जाता है। सीरियल ब्लास्ट के वक्त वो भारत में नहीं था और उसके बाद वह कभी भारत नहीं लौटा। अक्टूबर 2003 में यूएस ट्रेजरी डिपार्टमेंट ने दाऊद पर ग्लोबल टेररिस्ट का ठप्पा लगा गिया।

रवि शंकर: नेवी वॉर रूम लीक मामले का मुख्य आरोपी रवि शंकरन CBI से बचकर यूके भाग गया। अक्टूबर 2005 के नेवी वॉर के दौरान शंकरन पर इंडियन वॉर रूम की गुप्त जानकारी आर्म डीलर्स को लीक करने का आरोप लगा था। इंटरपोल रेड कॉर्नर नोटिस के बाद शंकरन ने लंदन में 2010 में सरेंडर कर दिया था। जून 2015 में ब्रिटिश कोर्ट ने रवि शंकरन के प्रत्यर्पण की भारत की मांग खारिज कर दी।

टाइगर हनीफ: टाइगर हनीफ दाऊद का सहयोगी है। वो बाबरी विध्वंस के बाद सूरत में 1993 में हुए 2 बम बिस्फोटों में वॉन्टेड है। वो ब्लास्ट के तुरंत बाद यूके भाग गया।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Latest News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×