• Hindi News
  • National
  • Amit Shah Asks Party Workers In Maharashtra To Prepare To Go Alone In 2019

अविश्‍वास प्रस्‍ताव पर शिवसेना के रवैये से शाह खफा; कार्यकर्ताओं से कहा- महाराष्ट्र में अकेले चुनाव लड़ने की तैयारी करो

4 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
  • महाराष्ट्र में लोकसभा की 48 सीटें अौर विधानसभा की 288 सीटें
  • भाजपा एनडीए का हिस्सा, लेकिन उसका केंद्र सरकार से कई मुद्दों पर मतभेद 

 

 

मुंबई.  लोकसभा में अविश्वास प्रस्ताव पर शिवसेना के रुख से भाजपा अध्यक्ष अमित शाह नाराज हैं। मुंबई में रविवार को भाजपा कार्यकर्ताओं की बैठक में उन्होंने 2019 का लोकसभा चुनाव अकेले लड़ने की तैयारी करने को कहा। इसके लिए संगठन मजबूत करने के निर्देश दिए। उन्होंने बताया कि लोकसभा सीटों पर जल्द ही प्रभारी नियुक्त किए जाएंगे। सभी सीटों पर ऐसी तैयारी होनी चाहिए कि शिवसेना, कांग्रेस और एनसीपी के एक साथ लड़ने पर भी भाजपा ही जीते। वहीं, शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने पार्टी मुखपत्र 'सामना' को दिए इंटरव्यू में कहा कि वे मोदी के सपनों के लिए नहीं, आम आदमी के सपनों लिए लड़ रहे हैं। उन्होंने कहा कि शिवसेना किसी एक पार्टी की दोस्त नहीं है। 

एनडीए के घटक शिवसेना ने पहले अविश्‍वास प्रस्‍ताव के विरोध में वोट करने का व्हिप जारी किया था, लेकिन बाद में वापस ले लिया। इसके बाद पार्टी ने अविश्‍वास प्रस्‍ताव पर चर्चा में हिस्सा में भी नहीं लिया था। शिवसेना ने राहुल गांधी के लोकसभा में दिए भाषण की भी तारीफ की थी।

गठबंधन की चिंता छोड़ें: अमित शाह ने इस बैठक में कार्यकर्ताओं से कहा कि वे गठबंधन की चिंता छोड़ें और चुनाव की तैयारी करें। उन्होंने पार्टी कार्यकर्ताओं को '23 प्वाइंट वर्किंग स्ट्रैटेजी' के तहत काम करने को कहा। साथ ही पार्टी को मजबूत करने के साथ नए वोटर्स को जोड़ने पर जोर दिया और स्थानीय नेताओं से वोटर्स के नियमित फीडबैक लेने को कहा। इसके लिए प्रत्येक बूथ पर पार्टी के 25 कार्यकर्ताओं को तैनात करने के लिए निर्देश दिया। 

शिवसेना ने कहा- केंद्र का विरोध जनता के लिए किया: उद्धव ठाकरे ने इंटरव्यू में कहा. "हमने केंद्र सरकार की किसी भूमिका या नीति का विरोध देश या जनता के हित के लिए किया। विरोधी दल क्या कर रहे हैं, इसे लोगों ने देखा है। हम सरकार के साथ हैं, लेकिन हमने कभी भी छिपकर कोई बात नहीं की। जो कुछ भी किया वह खुलेआम किया।" उन्होंने कहा कि सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव वह लेकर आये जो उनके सबसे करीबी मित्र (तेलेगु देशम पार्टी) थे। सरकार कई मुद्दों पर जनता के साथ धोखा कर रही है। सरकार में भागीदारी के बावजूद अगर वह कुछ गलत कदम उठाती है, तो उसके खिलाफ बोलना मेरा फर्ज है।

 

महाराष्ट्र: 2014 में लोकसभा सीटों की स्थिति: कुल सीट: 48 

पार्टी सीटें
भाजपा 23 
शिवसेना 18
राष्ट्रीय कांग्रेस पार्टी (राकांपा)  04
कांग्रेस 02
स्वाभिमानी पक्ष 01
कुल 48

2014 में विधानसभा सीटें: कुल सीट: 228

पार्टी सीटें
भाजपा 122  
शिवसेना 63
राष्ट्रीय कांग्रेस पार्टी (राकांपा)  41
कांग्रेस 42
अन्य 20
कुल 288
खबरें और भी हैं...