अगर आप मां-बाप को देते हैं House Rent तो HRA में पा सकते हैं छूट, लेकिन इन बातों का रखें ध्यान

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

नई दिल्ली.  वर्ष 2018 के लिए ITR फाइल करने का समय नजदीक आ रहा है। टैक्स पेयर्स के लिए इनकम टैक्स विभाग ने सभी तरह के फॉर्म ऑनलाइन रिलीज भी कर दिए हैं। सही जानकारी देने और टैक्स के नाम पर कटी राशि को पाने के इनकम टैक्स एक्ट में ऐसे कई प्रावधान हैं। ITR भरते समय किराए के मकान को लेकर कई तरह की उलझन होती है।  टैक्स कंसल्टेंट संदीप शुक्ला आपको बता रहे हैं कि HRA भरते समय किन बातों का ध्यान रखें :

 

HRA है टैक्स बचाने का सबसे आसान तरीका
इनकम टैक्स बचाने के लिए नौकरीपेशा लोगों के लिए मकान किराया भत्ता House Rent Allowence (HRA) सबसे आसान तरीका होता है। नौकरीपेशा को लोग टैक्स बचाने के लिए इसका सबसे ज्यादा लाभ लेते हैं। नौकरीपेशा लोग इसका लाभ अपने शहर और दूसरे शहरों दोनों में ले सकते हैं।आगे खबर पढ़कर जानिए कैसे लेना आप इसका लाभ ले सकते हैं। 

 

ऐसे पा सकते हैं HRA पर छूट 
आगर नौकरीपेशा लोग इनकम टैक्स डिपार्टमेंट को इस बात का प्रमाण देते हैं कि वह अपने मां-बाप के घर किराए पर रहते हैं। जिसका वो मासिक किराया देते हैं। इसकी रसीद जमा करता है तो वह टैक्सपेयर HRA पर टैक्स में मिल जाती है।  

 

ये शर्तें भी हैं जरूरी
- टैक्सपेयर जिस घर की House Rent रसीद देता है वह उसके मां-बाप के नाम पर ही होना चाहिए।
- जिस घर का किराया देने का आप दावा करते हैं अगर वो अापके या आपकी वीवी -बच्चों के नाम पर निकला तो आप मुसीबत में पड़ सकते हैं।
- आप जितना किराया मां-बाप को दे रहे हैं उसका उनको टैक्स देना होता है। 
- यहां माता-पिता को दिया जाने वाला किराया बैंक के माध्यम से देना होगा। 
- आप अपने शहर या दूसरे शहर में भी इस सुविधा का लाभ ले सकते हैं, लेकिन शर्त वही है जिस - जिस घर में आप रहते हैं वह आपके मां-बाप दोनों में से किसी के नाम पर हो। 

 

HRA में कितना टैक्स बच सकता है ?
- इनकम टैक्स अधिनियम 10 (13) के तहत ऐसी व्यवस्था है कि किसी भी नौकरीपेशा (जिसको वेतन मिलता है) वो इसका लाभ ले सकता है। इसमें वेतनभोगी के जितनी रकम House Rent में देने का दावा करता है। इस रकम में वेतनभोगी के मूल वेतन की 10 फीसदी रकम घटा दी जाती है। इसके बाद बची रकम पर को टैक्स नहीं लगता है।उदाहरण के तौर पर इसे आप ऐसे समझें कि राम साल में एक लाख रुपए House Rent देता है और उसका मूल वेतन 2 लाख रुपए है। अब यहां उसके मूल वेतन 2 लाख रुपए में 10 प्रतिशत और घटा दिया जाता है। मतलब 20 हजार रुपए 1 लाख में कम कर दिए गए। कुल House Rent की रकम बची 80 हजार रुपए। मतलब 80 रुपए पर कोई टैक्स नहीं लगेगा। 

खबरें और भी हैं...