• Home
  • National
  • Army starts Kashmir Super 30 Medical for NEET aspirants
--Advertisement--

घाटी के बच्चों के लिए आर्मी ने शुरू की 'कश्मीर सुपर 30', होस्टल और मुफ्त कोचिंग मिलेगी

'कश्मीर सुपर 30 मेडिकल' के जरिए घाटी के छात्रों को मेडिकल प्रवेश परीक्षा- नीट के लिए निशुल्क आवासीय कोचिंग दी जाएगी।

Danik Bhaskar | Jun 12, 2018, 10:20 PM IST
कानपुर का एनजीओ, नेशनल इंटेग्रिटी एंड एजुकेशनल डेवलपमेंट ऑर्गनाइजेशन सेना की मदद कर रहा है। -सिम्बॉलिक इमेज कानपुर का एनजीओ, नेशनल इंटेग्रिटी एंड एजुकेशनल डेवलपमेंट ऑर्गनाइजेशन सेना की मदद कर रहा है। -सिम्बॉलिक इमेज

श्रीनगर. भारतीय सेना ने घाटी के बच्चों का भविष्य संवारने के लिए एक नई पहल की है। उसने इलाके के छात्रों के लिए 'कश्मीर सुपर 30 मेडिकल' की शुरुआत की है। इसके जरिए घाटी के होनहार छात्रों को मेडिकल प्रवेश परीक्षा (नीट) के लिए निशुल्क आवासीय कोचिंग मुहैया कराई जाएगी।

युवाओं को मुख्यधारा मे जोड़ना है मकसद
- यह पटना में आईआईटी प्रवेश परीक्षा के लिए आनंद कुमार की ओर से चलाई जाने वाली सुपर 30 की तर्ज पर शुरू की गई कोचिंग है।
- इसका उद्घाटन आर्मी के लेफ्टिनेंट जनरल एके भट्‌ट ने किया। इस मौके पर उन्होंने कहा, 'मेरा भरोसा है कि ये बच्चे देश की सेवा करेंगे। युवाओं को मुख्यधारा से जोड़ना हमारा लक्ष्य है।'

कानपुर का एनजीओ कर रहा मदद
- कानपुर का एनजीओ, नेशनल इंटेग्रिटी एंड एजुकेशनल डेवलपमेंट ऑर्गनाइजेशन (एनआईईडीओ) इसमें मदद कर रहा है। उसका काम शिक्षक उपलब्ध कराना है। सेना इसके प्रबंधन का जिम्मा संभालेगी। इन्फ्रास्ट्रक्चर, आर्थिक मदद और रसद का जिम्मा हिंदुस्तान पेट्रोलियम कॉर्पोरेशन लिमिटेड ने संभाला है।

1400 में से चुने गए 30 बच्चे
- मार्च 2018 में एनआईईडीओ ने इसके लिए समझौते पर दस्तखत किए थे। इसके बाद 1400 बच्चों की लिखित परीक्षा ली गई थी। इनमें से 170 बच्चों को शॉर्ट लिस्ट किया गया। इंटरव्यू के बाद सबसे बेहतर 30 बच्चों का सिलेक्शन किया गया। इन्हें एक साल तक परीक्षा की तैयारी करवाई जाएगी।

इन्फ्रास्ट्रक्चर, आर्थिक मदद और रसद का जिम्मा हिंदुस्तान पेट्रोलियम कॉर्पोरेशन लिमिटेड ने संभाला है। -सिम्बॉलिक इमेज इन्फ्रास्ट्रक्चर, आर्थिक मदद और रसद का जिम्मा हिंदुस्तान पेट्रोलियम कॉर्पोरेशन लिमिटेड ने संभाला है। -सिम्बॉलिक इमेज