--Advertisement--

केंद्रीय मंत्री बोले- भारत बड़ा देश, 1-2 रेप की घटनाएं हो जाएं तो बतंगड़ नहीं बनाना चाहिए

केंद्रीय वित्त राज्य मंत्री संतोष गंगवार ने दुष्कर्म के मामलों पर रविवार को विवादित बयान दिया।

Danik Bhaskar | Apr 22, 2018, 06:56 PM IST
मंत्री ने कहा- ऐसी घटनाएं (रेप के मामले) दुर्भाग्यपूर्ण होती हैं पर कभी-कभी रोका नहीं जा सकता है। फाइल मंत्री ने कहा- ऐसी घटनाएं (रेप के मामले) दुर्भाग्यपूर्ण होती हैं पर कभी-कभी रोका नहीं जा सकता है। फाइल

बरेली. केंद्रीय वित्त राज्य मंत्री संतोष गंगवार ने दुष्कर्म के मामलों पर रविवार को विवादित बयान दिया। उन्होंने कहा, "भारत एक बड़ा देश है। यहां एक-दो दुष्कर्म की घटनाएं हो जाती हैं तो इस बात पर हमें बतंगड़ नहीं बनाना चाहिए।" बता दें कि इससे पहले शनिवार को मथुरा से सांसद हेमा मालिनी ने कहा था, "बच्चों और महिलाओं के साथ पहले भी अपराध होते थे, लेकिन मौजूदा वक्त में इन्हें ज्यादा पब्लिसिटी मिल रही है।"

कभी-कभी ऐसी घटनाओं को रोका नहीं जा सकता

- केंद्रीय मंत्री ने कहा, "ऐसी घटनाएं दुर्भाग्य पूर्ण हैं लेकिन कभी-कभी इन्हें नहीं रोका जा सकता है। सरकार सक्रिय है सब जगह कार्रवाई कर रही है। इतने बड़े देश में एक-दो ऐसी घटनाएं हो जाएं तो बतंगड़ नहीं बनाना चाहिए।

- उन्होंने कहा कि यह सही नहीं है। सरकार जो भी जरूरी है, वे सारे कदम उठा रही है। "

संतोष गंगवार कौन हैं

- संतोष गंगवार बीजेपी सांसद हैं और वर्तमान में मोदी सरकार में श्रम और रोजगार विभाग के राज्यमंत्री हैं। अटल बिहारी वाजपेयी के नेतृत्व में बनी सरकार में वह पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस राज्य मंत्री के साथ-साथ संसदीय कार्य राज्य मंत्री का पदभार भी संभाल चुके हैं।

देश का नाम खराब हो रहा- हेमा मालिनी

- हेमा मालिनी ने कहा कि बच्चों और महिलाओं के साथ अपराधों को आजकल ज्यादा पब्लिसिटी मिल रही है। पहले भी शायद ऐसा हुआ हो मालूम नहीं था। लेकिन इसके ऊपर जरूर ध्यान दिया जाएगा। जो घटनाएं आजकल हो रही हैं, उन्हें रोका जाए। इससे देश का नाम खराब हो रहा है।"

- उन्होने कहा " हमारी सरकार इस तरह के अपराधों को रोकने के लिए प्रयास कर रही है। समाज को कलंकित करने वाले लोगों के खिलाफ कड़े कानून बनाने की जरूरत है। बच्चों और उनके अभिभावकों की सुरक्षा की जिम्मेदारी सरकार की है और सरकार यह जिम्मेदारी उठाने को तैयार है। अभिभावकों को चाहिए कि किसी भी समारोह में अपने बच्चों के आसपास रहें और उनका ख्याल रखें। "

12 साल तक की बच्ची से रेप पर होगी मौत की सजा

- केंद्र सरकार के मंत्रिमंडल की शनिवार को बैठक हुई। इसमें सरकार बाल यौन अपराध निरोधक कानून (पॉक्सो एक्ट) में संशोधन का अध्यादेश लाने की मंजूरी मिल गई है। पॉक्सो एक्ट में 12 साल तक की नाबालिग से दुष्कर्म के दोषी को फांसी की सजा का प्रावधान जोड़ा जाएगा।
- रविवार को इस अध्यादेश को राष्ट्रपति रामनाथ कोबिंद ने भी अनुमति दे दी है।

देश में दरिंदगी की घटनाओं से गुस्सा

- सूरत में 11 साल की बच्ची से दुष्कर्म, कठुआ में 8 साल की बच्ची से गैंगरेप के बाद हत्या, उन्नाव में युवती के साथ गैंगरेप और इंदौर में 4 महीने की बच्ची के साथ दुष्कर्म के मामले सामने आने के बाद से पूरे देश में विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं।

हेमा मालिनी ने कहा था कि अभिभावकों को चाहिए कि किसी भी समारोह में अपने बच्चों के आसपास रहें और उनका ख्याल रखें। हेमा मालिनी ने कहा था कि अभिभावकों को चाहिए कि किसी भी समारोह में अपने बच्चों के आसपास रहें और उनका ख्याल रखें।