--Advertisement--

गोवा में हम सबसे बड़ी पार्टी हैं, राज्यपाल मौका दें तो विधायकों की परेड करवाने को भी तैयार: कांग्रेस

Dainik Bhaskar

May 17, 2018, 04:22 PM IST

कर्नाटक में राज्यपाल ने 104 सीटें जीतने वाली भाजपा को सरकार बनाने का न्यौता दिया। येदियुरप्पा ने सीएम पद की शपथ ली।

congress demands goa Governor to invite us to form govt updates

नई दिल्ली. कर्नाटक में सबसे बड़ी पार्टी भाजपा (104 सीट) को सरकार बनाने का न्योता दिए जाने पर सियासत जारी है। अब कांग्रेस ने गोवा, मणिपुर, मेघालय, राजद ने बिहार और एनपीएफ ने नगालैंड में सरकार बनाने का मौका दिए जाने की मांग की है। बिहार में राजद नेता तेजस्वी यादव ने कांग्रेस और सीपीआई के विधायकों के साथ मिलकर राज्यपाल को पत्र सौंपा। इसमें उन्होंने कहा, राज्य के बड़े दल के नाते सरकार बनाने का न्योता मिलना चाहिए। पांचों राज्यों में विपक्ष की सीटें सबसे ज्यादा हैं, लेकिन सरकारें भाजपा-एनडीए की हैं। शुक्रवार को गोवा में कांग्रेस के 13 विधायकों ने राज्यपाल मृदुला सिन्हा से मुलाकात कर सरकार बनाने का दावा पेश किया। वहीं, तेजस्वी यादव ने राज्यपाल से मिलकर राजद और सहयोगी दलों के 111 विधायकों के समर्थन की बात कही।

मांग: कर्नाटक की तर्ज पर सरकार बनाने का मौका मिले

# बिहार: राजद नेता तेजस्वी यादव ने शुक्रवार को राज्यपाल सत्यपाल मलिक से मुलाकात की। उनके साथ राजद, कांग्रेस और सीपीआई के विधायक थे। राज्यपाल को पत्र सौंपा। इसमें उन्होंने राज्य की सबसे बड़ी पार्टी होने के नाते सरकार बनाने का न्योता मिलने की बात कही।

- तेजस्वी ने कहा, ''राज्यपाल अगर उन्हें मौका देते है तो वे आसानी से फ्लोर टेस्ट पास कर लेंगे। हमारे पास 111 विधायक हैं। जदयू से नाराज विधायक भी हमारे संपर्क में हैं। हमारे गठबंधन में नितीश कुमार जैसे विधायक और जदयू जैसी पार्टी नहीं है जो बाद में पलट जाए।"

# गोवा: कांग्रेस के गोवा प्रभारी चेल्ला कुमार के साथ 13 विधायकों ने राज्यपाल से मुलाकात की। इस दौरान उन्होंने मांग की- 'राज्य में सबसे बड़ी पार्टी होने के नाते कांग्रेस को सरकार बनाने का मौका दें। जरूरत पड़ी तो राजभवन में विधायकों की परेड भी कराएंगे।'

- कांग्रेस नेता यतीश नाइक ने गुरुवार को कहा था, ''2017 में कांग्रेस 17 सीट जीतकर विधानसभा में सबसे बड़ी पार्टी बनी। पर राज्यपाल ने 13 सीटों वाली भाजपा को सरकार बनाने के लिए बुलाया। अब कर्नाटक में राज्यपाल ने सबसे बड़ी पार्टी (भाजपा) को सरकार बनाने का न्योता दिया। इसीलिए मांग करते हैं कि राज्यपाल हमें सरकार बनाने के लिए बुलाएं।''

# मणिपुर: कांग्रेस के पूर्व मुख्यमंत्री इबोबी सिंह ने राज्यपाल जगदीश मुखी से मुलाकात के बाद कहा कि शनिवार शाम 4 बजे तक का इंतजार करें। देखते हैं कर्नाटक के बहुमत परीक्षण में क्या होता है। राज्यपाल ने मणिपुर के मामले पर विचार करने को कहा है। उम्मीद है इंसाफ होगा।

# मेघालय और नगालैंड: दोनों राज्यों के पूर्व मुख्यमंत्री शुक्रवार को राज्यपाल से मिले। मेघालय में कांग्रेस और नगालैंड में एनपीएफ सबसे बड़ी पार्टी है। दोनों राज्यों में एनडीए गठबंधन की सरकार है।

1. गोवा की मौजूदा विधानसभा

कुल सीट: 40

बहुमत: 21

मुख्यमंत्री: मनोहर पर्रिकर

पार्टी सीट
कांग्रेस 17
भाजपा 13
निर्दलीय 03
अन्य 07

भाजपा ने गोवा में कैसे नंबर जुटाए?

- 2017 के चुनाव में किसी पार्टी को बहुमत नहीं मिला। भाजपा के मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार मनोहर पर्रिकर ने 21 विधायकों के समर्थन के साथ सरकार बनाने का दावा किया।

- भाजपा ने महाराष्‍ट्रवादी गोमांतक पार्टी और गोवा फॉरवर्ड पार्टी के तीन-तीन और 2 निर्दलीय विधायकों के सपोर्ट से बहुमत हासिल किया। पर्रिकर की शपथ के बाद एक और निर्दलीय विधायक ने समर्थन दे दिया था।

2. बिहार की मौजूदा विधानसभा

कुल सीट: 243

बहुमत: 122

मुख्यमंत्री- नीतीश कुमार

पार्टी सीट
राजद 80
जदयू 71
भाजपा 53
कांग्रेस 27
निर्दलीय 04
अन्य 08

भाजपा-जदयू ने कैसे जरूरी नंबर जुटाए?

- पिछले चुनाव में महागठबंधन (राजद-जदयू और कांग्रेस) को 178 सीटें मिलीं। 80 सीटों के साथ राजद सबसे बड़ी पार्टी रही। वहीं, जेडीयू को 71 और कांग्रेस को 27 सीट मिलीं थी। तब नीतीश कुमार मुख्यमंत्री बने थे।

- 26 जुलाई, 2017 को तेजस्वी के इस्तीफे से राजद के इनकार पर नीतीश कुमार ने इस्तीफा दे दिया। फिर जदयू ने भाजपा (53 सीट) के साथ मिलकर सरकार बनाई।

3. मणिपुर की मौजूदा विधानसभा

कुल सीट: 60

बहुमत: 31

मुख्यमंत्री- एन. बीरेन सिंह

पार्टी सीट
कांग्रेस 28*
भाजपा 21
एनपीएफ 04
एनपीईपी 04
अन्य 03

भाजपा ने कैसे जुटाए जरूरी नंबर?

- पिछले साल मणिपुर के चुनाव में किसी दल को बहुमत नहीं मिला। विधानसभा की कुल 60 सीटों में से कांग्रेस को 28, भाजपा को 21 सीटें मिलीं। राज्यपाल नजमा हेपतुल्ला ने भाजपा को सरकार बनाने का मौका दिया।

- भाजपा को बहुमत साबित करने के लिए 10 विधायकों के समर्थन की जरूरत थी। उसे 4 नगा पीपुल्स फ्रंट (एनपीएफ), 4 नेशनल पीपुल्स पार्टी, 1 लोक जनशक्ति पार्टी, 1 टीएमसी और 1 कांग्रेस विधायक ने सपोर्ट किया। इस तरह, उसके पास 21+4+4+1+1+1= 32 विधायक हो गए।

(नोट- अब कांग्रेस के 9 विधायक भाजपा में आ चुके हैं)

4. मेघालय की मौजूदा विधानसभा

कुल सीट: 60

बहुमत: 31

मुख्यमंत्री: कोनराड संगमा

पार्टी सीट
कांग्रेस 21
एनपीपी 20
भाजपा 02
अन्य 17

भाजपा ने एनपीपी के साथ गठबंधन किया

- बता दें कि मेघालय में भाजपा ने चुनाव के पहले किसी भी पार्टी से गठबंधन नहीं किया। वह अकेले मैदान में उतरी थी। नतीजों के बाद एनपीपी के साथ मिलकर सरकार बनाई।

5. नगालैंड की मौजूदा विधानसभा

कुल सीट: 60

बहुमत: 31

मुख्यमंत्री: नेफ्यू रियो

पार्टी सीट
एनपीएफ 26
भाजपा 12
एनडीपीपी 18
अन्य 04

भाजपा-एनडीपीपी ने कैसे जरूरी नंबर जुटाए?

- मार्च में हुए विधानसभा चुनाव में नगा पीपुल्स फ्रंट (एनपीएफ) को 27 सीटें मिली थीं। भाजपा और नेशनलिस्ट डेमोक्रेटिक प्रोग्रेसिव पार्टी (एनडीपीपी) गठबंधन को 27 सीटें मिलीं। जेडीयू और एक इंडिपेंडेंट केंडिडेट ने भी उन्हें समर्थन देने का एलान किया। इस तरह उनके कुल 29 विधायक हो गए थे। यहां कांग्रेस का लगभग सफाया हो गया था।

X
congress demands goa Governor to invite us to form govt updates
Astrology

Recommended

Click to listen..