विज्ञापन

EPFO नियमों में बदलाव : नौकरी छोड़ने के महीने भर बाद पीएफ खाते से निकाल सकेंगे 75 फीसदी राशि

Dainik Bhaskar

Jul 10, 2018, 02:05 PM IST

इस फैसले से एम्पलॉई समेत फाइनेंशल एक्सपर्ट ने जताई खुशी।

ईपीएफ का पैसा हर एम्लॉई रिटायर ईपीएफ का पैसा हर एम्लॉई रिटायर
  • comment

नई दिल्ली. कर्मचीरी भविष्य निधि संगठन (ईपीएओ) ने एम्पलाई प्रोविडेंट फंड (EPF) से जुड़े कई नियमों में बदलाव किए हैं। इसका एम्लाई को सीधा लाभ मिलेगा। नियमों में हुए बदलाव से कर्मचारियों को किन परिस्थितियों में फायदा होगा और कितना फायदा होगा। इसके बारे में हम आपको बता रहा हैं :
ईपीएफ का पैसा हर एम्लॉई रिटायरमेंट के समय के लिए बचा कर रखता है। सरकार भी इस पैसे को निकालने पर नियंत्रण रखती है। लेकिन इस बार कर्मचारी भविष्य निधि संगठन ने एम्पलॉई को नौकरी छोड़ने के एक महीने बाद ईपीएफ खाते से 75 फीसदी राशि निकालने की अनुमति दे दी है। लेकिन इसके लिए कुछ शर्तें लगाई हैं। जैसे पहली शर्त आप बेटा/बेटी की शादी कर रहे हैं। दूसरी मकान बनवा रहे हैं या नया मकान खरीद रहे हैं। तीसरी बेटी/ बेटे के उच्च शिक्षा में पैसा खर्च कर रहे हैं। चौथी किसी गंभीर बीमारी का इलाज करा रहे हैं। ऐसे में आप नौकरी छोड़ने के एक महीने बाद ईपीएफ खाते में जमा 25 प्रतिशत राशि निकाल सकते हैं।
EPFO के इस फैसले पर फाइनेंशल एक्सपर्ट का कहना है कि यह फैसला बिल्कुल सही है। क्योंकि एम्पलाई की सैलरी से कम ही बचत हो पाती है ऐसे में अगर वह कोई बड़ा काम करना चाहे तो उसके पास पैसे नहीं होते। इस फैसले के बाद कर्मचारियों को काफी मदद मिलेगी।

पीएफ अंशदान की राशि बढ़ेगी
वर्तमान में कर्मचारियों का पीएफ अंशदान उनकी सैलरी का 12 फीसदी कटता है। योजना है कि भविष्य में यह राशि और भी बढ़ेगी। क्योंकि आगे कर्मचारियों अपने अंशदान से और अधिक हिस्सा इक्विटीज में लाने की छूट मिल सकती है।

ईपीएस में भी बदलाव संभव
एम्पलॉई के ईपीअफ खाते के साथ ही एम्पलॉई पेंशन स्कीम (ईपीएस) में भी बदलाव होने की संभावना है। इसमें हर महीने 15 हजार रुपए वेतन पाने वाले को रिटायरमेंट के बाद हपर माह एक हजार रुपए वेतन मिलता है। आपीएस में 10 साल तक योगदान देने वाले सभी एम्पलॉई इसके हकदार हो जाते हैं। कर्मचारी के मूल वेतन का 12 फीसदी हिस्सा ईपीएफ में जाता है। साथ ही इतनी राशि नियोक्ता को भी देनी होती है। श्रम मंत्रालय एम्पलॉई के मूल वेतन को 15 हजार रुपए से बढ़ाकर 21 हजार रुपए माह कर सकता है। ऐसे में एम्लॉई को प्रतिमाह 2 हजार रुपए पेंशन मिलेगा।

नई नौकरी मिलने पर फिर खाता चालू
अगर आप अपने ईपीएफ खाते से सारे पैसे निकाल लेते हैं और एक साल बाद फिर से नई नौकरी शुरू कर देते हैं तो आपका ईपीएफ खाता फिर से चालू हो जाएगा। बैठक में यह चर्चा हुई थी कि बेरोजगार होने पर एम्लाई को 60 फीसदी राशि निकालने की इजाजद दी जाए, लेकिन बाद में यह फैलसा हुआ कि मंहगाई और उसकी पारिवारिक जरूरतों के चलते इस राश को 75 फीसदी कर देनी चाहिए।

X
ईपीएफ का पैसा हर एम्लॉई रिटायरईपीएफ का पैसा हर एम्लॉई रिटायर
COMMENT
Astrology

Recommended

Click to listen..
विज्ञापन
विज्ञापन
एप में पढ़ें