पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

दुष्कर्म पीड़िता की पहचान उगाजर न हो, इसलिए 7 महिला कॉन्स्टेबल भी चेहरा ढंककर उसके साथ कोर्ट पहुंचीं

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

अहमदाबाद.  गुजरात में सामूहिक दुष्कर्म पीड़िता की पहचान छिपाने के लिए पुलिस ने अनोखा प्रयोग किया। मंगलवार को कोर्ट में पीड़िता के बयान दर्ज होने थे। इसके लिए क्राइम ब्रांच एसपी पन्ना मोमाया ने पीड़िता के साथ उसी जैसी पोशाक पहनाकर 7 महिला कॉन्स्टेबलों को भेज दिया। कोर्ट में पहुंची महिला कॉन्स्टेबलों ने भी अपने चेहरे पर दुपट्टा बांध रखा था।

सैटेलाइट इलाके में 26 मार्च को कार सवारों ने पीड़िता को अगवा कर लिया था। सभी मंकी कैप पहने हुए थे। उन्होंने महिला को बेहोश करने के बाद कार में ही सामूहिक दुष्कर्म किया था। आरोपियों ने महिला का वीडियो भी बनाया और इसे वायरल करने की धमकी देकर रास्ते में फेंक दिया।

खबरें और भी हैं...