Hindi News »National »Latest News »National» Evidence Of Pakistan Support To Sikh Terrorists

भारत के खिलाफ पाक सिख आतंकियों का साथ दे रहा, फोटो में हाफिज के साथ दिखा लीडर

फोटो में हाफिज सईद लाहौर में सिख आतंकी नेता गोपाल सिंह चावला के साथ नजर आ रहा है।

DainikBhaskar.com | Last Modified - Apr 17, 2018, 10:45 PM IST

  • भारत के खिलाफ पाक सिख आतंकियों का साथ दे रहा, फोटो में हाफिज के साथ दिखा लीडर, national news in hindi, national news
    +1और स्लाइड देखें
    हाफिज के राजनीतिक दल मिल्ली मुस्लिम लीग का लाहौर में कार्यक्रम था। इसमें गोपाल और हाफिज मंच साझा करते नजर आए।

    लाहौर. मीडिया में कुछ तस्वीरें सामने आई हैं। इनमें पता चला है कि पाकिस्तान स्थित आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद और जमात-उद-दावा भारत में अशांति के इरादे से सिख आतंकियों का समर्थन कर रहे हैं। फोटो में हाफिज सईद लाहौर में सिख आतंकी नेता गोपाल सिंह चावला के साथ नजर आ रहा है। बता दें कि पिछले महीने गृह मंत्रालय ने भी पार्लियामेंट्री कमेटी को सौंपी रिपोर्ट में इस बात का जिक्र किया था।

    गोपाल ने भारतीय अफसरों को गुरुद्वारे में जाने से रोका था
    - न्यूज एजेंसी के मुताबिक, गोपाल सिंह ने हाल ही में वैसाखी (14 अप्रैल) के दिन पाकिस्तानी अफसरों के निर्देश पर भारतीय अफसरों को पंजा साहिब गुरुद्वारे में जाने से रोक दिया था।
    - इससे पहले 12 अप्रैल को ट्रेन से रवाना हुए भारतीय तीर्थयात्री बॉर्डर के उस पार वाघा स्टेशन पहुंचे थे, तब भी अफसरों को उनसे मिलने से रोका गया था। ये अफसर प्रक्रिया के तहत तीर्थयात्रियों की मदद के लिए उनसे मिलने गए थे।

    तीर्थ यात्री क्यों गए थे पाकिस्तान?
    - खालसा पंथ की स्थापना के 320 साल पूरे होने पर करीब 1800 भारतीय तीर्थयात्रियों का जत्था वैसाखी पर पाकिस्तान गया था।
    - दोनों देशों के बीच धार्मिक यात्राओं पर किए गए द्विपक्षीय समझौते के तहत ये तीर्थयात्री पहुंचे थे।

    - भारतीय तीर्थयात्रियों के स्वागत में पंजा साहिब जा रहे हाई कमिश्नर अजय बिसारिया को भी सुरक्षा का हवाला देते हुए रास्ते से ही लौटा दिया गया था।
    - पाकिस्तानी अफसरों के व्यवहार पर भारतीय विदेश मंत्रालय ने नाराजगी जाहिर की थी और इसे वियना कन्वेंशन का उल्लंघन बताया था।

    गुरुद्वारे में सिख जनमत संग्रह के पोस्टर लगे थे
    - लोगों के मुताबिक, पाकिस्तान का भारत विरोधी एजेंडा चलाने के लिए सिख आतंकियों ने गुरुद्वारा पंजा साहिब के परिक्रमा वाले मार्ग पर सिख रिफ्रेंडम 2020 के पोस्टर लगाए थे।

    सिख रिफ्रेंडम 2020 क्या है?

    - कनाडा में रहने वाले खालिस्तान समर्थक नेताओं का दिया यह नारा है। उन्होंने इसके जरिए 2020 तक खालिस्तान को अलग राष्ट्र बनाने का एलान किया है।

    गृह मंत्रालय ने भी कहा था- सिखों को आतंकी बना रही आईएसआई
    - गृह मंत्रालय ने भाजपा सांसद मुरली मनोहर जोशी की अध्यक्षता वाले संसदीय पैनल को हाल ही में बताया था कि आतंकी संगठन सिख युवाओं में इंटरनेट और सोशल मीडिया के जरिए कट्टरता बढ़ा रहे हैं। ये एक बड़ी चुनौती है।
    - कमेटी की रिपोर्ट के मुताबिक, केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल और आंतरिक सुरक्षा एजेंसियों ने 19 मार्च को पार्लियामेंट में पेश किए दस्तावेजों में कहा था कि पिछले दिनों पाकिस्तान में सिख आतंकी संगठनों में बढ़ोत्तरी देखी गई है।

    आतंकी गतिविधि बढ़ाने का दबाव डाल रहा आईएसआई
    - रिपोर्ट के मुताबिक, आईएसआई आतंकी संगठनों के कमांडरों और खुफिया एजेंसियों पर पंजाब सहित पूरे देश में आतंकी गतिविधियों को आगे बढ़ाने के लिए दबाव डाल रही है। इसलिए सिख युवकों को आईएसआई द्वारा प्रशिक्षित किया जा रहा है।
    - खुफिया जानकारी के मुताबिक, जेल में आए नए कैडरों, बेरोजगार युवकों, अपराधियों और तस्करों को हमलों के लिए पाकिस्तान के सिख आतंकी संगठनों में शामिल किया जा रहा है।

    कौन है गोपाल चावला?
    - गोपाल सिंह चावला पाकिस्तान सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी (पीएसजीपीसी) का महासचिव है।
    - उसके हाफिज सईद से करीबी रिश्ते होने की खबरें पहले भी आती रही हैं।

    पीएसजीपीसी को किसका सपोर्ट है?
    - पीएसजीपीसी को पाकिस्तान अवाक ट्रस्ट प्रॉपर्टी बोर्ड संचालित करता है।
    - यह बोर्ड पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई और इस्लामिक आतंकी संगठनों के प्रभाव में है।
    - पीएसजीपीसी के जरिए बोर्ड भारत विरोधी गतिविधियों को अंजाम देने में भूमिका निभाता रहा है।

  • भारत के खिलाफ पाक सिख आतंकियों का साथ दे रहा, फोटो में हाफिज के साथ दिखा लीडर, national news in hindi, national news
    +1और स्लाइड देखें
    हाफिज सईद मुंबई में 2008 में हुए हमलों का मास्टरमाइंड है। इन हमलों में 166 लोगों की मौत हो गई थी। -फाइल
Topics:
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From National

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×