Hindi News »National »Ayodhya Vivad »Latest News» दुनिया की सबसे बड़ी डिफेंस डील करनेगा भारत, India Begins Process To Procure Fleet Of 110 Fighter Jets For Air Force

दुनिया की सबसे बड़ी डिफेंस डील करेगा भारत, एयरफोर्स की मांग पर 110 फाइटरजेट खरीदे रहा

भारतीय वायुसेना की 110 फाइटर जेट्स की जरूरत को पूरा करने के लिए सरकार ने शुक्रवार को टेंडर प्रक्रिया शुरू कर दी।

dainikbhaskar.com | Last Modified - Apr 07, 2018, 07:26 AM IST

  • दुनिया की सबसे बड़ी डिफेंस डील करेगा भारत, एयरफोर्स की मांग पर 110 फाइटरजेट खरीदे रहा
    +1और स्लाइड देखें

    नई दिल्ली.भारतीय वायुसेना की 110 फाइटर जेट्स की जरूरत को पूरा करने के लिए सरकार ने शुक्रवार को टेंडर प्रक्रिया शुरू कर दी। इसके लिए वायुसेना ने दुनियाभर की बड़ी एयरक्राफ्ट कंपनी से आवेदन मांगे हैं। आईएएफ ने वेबसाइट पर कंपनियों के लिए ‘रिक्वेस्ट फॉर इन्फॉर्मेशन’ (आरएफआई) जारी किए हैं। बता दें कि बीते कुछ सालों में ये किसी भी देश की ओर से ये एयरक्राफ्ट्स का सबसे बड़ा ऑर्डर हैं। अगर ये सौदा होता है तो ये दुनिया का सबसे बड़ा रक्षा सौदा भी होगा।


    मेक इन इंडिया के तहत बनाए जाएंगे विमान
    - अधिकारियों के मुताबिक, फाइटर जेट्स को मेक इन इंडिया के तहत बनाया जाएगा। इन्हें बनाने में विदेशी कंपनी के साथ एक भारतीय कंपनी भी शामिल रहेगी। इस योजना के तहत भारतीय कंपनियों को विदेश से उच्च दर्जे की रक्षा तकनीक मिलने में आसानी होगी।

    बोइंग और लॉकहीड मार्टिन में रहेगी टेंडर हासिल करने की होड़
    - माना जा रहा है कि दुनिया की कुछ बेहतरीन एयरक्राफ्ट कंपनियां टेंडर हासिल करने के लिए आगे आ सकती हैं। इनमें सबसे आगे बोइंग और लॉकहीड मार्टिन के नाम हैं। ये दोनों कंपनियां पहले ही भारत में फाइटर जेट्स बनाने का प्रस्ताव दे चुकी हैं। हालांकि, डसॉल्ट और साब जैसी कंपनियां भी टेंडर की होड़ में शामिल रहेंगी।

    लड़ाकू विमानों की कमी से जूझ रही वायुसेना
    - गौरतलब है कि भारतीय वायुसेना के पास अभी जरूरत की 39 स्क्वाड्रन के मुकाबले सिर्फ 32 कॉम्बैट स्क्वाड्रन हैं। एक स्कवाड्रन में करीब 16 से 18 फाइटर जेट्स होते हैं। योजना के मुताबिक, स्क्वाड्रन्स को बढ़ाकर 42 किया जाना है। यानी अभी वायुसेना को करीब 112 फाइटर जेट्स की जरूरत है।
    - एयरफोर्स के पूर्व चीफ अरुप राहा ने रिटायरमेंट से पहले एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान बताया था कि अगले 10 सालों में भारत को स्क्वाड्रन पूरी करने के लिए 200 फाइटर जेट्स की और जरूरत पड़ेगी।

    126 एयरक्रॉफ्ट्स की डील नकार चुका है भारत
    - बता दें कि 5 साल पहले ही भारत ने डसॉल्ट एविएशन के साथ 126 एयरक्राफ्ट्स की डील को खत्म कर दी थी। इसके बजाय सरकार ने सितंबर 2016 में फ्रांस के साथ करीब 59 हजार करोड़ रूपए में 36 राफेल एयरक्राफ्ट की डील की थी। माना जा रहा है कि डसॉल्ट एक बार फिर भारत के साथ डील करने के लिए उतावला है।

  • दुनिया की सबसे बड़ी डिफेंस डील करेगा भारत, एयरफोर्स की मांग पर 110 फाइटरजेट खरीदे रहा
    +1और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Latest News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×