देश

--Advertisement--

पाकिस्तान में होने वाले सार्क सम्मेलन में भारत नहीं होगा शामिल; कहा, बातचीत और आतंकवाद एक साथ नहीं चल सकते

भारत ने आतंकवाद के मामले पर अपना रुख साफ करते हुए कहा है कि बातचीत और आतंकवाद एक साथ नहीं चल सकता है।

Dainik Bhaskar

Apr 24, 2018, 08:38 PM IST
आतंकी घुसपैठ के चलते भारत सार्क सम्मेलन के पक्ष में नहीं है। -फाइल आतंकी घुसपैठ के चलते भारत सार्क सम्मेलन के पक्ष में नहीं है। -फाइल

नई दिल्ली. पाकिस्तान के इस्लामाबाद में होने वाले सार्क (SAARC) समिट में भारत हिस्सा नहीं लेगा। भारत ने आतंकवाद के मामले पर अपना रुख साफ करते हुए कहा है कि बातचीत और आतंकवाद एक साथ नहीं चल सकता है। बता दें भारत ने दूसरी बार इस सम्मेलन का बहिष्कार किया है।

ये देश भी कर चुके हैं पहले बायकाट
- 19वीं सार्क शिखर सम्मेलन का आयोजन पाकिस्तान में किया जाना था लेकिन भारत समेत बांग्लादेश, भूटान और अफगानिस्तान ने इस समिट में हिस्सा नहीं लिया था।

- बांग्लादेश घरेलू परिस्थितियों का हवाला देते हुए इस सम्मेलन में शामिल नहीं हुआ था। जिसके बाद ये सम्मेलन रद्द करना पड़ा था।

- सार्क चार्टर के अनुसार किसी एक देश के प्रमुख के शामिल नहीं होने पर शिखर सम्मेलन नहीं हो सकता।
- सार्क शिखर सम्मेलन, दक्षिण एशिया के आठ देशों के राष्ट्राध्यक्षों की होने वाली बैठक है, जो हर दो साल में आयोजित होती है।

ये आठ देश हैं सार्क मेंबर
- सार्क की स्थापना 1985 में की गई थी। इसमें अफगानिस्तान, भारत, बांग्लादेश, भूटान, नेपाल, पाकिस्तान, श्रीलंका और मालदीव शामिल हैं।

-आखिरी सार्क शिखर सम्मेलन 2014 में काठमांडू में आयोजित किया गया था। उससे पहले 2011 में मालदीव में 17वां सार्क सम्मेलन आयोजित हुआ था।

उरी हमले के बाद भारत ने नहीं हुआ शामिल
- 18 सितंबर को जम्मू कश्मीर के उरी में भारतीय आर्मी कैंप पर हुए एक बड़े आतंकी हमले के बाद भारत ने सम्मेलन में भाग लेने से मना कर दिया था।

18 सितंबर को जम्मू कश्मीर के उरी में हुआ था आतंकी हमला। -फाइल 18 सितंबर को जम्मू कश्मीर के उरी में हुआ था आतंकी हमला। -फाइल
X
आतंकी घुसपैठ के चलते भारत सार्क सम्मेलन के पक्ष में नहीं है। -फाइलआतंकी घुसपैठ के चलते भारत सार्क सम्मेलन के पक्ष में नहीं है। -फाइल
18 सितंबर को जम्मू कश्मीर के उरी में हुआ था आतंकी हमला। -फाइल18 सितंबर को जम्मू कश्मीर के उरी में हुआ था आतंकी हमला। -फाइल
Click to listen..