• Hindi News
  • National
  • Indian Railway Start Accepting Digital Aadhaar And Driving Licence As Identity Proof

रेल सफर में दिखा सकते हैं डिजीलॉकर में स्टोर आधार और ड्राइविंग लाइसेंस, रेलवे ने पहचान पत्र के रूप में मान्य किया

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

नई दिल्ली.  ट्रेन में सफर करने वाले यात्री अब पहचान पत्र के तौर पर डिजीलॉकर में स्टोर किए गए आधार और ड्राइविंग लाइसेंस की कॉपी दिखा सकते हैं। रेलवे ने इन्हें पहचान पत्र के तौर पर मान्य कर दिया है। इसके लिए सभी जोन के चीफ कमर्शियल मैनेजरों को निर्देश जारी किए गए हैं। इसके मुताबिक, डिजीलॉकर अकाउंट में आधार या ड्राइविंग लाइसेंस ‘इश्यू डॉक्यूमेंट’ में दर्ज होना चाहिए। ‘इश्यू डॉक्यूमेंट’ यानी इनकी डिजिटल कॉपी को संबंधित अथॉरिटी की ओर से मंजूरी मिल चुकी हो। लॉकर की ‘अपलोड कैटेगरी’ में सेव दस्तावेज को रेल सफर के दौरान स्वीकार नहीं किया जाएगा। ‘अपलोड कैटेगरी’ यानी वो दस्तावेज जिन्हें यूजर अपलोड करता है और जिनका वेरिफिकेशन बाकी है।

 

डिजीलॉकर में सेव कर सकते हैं दस्तावेज : मोदी सरकार ने अपने डिजिटल इंडिया कैंपेन में ऐसे डिजिटल लॉकर की शुरुआत की थी। इसमें अकाउंट बनाकर आधार, पैन, ड्राइविंग लाइसेंस जैसे दस्तावेजों की सॉफ्ट कॉपी स्टोर की जा सकती है। अकाउंट में यूजर के द्वारा अपलोड दस्तावेज को संबंधित अथॉरिटी की ओर से अप्रूवल मिलने पर इनकी सॉफ्ट कॉपी को वैध माना जाता है। सीबीएसई अब छात्रों की मार्कशीट भी इसमें रख रहा है।

खबरें और भी हैं...