विज्ञापन

जम्मू-कश्मीर में बुरहान वानी की बरसी के पहले उपद्रव, सेना के गश्ती दल पर पथराव; फायरिंग में किशाेरी समेत 3 की मौत

Dainik Bhaskar

Jul 08, 2018, 03:35 AM IST

आतंकी बुरहान वानी की मुठभेड़ में मौत की दूसरी बरसी पर अलगाववादियों ने घाटी में बंद और हड़ताल की घोषणा की है।

आतंकी बुरहान वानी 8 जुलाई 2016 को आतंकी बुरहान वानी 8 जुलाई 2016 को
  • comment

- शनिवार को उपद्रवियों ने सेना पर किया पथराव

- सुरक्षाबलों की कार्रवाई में 3 की मौत

श्रीनगर. हिजबुल मुजाहिद्दीन के आतंकी बुरहान वानी की बरसी पर रविवार को अमरनाथ यात्रा रोक दी गई। जम्मू-कश्मीर के डीजीपी एसपी वैद ने कहा कि अलगाववादियों ने जम्मू-कश्मीर में आज बंद का एेलान किया है। अमरनाथ यात्रियों की सुरक्षा हमारी प्राथमिकता है। एेसे में राज्य में कानून-व्यवस्था बनाए रखने और सुरक्षा के मद्देनजर यह कदम उठाया गया।

वैद ने शनिवार को कठुआ जिले में सुरक्षा हालात का जायजा लिया था। कुलगाम के हवूरा मिशिपोरा इलाके में तलाशी अभियान के दौरान भीड़ ने सेना पर पथराव किया था। सुरक्षाबलों की ओर से उपद्रवियों को खदड़ने के लिए की गई कार्रवाई में 16 साल की लड़की समेत 3 की मौत हो गई थी। दो लोग जख्मी हुए। इसके बाद अनंतनाग, कुलगाम, शोपियां और पुलवामा में इंटरनेट बंद किया गया है।

पत्थरबाजों में छिपे आतंकियों ने किया था फायर : रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता कर्नल राजेश कालिया ने कहा कि सेना की पेट्रोलिंग पार्टी पत्थरबाजी से बचकर निकलने की कोशिश कर रही थी। आक्रामक और उन्मादी करीब 500 लोगों की भीड़ ने पत्थर के साथ पेट्रोल बम भी चलाए। पत्थरबाजों की आड़ में आतंकियों ने जवानों पर फायरिंग भी की।

गिलानी-मीरवाइज किए गए नजरबंद : अलगाववादी नेता यासिन मलिक को शुक्रवार को ही अरेस्ट कर लिया गया था, जबकि सैयद अली शाह गिलानी, मीरवाइज उमर फारूक को नजरबंद रखा गया है। वानी को 8 जुलाई 2016 को अनंतनाग में सुरक्षाबलों ने मुठभेड़ में मार गिराया था। इसके बाद घाटी में करीब दो माह तक चले प्रदर्शनों में 85 से अधिक लोग मारे गए थे।

X
आतंकी बुरहान वानी 8 जुलाई 2016 को आतंकी बुरहान वानी 8 जुलाई 2016 को
COMMENT
Astrology

Recommended

Click to listen..
विज्ञापन
विज्ञापन
एप में पढ़ें